सभी टोक्यो 2020 क्वालिफिकेशन इवेंट्स को है पूरा करना है ISSF का लक्ष्य

अप्रैल 15, 2020 से पहले एक आखिरी निर्णय अभी भी लिया जाएगा।

इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट फेडरेशन (ISSF) ने एक बयान में कहा कि ‘कोटा स्थान जीतने के लिए सभी एथलीटों के बीच निष्पक्षता और अवसर’ को ध्यान में रखते हुए ओलंपिक शूटिंग गवर्निंग बॉडी निर्धारित प्रतियोगिताओं को निश्चित समय पर आयोजित करने की उम्मीद कर रहा है।

इसको ध्यान में रखते हुए ISSF ने घोषणा की है कि नई दिल्ली में जो वर्ल्ड कप इवेंट 15 मार्च से आयोजित किया जाना था, उसे अब मई में स्थानांतरित कर दिया गया है। राइफल और पिस्टल इवेंट 5 से 13 मई तक आयोजित की जाएंगे, जबकि शॉटगन की प्रतियोगिताएं 20 से 29 मई के दौरान आयोजित की जाएंगी।

भारतीय निशानेबाज़ों को अभ्यास की ज़रूरत

मनु भाकर और सौरभ चौधरी जैसे शीर्ष निशानेबाज़ों सहित भारत के शूटिंग दल ने बीते साल कुल 15 ओलंपिक कोटा हासिल किए। हालांकि, ओलंपिक वर्ष में भारतीय निशानेबाज़ों के पास अपनी तकनीक को बेहतर बनाने और मौजूदा परिस्थितियों की वजह से कई प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने के अवसर छूट गए हैं।

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते 4 से 13 मार्च के बीच साइप्रस में होने वाले आईएसएसएफ शॉटगन विश्व कप के स्थगित होने के बाद भारत ने दक्षिण कोरिया में खेलों से पहले प्रशिक्षण करने की अपनी योजना को भी रद्द कर दिया है।

अनिश्चितता के लिए ISSF कर रहा प्रयास

कोरोनो वायरस महामारी का मुकाबला करने के लिए सरकार द्वारा नए उपायों को ध्यान में रखते हुए और नए निर्देशों के परिणाम स्वरूप आईएसएसएफ ने सभी को सावधानी बरतने की सलाह दी है।

मनु भाकर और सौरभ चौधरी की नज़र इस ओलंपिक साल में अपने बेहतरीन प्रदर्शन को जारी रखने पर होगी। तस्वीर साभार: ISSF
मनु भाकर और सौरभ चौधरी की नज़र इस ओलंपिक साल में अपने बेहतरीन प्रदर्शन को जारी रखने पर होगी। तस्वीर साभार: ISSFमनु भाकर और सौरभ चौधरी की नज़र इस ओलंपिक साल में अपने बेहतरीन प्रदर्शन को जारी रखने पर होगी। तस्वीर साभार: ISSF

आईएसएसएफ ने कहा, “कई देशों ने नए प्रतिबंधों को लागू किया है। यही वजह है कि हम अपने सदस्य महासंघों से अनुरोध करते हैं कि वे उड़ानों की बुकिंग और आगामी कार्यक्रमों के लिए होटल रिज़र्वेशन आदि को करने से पहले ध्यान दें।”

शूटर्स की रैंकिंग पर भी मिलेगा कोटा

वर्ल्ड चैंपियनशिप, वर्ल्ड कप और कॉन्टिनेंटल चैंपियनशिप में हासिल किए गए कोटा के अलावा विश्व रैंकिंग के आधार पर सभी 12 इवेंट में एक अतिरिक्त कोटा उपलब्ध है। प्रत्येक इवेंट में सर्वोच्च रैंक वाला शूटर जो किसी भी इवेंट में कोटा हासिल करने में विफल रहता है या जो देश एक भी कोटा हासिल नहीं कर पाता है उसे विश्व रैंकिंग के माध्यम कोटा दिया जाता है।

इसी वजह से प्री-टोक्यो 2020 क्वालिफिकेशन इवेंट की योजना बनाई जा रही है। जैसे कि नई दिल्ली में वर्ल्ड कप को आयोजित किया जाना सुनिश्चित है। हालांकि इसके आयोजन का निर्णय अभी भी आयोजकों और प्रतिभागियों के शामिल होने की वजह से लटका हुआ है। आईएसएसएफ ने आगामी विश्व कप और कॉन्टिनेंटल चैंपियनशिप को आयोजित करने की समय सीमा 15 अप्रैल तय की है।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!