विश्व कुश्ती चैंपियनशिप रद्द, भारतीय पहलवान अब विश्व कप की करेंगे तैयारी

भारत बेलग्रेड में होने वाले विश्व कप के लिए एक मजबूत टीम का गठन करने के लिए उत्सुक है।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग (United World Wrestling) ने भाग लेने वालों भागीदारी की कमी की वजह से अगले महीने से शुरू वाली वर्ल्ड चैंपियनशिप को रद्द कर दिया है, लेकिन रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (Wrestling Federation of India) इससे चिंतित नहीं है।

WFI ने प्रस्तावित ‘इंडिविजुअल वर्ल्ड कप’ के लिए एक टीम बनाने का फैसला किया है। ये विश्व चैंपियनशिप की जगह लेगा, जो 12 दिसंबर से बेलग्रेड में खेला जाना था।

WFI के सहायक सचिव विनोद तोमर (Vinod Tomar) ने ओलंपिक चैनल से कहा, "मुझे नहीं लगता कि ये बहुत बड़ा बदलाव है। वर्ल्ड चैंपियनशिप ओलंपिक क्वालिफाइंग इवेंट नहीं था। हम सभी अपने पहलवानों के लिए चिंतित थे। अब जब UWW ने विश्व कप आयोजित करने का फैसला किया है, तो हम वहां प्रतिस्पर्धा करेंगे।”

WFI का मानना ​​है कि इस साल की शुरुआत में कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी के शुरू होने से भारतीय पहलवानों को प्रतियोगिता की कमी की वजह से जो नुकसान हुआ,  विश्व कप पहलवानों को आगे बढ़ने का अवसर प्रदान करेगा।

तोमर ने कहा, "अभी, ये देखना है कि पहलवानों की लय कैसी है। हाँ, कैंप कुछ समय के लिए ही है, लेकिन जब तक आप प्रतिस्पर्धा नहीं करते, आप ये नहीं जान सकते कि आप कहाँ खड़े हैं। आपको नहीं पता कि आप कितना पीछे चले गए हैं। ये कुछ ऐसा है जिसे हम बेलग्रेड इवेंट में देख सकते हैं।”

राष्ट्रीय कुश्ती शिविर पिछले एक महीने से सोनीपत और लखनऊ में पूरे जोर-शोर से चल रहे हैं। जबकि पहलवान एक सप्ताह के दिवाली ब्रेक पर हैं, उम्मीद की जा रही है कि विश्व कप के लिए जल्द ही ट्रायल के साथ वापसी होगी। आने वाले दिनों में बेलग्रेड विश्व कप की तारीखों की घोषणा होने की उम्मीद है। 

WFI के  अधिकारी ने भारतीय कुश्ती दिग्गज के बारे में कहा, “कैंप ओलंपिक पर केंद्रित है। इसलिए, मेरा मानना ​​है कि ये तब तक चलेगा। हां, बजरंग पुनिया (Bajrang Punia) की तरह ही कुछ पहलवान हैं जिन्होंने कैंप में रहने का फैसला किया है। हम पूरी कोशिश कर रहे हैं कि उनका अच्छी तरह से ख्याल रखा जाए।” 

हालांकि भारतीय पहलवानों को उत्तर प्रदेश में होने वाली सीनियर राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप में कुछ और समय मिल सकता है, ऐसे में तोमर अगले साल अपने पहलवानों से लय हासिल करने की उम्मीद कर रहे हैं।

“नए साल में, हम किसी तरह सामान्य स्थिति में वापस आने की उम्मीद कर रहे हैं। एशियाई (ओलंपिक) क्वालिफायर से पहले हमारे पास एशियाई चैंपियनशिप है, इसलिए यही एक इवेंट है, जहां पहलवानों पर काम किया जा सकता है। हम अपने कुछ पहलवानों को एक्सपोज़र टूर पर भी भेजने की उम्मीद कर रहे हैं।