जमशेदपुर FC से मिली हार के बाद मुंबई सिटी FC का AFC चैंपियंस लीग में जगह बनाना मुश्किल

मुंबई सिटी एफ़सी को जमशेदपुर एफ़सी के हाथों 2-0 से मिली हार ने ATK मोहन बागान को लीग विनर्स शील्ड जीतने का प्रबल दावेदार बनाया।

लेखक सैयद हुसैन ·

मुंबई सिटी एफ़सी (Mumbai City FC) को इंडियन सुपर लीग (ISL) के ग्रुप स्टेज में एक और हार का सामना करना पड़ा है, जिसके बाद उनके नंबर-1 पर रहनी की उम्मीदों को तगड़ा झटका लगा है। शनिवार को गोवा के तिलक मैदान में खेले गए मुक़ाबले में मुंबई सिटी एफ़सी को जमशेदपुर एफ़सी (Jamshedpur FC) ने 2-0 से शिकस्त दी।

आईएसएल के इस सीज़न का ग्रुप स्टेज 28 फ़रवरी को ख़त्म हो रहा है, जिसके बाद टेबल टॉपर्स को लीग विनर्स शील्ड (League Winners Shield) से नवाज़ा जाएगा। जो टीम ग्रुप स्टेज में शीर्ष पर रहेगी उसे एएफ़सी चैंपियंस लीग (AFC Champions League) के ग्रुप स्टेज में सीधा प्रवेश भी मिलेगा।

मुंबई के नंबर-1 पर रहने की उम्मीदों को तब झटका लगा जब जमशेदपुर की ओर से 72वें मिनट में बोरिस सिंह और 90वें मिनट में डेविड ग्रैंडे ने गोल दागते हुए मात दे दी। इससे पहले जब इन दोनों टीमों का आमना सामना हुआ था तो मुक़ाबला 1-1 से ड्रॉ रहा था।

इस हार के बाद अब मुंबई टेबल टॉपर्स एटीके मोहन बागान (ATK Mohun Bagan) से पांच अंक पीछे हो गई है

हालांकि इन दोनों टीमों का सामना ग्रुप स्टेज के आख़िरी मुक़ाबले में होना है, लेकिन उससे पहले मुंबई सिटी चाहेगी कि एटीके और हैदराबाद एफ़सी (Hyderabad FC) के बीच सोमवार को होने वाले मुक़ाबले में जीत हैदराबाद को मिले। अगर ऐसा होता है तो मुंबई के पास एक बार फिर नंबर-1 की कुर्सी पर विराजमान होने का अवसर रहेगा।

मुंबई सिटी एफ़सी के कोच सर्गियो लोबेरा (Sergio Lobera) ने कहा, “अब तक तो हम ख़ुद पर निर्भर थे, लेकिन अब हमें सोमवार को होने वाले मुक़ाबले के नतीजे पर नज़र रखनी होगी। ये हमारे लिए मुश्किल हालात हैं।“

“मुझे लगता है एटीके और हेदराबाद के बीच वह मुक़ाबला आसान नहीं होने वाला, और अगर एटीको को जीत नहीं मिलती है तो फिर हमारे पास एक बार फिर मौक़ा होगा।“

आईएसएल के इस सीज़न में मुंबई को अपने पहले ही मैच में हार मिली थी लेकिन उसके बाद लगातार 12 मैचों में ये टीम अनबिटेन रही थी और प्वाइंट्स टेबल में शीर्ष पर थी। लेकिन पिछले 6 मुक़ाबलो में 3 हार, 2 ड्रॉ और एक जीत के बाद अब मुंबई ख़ुद को कठिन स्थिति में पहुंचा चुकी है।

जमशेदपुर एफ़सी के बोरिस सिंह आईएसएल में अपना पहला गोल करने के बाद जश्न मनाते हुए। तस्वीर साभार: ISL मीडिया

मुंबई को जाना जाता है ज़्यादातर समय तक गेंद को अपने पास रखने और सामने वाली टीम पर दबाव बनाने के लिए, लेकिन पिछले कुछ समय से ये टीम बदली बदली दिखाई दे रही है।

मुंबई के ख़िलाफ़ इस बेहतरीन जीत के लिए जमशेदपुर एफ़सी के कोच ओवेन कोएले (Owen Coyle) ने जीत का श्रेय अपने सेंटर-बैक जोड़ी को दिया।

“एक और बेहतरीन प्रदर्शन, हार्टली और ईज़ लाजवाब रंग में थे। डिफ़ेंस में भी लड़कों ने उम्दा प्रदर्शन किया। इस जीत से हमें आगे आने वाले मैचों के लिए हौसला मिलेगा, और इस लय को हमें बरक़रार रखना है।“