दबाव में निखर जाता है मुंबई सिटी के स्टार खिलाड़ी एडम ले फ़ांद्रे का प्रदर्शन

इंग्लैंड के स्ट्राइकर एडम ले फ़ांद्रे का मानना है कि मुंबई सिटी एफसी 2020-21 का खिताब जीतने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेगी।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

इंडियन सुपर लीग (Indian Super League) में मुंबई सिटी एफसी (Mumbai City FC) के स्ट्राइकर एडम ले फ़ांद्रे ( Adam le Fondre) ने अपने प्रदर्शन से भारतीय फुटबॉल में अपनी अलग ही पहचान बनाई है। वहीं अब इंग्लैंड के इस फुटबॉल को आईएसएल खिताब से कम कुछ भी गंवारा नहीं है।

अपने पहले मैच में नॉर्थईस्ट यूनाइडेट एफसी (NorthEast United FC) के खिलाफ मिली हार के बाद से मुंबई सिटी एफसी अपने पिछले 6 मैचों से अपराजित रही है। इस समय वह 7 मैचों में 16 पॉइंट्स के साथ पहले स्थान पर काबिज़ है।

मुंबई के इस शानदार प्रदर्शन की सबसे बड़ी वजह फ़ांद्रे की फॉर्म भी है। ये खिलाड़ी इस सीजन में अब तक 5 गोल कर चुका है और वह मुंबई की तरफ से सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी हैं।

लेकिन अपने व्यक्तिगत प्रदर्शन से परे ये स्ट्राइकर अपनी टीम को आगे तक ले जाना चाहता है।

एडम ले फ़ांद्रे ने हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में बताया कि “मुझे पूरा विश्वास है कि हम सही रास्ते पर जा रहे हैं, हमारे पास एक शानदार ग्रुप है और हमारे पास जीतने का शानदार मौका है।”

इसके अलावा उन्होंने कहा कि “शुरुआती कुछ मैचों में अपना प्रदर्शन देखने के बाद मुझे लगता है कि हम लीग की सबसे मजबूत टीमों में से एक है, अब ये हमारे ऊपर है कि हम इसे बरकरार रख पाते हैं या नहीं।”

सिटी फुटबॉल ग्रुप (City Football Group) (सीएफजी) के साथ  प्रीमियर लीग मैनचेस्टर सिटी के मालिकों ने आईएसएल 2020-21 से पहले मुंबई को एक शानदार टीम बनाया और अब वह कागज पर खिताब जीतने की प्रबल दावेदार दिख रही है।

फ़ांद्रे ने इस बारे में बातचीत करते हुए कहा कि "यह सीक्रेट नहीं है कि सीएफजी (सिटी फुटबॉल ग्रुप) क्लब के पीछे है। यदि आप देखें तो ज्यादातर सीएफजी क्लब एक ही दिशा में काम करते हैं। ये सभी चीजें मुझे प्रभावित करती हैं। सिल्वरवेयर की तरफ से खेलना मुझे काफी आकर्षित करता है।”

सिल्वरवेयर के साथ जुड़ने पर खिलाड़ी पर दबाव भी रहता है और फांद्रे इस चैलेंज से खुद में और निखार देखते हैं।

इंग्लैंड के इस खिलाड़ी ने कहा कि "यह मुझे मोटिवेट करता है, यह एक चैलेंज है लेकिन मैं इसी वजह से इस खेल को खेलता हूं। मैं गेम को मिड-टेबल या नीचे करने के लिए नहीं खेलता। मेरे लिए यह कोई सफलता नहीं है, मैं यहां आकर अपनी टीम को खिताब जीतने के मकसद से आया हूं और यही मेरा लक्ष्य है।”

इसके अलावा उन्होंने कहा कि “मैंने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में सफलता का स्वाद चखा है और मैं इसे हर तरफ दोहराना चाहता हूं और अब मेरा यही मकसद है कि मुझे अपनी टीम को खिताब जिताना है।”

34 साल के फांद्रे सिडनी एफसी की तरफ से ए-लीग चैंपियनशिप जीत चुके हैं और अब तक आईएसएल से भी काफी प्रभावित नजर आए।

मुंबई एफसी की सबसे बड़ी उम्मीद इस खिलाड़ी ने आईएसएल के बारे में कहा कि “यह एक शानदार लीग है और तकनीकी रूप से यह काफी अच्छी है। खेल प्रबंधन और टैकटिकल साइड के अनुभव में शायद कुछ कमियां हैं लेकिन इसमें बहुत स्कोप है, इस लीग में कई शानदार खिलाड़ी खेल रहे हैं और उन्हें बस चमकाने की आवश्यकता है।”