मोहन बागान के इनमैन अपने पूर्व कोच फाउलर की टीम के खिलाफ कोलकाता डर्बी में उतरने के लिए बेकरार हैं

ऑस्ट्रेलियाई मिडफील्डर रॉबी फाउलर की ब्रिस्बेन रोअर्स टीम के एक प्रमुख खिलाड़ी थे, जिसने ए-लीग के पिछले सीज़न में चौथा स्थान हासिल किया था।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

ब्रैड इनमैन (Brad Inman) ब्रिस्बेन रोअर्स में रॉबी फाउलर (Robbie Fowler) की नियमित शुरुआत करने वाले खिलाड़ियों में से एक थे। इस क्लब के साथ उनका पिछले सीज़न तक प्रबंधित था। अब वो शुक्रवार को ईस्ट बंगाल के सीजन की पहली कोलकाता डर्बी में एटीके मोहन बागान के लिए खेलते नज़र आएंगे।

इनमैन ने हालिया इंटरव्यू में पीटीआई को बताया, “फाउलर और मैं पिछले सीज़न में एक साथ थे, लेकिन अब हम प्रतिद्वंदी हैं। वो एक बेहतरीन कोच हैं। लेकिन उन 90 मिनट के दौरान शुक्रवार को, वो मेरे प्रतिद्वंदी होंगे। मैं उन्हें किसी भी कीमत पर हराना चाहता हूं। मैं मानसिक रूप से तैयार हूं।'' 

लिवरपूल के दिग्गज रॉबी फाउलर ने जब ए-लीग की बागडोर संभाली थी तब रोअर्स काफी दबाव में थे। 

10 टीमों के बीच, नौवें स्थान पर रहने के बाद, ब्रिस्बेन टीम को अपने भाग्य को बदलने के लिए कुछ अलग करने की आवश्यकता थी। और लिवरपूल के इस दिग्गज ने ऐसा किया और उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में अपने पदार्पण सीजन में अपनी टीम को चौथे स्थान पर पहुंचा दिया। 

लेकिन कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी से प्रभावित आर्थिक अस्थिरता के कारण लीग को नुकसान पहुंचा, रॉबी फाउलर उन सितारों के झुंड में शामिल थे, जिन्होंने इस सीजन में भारत का रुख करने का विकल्प चुना

रॉबी फाउलर ने ए-लीग के पिछले सीजन में ब्रिसबेन रोअर्स को चौथे स्ठान पर पहुंचाया।

जहां एक ओर उनके पूर्व रोअर्स दिग्गज ब्रैड इनमैन ने मैरिनर्स को ज्वाइन किया, तो रॉबी फाउलर ईस्ट बंगाल के साथ जुड़ गए।

हालांकि इस बारे में अभी कहना जल्दबाजी होगा कि रॉबी फाउलर की टीम आईएसएल में कैसा प्रदर्शन करेगी। मोहन बागान के स्टार सेंटर-बैक टिरी एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जो भारतीय खिलाड़ियों की जानकारी दे सकते हैं।

उन्होंने कहा, मुझे उन विदेशी खिलाड़ियों की जानकारी नहीं है जो डर्बी में खेलेंगे। उन्होंने अभी तक एक मैच भी नहीं खेला है। हालांकि, मैंने छह साल तक आईएसएल खेला है। बलवंत सिंह (Balwant Singh) और जेजे लालपेखलुआ (Jeje Lalpekhlua)  जैसे खिलाड़ी मुझे जानते हैं। वे अच्छे फुटबॉलर हैं। 

“डर्बी मैच हमेशा मुश्किल होता है। मेरा टारगेट तीन अंक हासिल करना होगा और अपने आक्रमण को निशाने पर करने की कोशिश होगी।”

हालांकि एटीके मोहन बागान ने एकमात्र गोल करके केरला ब्लास्टर्स के खिलाफ सीज़न की पहली जीत दर्ज की। लेकिन उनका प्रदर्शन उतना विश्वसनीय नहीं था। उनके खेल में स्पष्टता और सामंजस्य की कमी देखने को मिली थी। उन्हें अपने स्टार स्ट्राइकर रॉय कृष्णा (Roy Krishna) से शानदार प्रदर्शन की उम्मीद थी, और उन्होंने टीम को निराश नहीं किया।

हालांकि, उनके मिडफील्डर एडू गार्सिया (Edu Garcia) अपने शुरुआती मैच के प्रदर्शन का आकलन नहीं करना चाहते हैं।

केरला ब्लास्टर्स के खिलाफ मैच जीतने के बाद, हम डर्बी के लिए अधिक आश्वस्त हो सकते हैं। किसी भी प्रतियोगिता में पहला मैच जीतना महत्वपूर्ण होता है। अब हम डर्बी की तैयारी कर रहे हैं। प्रतियोगिता जैसे जैसे आगे बढ़ेगी, टीमें उसी हिसाब से रणनीति बनाएंगी।