आईएसएल में अपने अटैकिंग गेम में सुधार लाना चाहेगी बेंगलुरु एफसी

अब तक आईएसएल 2020-21 में गोल करने के लिए संघर्ष करने के बाद, सुनील छेत्री की अगुवाई वाली बेंगलुरु एफसी जल्द से जल्द अपनी समस्याओं का समाधान खोजने के लिए उत्सुक होगी।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

पूर्व इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) चैंपियन बेंगलुरू एफसी (Bengaluru FC) ने अपने सीजन के लिए एक अनचाही शुरुआत की है। अक्सर गोल करने वाली टीम, बेंगलुरू एफसी ने आईएसएल 2020-21 में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए संघर्ष किया है।

इस टीम ने अब तक दो मैच खेले है और दोनो ही मैच ड्रॉ रहे है, कारल्स क्वैड्रैट (Carles Cuadrat) की कोचिंग वाली इस टीम ने 12 शॉट्स में से 3 ही निशाने पर मारे है, जो टूर्नामेंट में किसी भी टीम द्वारा सबसे कम है।

यही एक कमी है, जिसके बारे में स्पेनिश कोच ने बेंगलुरु एफसी के अगले मैच से पहले बात की। बेंगलुरु का अगला मुकाबला चेन्नईयिन एफसी (Chennaiyin FC) से होगा।

गुरुवार को मैच से पहले हुई प्रेस कॉंफ्रेंस के दौरान कारल्स क्वैड्रैट ने कहा कि “हम कई क्षेत्रों में सुधार लाना होगा। सबसे बड़ी परेशानी ये है कि अपने अटैकिंग थर्ड में ड्यूल नहीं जीते हैं। इसके अलावा हमे लास्ट पास में भी सुधार लाना होगा।”

आईएसएल 2020-21 के किक-ऑफ से पहले टीम के साथ काम करने के लिए कार्ल्स क्वैड्रैट के पास लगभग तीन सप्ताह का समय था। हालांकि यह आदर्श तैयारी नहीं हो सकती है कि जो ये कोच चाहते थे। लेकिन वह इसकी शिकायत नहीं कर रहे।

ISL 2020-21 में बेंगलुरु एफसी के कप्तान सुनील छेत्री को अपने पहले गोल की तलाश। तस्वीर साभार: ISL मीडिया   

इसके अलावा उन्होंने कहा कि “हम उस आखिरी पास को पाने के बहुत करीब हैं। हमें शारीरिक और मानसिक रूप से थोड़ा फ्रेश होने की जरूरत है।”

कार्ल्स क्वैड्रैट ने बताया कि “प्रशिक्षण में मुझे लगता है कि हमारे पास ऐसे खिलाड़ी हैं जो ऐसा कर सकते हैं। क्लीटन सिल्वा (Cleiton Silva), सुनील छेत्री (Sunil Chhetri), उदंत सिंह (Udanta Singh), डिमास डेलगाडो (Dimas Delgado) और अन्य खिलाड़ी हैं जो इस पहल को कर सकते हैं।"

कार्ल्स क्वैड्रैट के बताया कि “यह सीज़न अलग रहा है। आम तौर पर चीजों को बनाने और 90 मिनट के लिए अपने शरीर को तैयार करने के लिए प्री-सीजन में आपके पास चार-पांच सप्ताह होते हैं। लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ। मुझे उम्मीद है कि आने वाले हफ्तों में हमारे लिए सब अच्छा होगा।”

दो बार के चैंपियन चेन्नईयिन एफसी के खिलाफ अपने अगले मैच में, कार्ल्स कॉडरैट को पता चलता है कि मैच से कुछ भी हासिल करने के लिए बेंगलुरु एफसी को अपने खेल में शीर्ष पर रहना होगा।

क्वैड्रैट ने कहा कि “हम एक कठिन मैच की उम्मीद कर रहे हैं। उनके पास अच्छे विदेशी और अच्छे भारतीय हैं, इसके अलावा लल्लिअनुज़ुआ छंगटे (Lallianzuala Chhangte) और अनिरुद्ध थापा (Anirudh Thapa) भी हैं।" आगे उन्होंने कहा कि पिछले तीन सीजन की तुलना में भारतीय खिलाड़ियों के खेल में काफी सुधार आया है। सुरेश वांगजम (Suresh Wangjam) और आशिक कुरुनियान (Ashique Kuruniyan) जैसे खिलाड़ियों में बहुत सुधार हुआ है और उन्होंने पिछले सीज़न में हमारा साथ दिया। यह भारतीय फुटबॉल के लिए वास्तव में अच्छा संकेत है।