नार्थईस्ट यूनाइटेड एफसी के कोच जेरार्ड नुस का ध्यान खिताब पर नहीं बल्कि ISL में बेहतरीन स्पर्धा करने पर है 

ISL 2020-21 में मिली बेहतरीन शुरुआत को नार्थईस्ट यूनाइटेड एफसी ईस्ट बंगाल के खिलाफ भी जार रखना चाहेगी।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

इंडियन सुपर लीग 2020-21 (Indian Super League – ISL) में अच्छी शुरुआत के बाद भी नार्थईस्ट यूनाइटेड एफसी (NorthEast United FC) अपने लिए दृढ़ लक्ष्य निर्धारित करने में नाकाम रही है।

यह एक ऐसी टीम है जो प्रतियोगिता के अंत में जा कर बिखर जाती है लेकिन इस बार बेहतरीन शुरुआत के साथ वह लीग का अंत भी उम्दा करना चाहेगी।

मुंबई सिटी एफसी को धूल चटाने वाली नार्थईस्ट यूनाइटेड एफसी का केरला ब्लास्टर्स (Kerala Blaster) और एफसी गोवा (FC Goa) के खिलाफ भी प्रदर्शन देखते ही बना था। यह कहना गलत नहीं होगा कि कोच जेरार्ड नुस (Gerard Nus) ने इस टीम के लिए कुछ अलग ही प्लान बनाया हुआ है।

फिलहाल हेड कोच हेड कोच की सोच सकारात्मक ही चल रही है और इस विषय पर बात करते हुए उन्होंने कहा “हमे स्पर्धा करनी है। हमने अच्छी दिशा में शुरुआत की है। अभी हमे और भी बेहतर होने की ज़रूरत है।

“इस सीज़न का लक्ष्य अच्छी प्रतिद्वंदिता करना है। हम एक समय पर एक मुकाबले को देखन चाहते हैं। हम वह सब करेंगे जिससे हम जीत सकते हैं। हम अपने प्रतिद्वंदियों का विश्लेषण करेंगे। हमारे पास गेम को अपने हक में करने का बहुत पैशन है। हर एक खिलाड़ी सकरात्मक ऊर्जा ले कर आता है। अगर कोई यह सब नहीं करना चाहता तो वह जा सकता है। हम गोवा में छुट्टियां मानाने नहीं आए हैं।

ISL 2020-21 में सभी टीमों ने वह सब कुछ किया जिससे एक मज़बूत टीम बनाई जा सकती है लेकिन नार्थईस्ट यूनाइटेड एफसी ने चालाकी दिखीते हुए अलग ही पैंतरें अपनाएं हैं।

भारतीय युवा खिलाड़ियों के साथ अनुभवी विदेशी खिलाड़ियों के मिश्रण ने नार्थईस्ट यूनाइटेड एफसी को मजबूती दी है। तस्वीर साभार ISL मीडिया

कोच ने आगे बातचीत करते हुए कहा “हमारे पास बहुत से नए चेहरे हैं। हमारे पास 6 विदेशी खिलाड़ी और बहुत से नए भारतीय फुटबॉलर भी हैं। यह छोटा सीज़न है। हमने पहले दिन से ही प्लान बना लिया था।”

हम रणनीति वाले तरकीबें लगाते हैं। हमें आभास है कि सभी चीज़ों को कैसे आगे लेकर जाना चाहिए। हम डिफेंड करना भी जानते हैं और साथ ही हमें अलग अलग परिस्थितियों का सामना करना भी आता है। अगर हर कोई प्लान के मुताबिक़ चले तो बाकी का काम आसान हो जाता है।

जेरार्ड नुस ने इस डिफेंसिव साइड को काफी मजबूती प्रदान की है। नार्थईस्ट यूनाइटेड एफसी के अटैक को हमेशा की बाकी टीमों ने चुनौतो दी है और वे सफल भी हुए हैं।

पूर्व डिफेंडिंग प्रीमियर लीग चैंपियन (Premier League champions) लिवरपूल एफसी अकादमी (Liverpool’s academy) के साथ तीन साल बिताने वाले अनुभवी कोच ने कहा हम अपने लिए मौके बनाना चाहते हैं। हम लेवल एक ही प्लान के साथ आगे नहीं जाएंगे। हम खुद पर बहुत ध्यान दे रहे हैं।

हमने उन्हें (ईस्ट बंगाल) खेलते हुए देखा है और उन्हें मनचाहे परिणाम नहीं मिले हैं। अब वह बेहतर हैं और हमारे लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं। हम जानते हैं कि वह बॉल के साथ कितने अच्छे हैं। वह सेट-पीसिस में बहुत बढ़िया हैं। हमने उन्हें रोकना होगा और उनके खिलाफ मौके बनाने होंगे। यही प्लान है।”