ISL: सुनील छेत्री के लिए यादगार बना ऐतिहासिक मैच, बेंगलुरु ने मुंबई को हराया

आईएसएल में मुंबई सिटी के खिलाफ बेंगलुरु के लिए 200वां मैच खेल रहे सुनील छेत्री ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपनी टीम को जीत दिलाई।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

बेंगलुरु एफसी (Bengaluru FC) के कप्तान सुनील छेत्री (Sunil Chhetri) जैसे ही सोमवार को आईएसएल 2020-21 में मुंबई सिटी एफसी (Mumbai City FC) के खिलाफ मैदान में उतरे तो उन्होंने एक बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली। बेंगलुरु एफसी के लिए यह सुनील का 200वां मैच था और इस मैच में उन्होंने जीत के साथ अपनी उपलब्धि का जश्न मनाया।

इस मुकाबले में बेंगलुरु एफसी ने दूसरे हाफ में किए शानदार प्रदर्शन की मुंबई एफसी को 4-2 से मात दी।

इस मैच से पहले बेंगलुरु एफसी ने 11 मुकाबलों में केवल 7 अंक हासिल किए थे, इसलिए ये जीत उनके लिए और खास हो जाती है। इस जीत के साथ उनकी प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीद अभी भी बंधी हुई है, हालांकि लीग मैचों की संख्या अब केवल 2 ही रह गई है।

यही नहीं 18 जनवरी, 2018 के बाद ये पहली बार है जब बेंगलुरु एफसी ने मुंबई सिटी को हराया है। पिछले 5 मुकाबलों में उन्हें 4 में हार झेलनी पड़ी और 1 मैच ड्रॉ रहा।

बेंगलुरू एफसी के स्ट्राइकर क्लीटन सिल्वा (Cleiton Silva) ने 25वें सेकंड में अपनी टीम के लिए गोल कर दिया, यह आईएसएल के इतिहास में दूसरा सबसे तेज गोल है। वहीं इसके बाद ब्राजील के इस खिलाड़ी ने 22वें मिनट में ब्लूज़ की बढ़त को 2-0 कर दिया।

दूसरे हाफ में मुंबई ने दो गोल कर वापसी की कोशिश तो की लेकिन सुनील क्षेत्री ने दो गोल कर उनकी उम्मीदों को तोड़ दिया।

बेंगलुरू एफसी के अंतरिम मुख्य कोच नौशाद मूसा (Naushad Moosa) ने कहा कि “छेत्री हमारी टीम का कप्तान और एक लीडर हैं। वह खिलाड़ियों को प्रेरित करते है और जब टीम अच्छा नहीं खेल रही होती तो आप उनकी हताशा भी देख सकते हैं। उनके लिए आज शांत रहना और खिलाड़ियों को प्रेरित करना बहुत महत्वपूर्ण था।"

इस जीत के साथ ही बेंगलुरु आईएसएल पॉइंट टेबल में छठे स्थान पर पहुंच गई है और अब वह चौथे स्थान पर काबिज एफसी गोवा (FC Goa) से 2 अंक पीछे है। इसके साथ ही मूसा ने उम्मीद जताई है कि उनकी टीम प्लेऑफ में जगह बना सकती है।

मूसा ने कहा कि "ये जीत बहुत महत्वपूर्ण है और प्लेऑफ में पहुंचने का एक ही रास्ता है कि हमे बचे हुए सारे मैच जीतने होंगे, आज जैसे हमने टीम के रूप में प्रदर्शन किया है बस आगे भी वैसे ही करना है।"

इसके अलावा उन्होंने कहा कि "जिस तरह से बाकी टीमों के मैच ड्रॉ हो रहे हैं, उसे देखते हुए प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीद दिख रही है। हमे बस वैसा ही प्रदर्शन करना है, जैसा कि आज हमने किया।"

दूसरी तरफ मुंबई सिटी एफसी के लिए ये हार उनकी एशियन महत्वाकांक्षाओं के लिए एक बड़ा झटका थी।

हालांकि सर्जियो लोबेरा (Sergio Lobera) की कोचिंग वाली मुंबई एफसी लगातार 12 मैचों की अजेय रथ के कारण पहले ही प्लेऑफ में जगह बना चुकी है लेकिन लीग का अंत होते होते उनकी लय बिगड़ने लगी है।

एक समय मुंबई की टीम लीग फेस को टॉप पर खत्म करने के साथ साथ एएफसी चैंपियंस लीग (AFC Champions League) में अपनी जगह पक्की करने की प्रबल दावेदार थी लेकिन पिछले 4 मैचों में 4 अंक हासिल करने के कारण उनकी बादशाहत को एटीके मोहन बागान (ATK Mohun Bagan) ने खत्म कर दिया।

अब मुंबई को अगर पहला स्थान फिर हासिल करना है तो बाकी बचे तीन मैचों में उन्हें अपनी प्रदर्शन में सुधार करना होगा। वहीं मुंबई के कोच को भी उम्मीद है कि वह फिर से शीर्ष स्थान हासिल कर लेंगे।

मीडिया से बातचीत में लोबेरा ने कहा कि "सीजन के खत्म होने में अभी भी बहुत समय है और यह हमारे लिए अच्छी बात है। मुझे लगता है कि प्लेऑफ के लिए पहला स्थान हासिल करना बड़ी उपलब्धि होगी।"

मुंबई सिटी एफसी के लीग चरण के अभियान में तीन मैच बचे है और उसमें से एक मैच एटीके मोहन बागान के खिलाफ हो सकता है जो कि उनके लिए शूटआउट मुकाबलें की तरह होगा।

प्रमुख फोटो: ISL मीडिया