COVID-19 के बावजूद नॉर्थईस्ट यूनाइटेड की ISL 2020-21 के लिए तैयारियां जारी

कोरोना संक्रमित खिलाड़ियों को दूसरी जगह क्वारंटीन किया गया है, नॉर्थईस्ट यूनाइटेड जमकर अभ्यास कर रही है।

लेखक सैयद हुसैन ·

इंडियन सुपर लीग (ISL) के 2020-21 सीज़न की तैयारियों को तब झटका लगा था जब मंगलवार को नॉर्थईस्ट यूनाइटेड एफ़सी (NorthEast United FC) टीम के दो खिलाड़ियों की रिपोर्ट कोरोना वायरस (COVID-19) पॉज़िटिव आई थी।

इसके बाद पूरी टीम को अस्थायी तौर पर क्वारंटीन कर दिया गया था, जिन दो खिलाड़ियों को कोरोना संक्रमित पाया गया है। अब वे तभी दोबोरा बायो बबल का हिस्सा होंगे जब उनकी RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट दो बार निगेटिव आएगी।

संक्रमित खिलाड़ियों को दूसरी जगह क्वारंटीन किया गया है जहां वह ISL के स्वास्थ्य और सेफ़्टी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए अगले कुछ दिन वहीं रहेंगे। हालांकि अगले दिन यानी बुधवार को टीम एक बार फिर अभ्यास पर लौट आई और अपनी तैयारियों में जुट गई। लेकिन जिन दो खिलाड़ियों की कोरोना रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है, वे अगले 10 दिनों तक बाहर रहेंगे।

नॉर्थईस्ट यूनाइटेड की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है, “संक्रमित दोनों खिलाड़ियों को तुरंत ही दूसरी जगह भेज दिया गया था, जहां वे लीग के प्रोटोकॉल और दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए क्वांरटीन में हैं। वे दोनों ही ठीक हैं और ज़ूम कॉल के ज़रिए टीम फ़िट्नेस सत्र में शरीक हो रहे हैं।“

“उन दो खिलाड़ियों की रिपोर्ट पॉज़िटिव आने के बाद सभी खिलाड़ियों और स्टाफ़ का भी RT-PCR टेस्ट कराया गया, लेकिन सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई। जिसके बाद बुधवार से टीम ने दोबारा अभ्यास शुरू कर दिया।“

इन तमाम ख़तरों के बाद भी ISL 2020-21 अपने प्रस्तावित कार्यक्रम के हिसाब से ही शुक्रवार से शुरू होगा। नॉर्थइस्ट यूनाइटेड अपने अभियान का आग़ाज़ शनिवार को मुंबई सिटी एफ़सी (Mumbai City FC) के ख़िलाफ़ करेगी।

एक क़रीबी अधिकारी ने ओलंपिक चैनल के साथ बातचीत में कहा, “मुझे नहीं लगता कि किसी भी तरह से मैचों को आगे बढ़ाने या उनमें बदलाव करने का फ़िलहाल कोई इरादा  है। ऐसे में जब रोज़ाना मुक़ाबले खेले जाने हैं तो किसी एक मैच को स्थगति करना बेहद कठिन काम होगा। हालांकि ISL की गाइडलाइन में ऐसे मौक़ों पर क्या सावधानी बरती जाए ऐसे प्रावधानों का ज़िक्र है, इसलिए शनिवार को होने वाले नॉर्थईस्ट यूनाइटेड मुक़ाबले के लिए पूरी कोशिश है कि टीम मैदान में उतरे।“

नॉर्थईस्ट यूनाइटेड को उत्तरी गोवा के कैंडोलिम में पंचायत ग्राउंड आवंटित हुआ है, इस सीज़न वे यहीं अभ्यास करेंगे।

जेरार्ड-नस (Gerard Nus) की कोचिंग में ये टीम अक्टूबर से ही ISL की तैयारियों में लगी है और उन्होंने ISL टीमों के साथ कई दोस्ताना मैच भी खेले हैं। जिनमें जमशेदपुर एफ़सी (Jamshedpur FC) और हैदराबाद एफ़सी (Hyderabad FC) जैसी टीमों के ख़िलाफ़ भी नॉर्थईस्ट ने खेला था।

इसमें कोई शक़ नहीं है कि कोविड की वजह से संक्रमित हुए खिलाड़ियों ने टीम की चिंता बढ़ा दी है, लेकिन इसके बावजूद सभी खिलाड़ियों ने अभ्यास करना और ‘रूम वर्कआउट’ करना नहीं छोड़ा।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के साथ बात करते हुए टीम के एक क़रीबी सूत्र ने कहा, “कमरे के अंदर ही हमने दो सत्र किए। सुबह में हमने लोअर स्ट्रेंथ पर फ़ोकस किया जबकि शाम में हाई इंटेनसिटी इंटरवल ट्रेनिंग (HIIT) को अंजाम दिया।“

इस दौरान खिलाड़ियों को किसी तरह की इनडोर ग्रुप एक्टिविटी करने से भी मना किया गया था और खाने भी खिलाड़ियों के कमरे में ही लाकर दिए जा रहे थे। लेकिन जब संक्रमित खिलाड़ियों को दूसरी जगह भेज दिया गया तो फिर चीज़ें दोबारा से सामान्य हो गईं।

लीड फ़ोटो: NEUFC/ट्विटर