जनवरी में तीन वेन्यू पर नेशनल रेसलिंग का होगा आयोजन

आगरा, नॉएडा और पंजाब में नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप का आयोजन किया जाएगा ताकि भारतीय पहलवान ओलंपिक क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट की तैयारी कर सकें।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

अगर सब प्लान के हिसाब से गया तो सीनियर नेशनल रेसलिंग चैंपियन भारत में तीन वेन्यू पर आयोजित की जाएगी।

फिलहाल शेड्यूल को जनवरी-फरवरी में तीन वीकेंड के हिसाब बनाया जा रहा है जिसके लिए नॉएडा में फ्री स्टाइल इवेंट के आयोजन की संभावनाएं हैं। इसके साथ आगरा में महिला रेसलिंग कराने की कोशिश की जा रही है और तीसरा राज्य पंजाब हो सकता है जहां ग्रीको-रोमन को अंजाम दिया जाएगा। अगर यह रेसलिंग समारोह भारत में आयोजित हो जाता है तो कोरोना वायरस (COVID-19) के बाद भारत में होने वाला यह तीसरा इवेंट होगा।

रेसलिंग फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (Wrestling Federation of India – WFI) इस समय तीन अलग-अलग शहरों में इस इवेंट के आयोजन पर विचार कर रही है। पिछले महीने मुंबई में सेलिंग के नेशनल इवेंट को आयोजित करने के बाद अब टेबल टेनिस फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (Table Tennis Federation of India – TTFI) सोनीपत और इंदोर में एक और नेशनल प्रतियोगिता कराने का प्लान कर रही है।

अगले साल होने वाली एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप (Asian Wrestling Championships), एशियन ओलंपिक क्वालिफायर्स (Asian Olympic Qualifiers) और वर्ल्ड ओलंपिक क्वालिफायर्स (World Olympic Qualifiers) की तैयारिया अभी से शुरू हो रही हैं। अंतरराष्ट्रीय इवेंट में भारतीय पहलवानों की किस्मत का फैसला काफी हद तक नेशनल रेसलिंग भी करेगी।

बृज भारत भूषण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh) ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा “अपनी गतिविधियों को शुरू करना महत्वपूर्ण हो गया है। ओलंपिक के लिए क्वालिफिकेशन की प्रतियोगिताएं जल्द ही शुरू होंगी और इसलिए हमे यह देखना होगा कि हमारे पहलवान टॉप स्थिति में हों।”

“हर स्टेट के पास हर केटेगरी में एक एक पहलवान भेजने की अनुमति है। तीन शहरों में प्रतियोगिता को आयोजन करने से हम यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि कहीं भी ज़रूरत से ज़्यादा भीड़ न लगे।”

अभी तक पुरुष फ्री स्टाइल इवेंट को नॉएडा में आयोजन कराने की कोशिश की जा रही है और महिला कुश्ती को अगरा में कराया जा सकता है। वही ग्रीको-रोमन मुकाबले पंजाब में कराए जाएंगे।

सीनियर नेशनल में 74 किग्रा भारवर्ग पर सभी की निगाहें हैं और इसमें अपने प्रतिद्वंदियों को पस्त करना सभी के लिए मुश्किल होगा।

महाराष्ट्र के नरसिंह यादव (Narsingh Yadav) दोबारा स्पर्धा में लौट आए हैं और वह 74 किग्रा में लड़ते दिखाई देंगे। वही गौरव बालियान (Gourav Baliyan), जितेंदर कीन्हा (Jitender Kinha) पर परवीन राणा (Parveen Rana) भी अपने कौशल का प्रमाण पेश करते नज़र आएंगे। साथ ही दो बार के ओलंपिक मेडल विजेता सुशील कुमार (Sushil Kumar) भी हिस्सा लेंगे।

इस नेशनल आयोजन में भारतीय पहलवान बजरंग पुनिया (Bajrang Punia) और विनेश फोगाट (Vinesh Phogat) भी दो-दो हाथ करते दिखेंगे। ग़ौरतलब है कि इन दोनों पहलवानों ने इंडिविजुअल वर्ल्ड कप (Individual World Cup) में न खेलने का फैसला लिया है।