ISL: ATK मोहन बागान के कोच एंटोनियो लोपेज़ हाबास को लगता है चोट उनकी योजनाओं को बिगाड़ सकती है

हाबास मानते हैं कि सभी टीम की तैयारियां मुकम्मल नहीं हैं और इसलिए ISL में इंजरी मैनेजमेंट बेहद अमह होगी।

लेखक सैयद हुसैन ·

पिछले सीज़न तक जिसे ATK के नाम से जाना जाता था, जिनके नाम तीन इंडियन सुपर लीग (ISL) के ख़िताब हैं, इस नए सीज़न में अब वह हो गई है ATK मोहन बागान (ATK Mohun Bagan)। दरअसल, ISL 2020-21 में ये टीम भारतीय फ़ुटबॉल के सबसे मशहूर और पुराने क्लब में से एक मोहन बागान के साथ मर्ज हो गई है।

इस बार ATKMB पर दबाव भी ज़्यादा है, क्योंकि इस टीम के कोच एंटोनियो लोपेज़ हाबास (Antonio Lopez Habas) ने दो बार ATK को अपनी कोचिंग में ख़िताब दिलाया है। लेकिन इस स्पैनिश खिलाड़ी को इस बार अपनी टीम के खिलाड़ियों को चोट न लग जाए, ये चिंता सता रही है।

प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (PTI) के साथ बातचीत करते हुए हाबास ने कहा, “सच कहूं तो हमें इस सीज़न की तैयारी करने का पूरा समय नहीं मिला है।“

कोरोना वायरस (COVID-19) की वजह से इस बार सबकुछ पहले जैसा प्लान करना आसान नहीं था, इसलिए ISL की सभी टीमों को तैयारियों का पर्याप्त समय नहीं मिल पाया।

हाबास ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, “फ़ुटबॉल खिलाड़ियों को मैदान में प्रैक्टिस करने का मुकम्मल वक़्त नहीं मिल पाया है। उन्हें प्रैक्टिस मैच खेलने का भी अवसर नहीं मिला है, अभ्यास के इतने कम अवसर के बाद इसका डर भी लगा रहेगा कि कहीं उन्हें चोट न लग जाए।“

हालांकि हाबास ने ये भी कहा कि चोट के डर से हम अच्छा फ़ुटबॉल खेलने से पीछे भी नहीं हट सकते।

“सभी टीमों के लिए स्थिति कमोबेश यही रहेगी।“

ATK मोहन बागान ISL 2020-21 में अपने अभियान का आग़ाज़ शुक्रवार को केरला ब्लास्टर्स (Kerala Blasters) के ख़िलाफ़ शुरू करेंगे।

इससे पहले पिछले आईएसएल सीज़न में ATK को अपने दोनों मुक़ाबलों में केरला से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस बार मोहन बागान के साथ जाने के बाद ये टीम एक अलग रंग में नज़र आ सकती है।