ITTF ने 30 जून तक निलंबित किए सभी टूर्नामेंट, रैंकिंग को किया फ़्रीज़

अगली आईटीटीएफ कार्यकारी समिति की बैठक 15 अप्रैल को होने वाली है, जिसमें वर्तमान स्थिति का मूल्यांकन किया जाएगा।

लेखक ओलंपिक चैनल ·

अंतरराष्ट्रीय टेबल टेनिस महासंघ (ITTF) ने कोरोना वायरस महामारी और टोक्यो ओलंपिक के टाले जाने के कारण 30 जून तक अंतरराष्ट्रीय यात्रा से जुड़े सभी टूर्नामेंट को स्थगित करने का फैसला किया है। 16 मार्च को हुई बैठक के बाद, रविवार को आईटीटीएफ कार्यकारी समिति की बैठक हुई। इसमें विश्व रैंकिंग को फ्रीज़ करने का निर्णय भी लिया गया।

ITTF के बयान में बताया गया, “फिलहाल वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए सभी टूर्नामेंट को स्थगित किए जाने के साथ ही आईटीटीएफ रैंकिंग को भी फ्रीज़ कर दिया गया है। इसके अलावा टूर्नामेंट से जुड़ी सभी विदेशी यात्राओं को भी रोक दिया गया है। अब अन्य जटिलताओं से संबंधित सभी जरूरी बातों का मूल्यांकन किया जाएगा।

“आने वाले सप्ताह में 2020 वर्ल्ड टीम टेबल टेनिस चैंपियनशिप की नई तारीखों की घोषणा भी की जाएगी। टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट की तारीखों का फैसला इन खेलों के बाद किया जाएगा”।

ओलंपिक क्वालिफिकेशन की प्रक्रिया

ओलंपिक में कुल 172 टेबल टेनिस खिलाड़ी खेलेंगे, जिनमें पांच स्पर्धाएं - पुरुष और महिला एकल और टीम स्पर्धाएं और मिश्रित युगल स्पर्धाएं होंगी। प्रत्येक एनओसी से छह एथलीटों के शामिल होने की अनुमति है - दो पुरुष और दो महिला एथलीट एकल स्पर्धाओं में, एक पुरुष और एक महिला टीम टीम स्पर्धाओं में, और एक युगल मिश्रित युगल में।

भारतीय टेबल टेनिस टीम इंडोनेशिया में आयोजित होने वाले 2019 ATTU एशियाई चैंपियनशिप के साथ-साथ पुर्तगाल में आयोजित होने वाले 2020 विश्व क्वालीफिकेशन प्रतियोगिता से टीम स्पर्धाओं में क्वालिफाई करने में नाकाम रही है। इस वजह से अब उनके पास एकमात्र मौका एकल और मिश्रित टीम स्पर्धाओं के माध्यम से होगा।

पुरुष एकल, महिला एकल और मिश्रित टीम श्रेणियों के लिए एशिया क्वालीफिकेशन इवेंट, जिसे बैंकॉक में आयोजित किया जाना था, उसे कोरोना वायरस की वजह से संशोधित तारीखों में आयोजित किया जाएगा।

भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ियों के लिए इसके क्या हैं मायने

क्वालिफिकेशन इवेंट्स के अलावा, ITTF विश्व रैंकिंग के जरिए भी टेबल टेनिस खिलाड़ी सीधे ओलंपिक खेलों के लिए क्वालिफाई कर सकते हैं। भारतीय शीर्ष पुरुष पैडलर साथियान गणानासेकरन (Sathiyan Gnanasekaran) और अचंता शरत कमल (Achanta Sharath Kamal) आईटीटीएफ वर्ल्ड रैंकिंग के सीनियर सिंगल्स इवेंट में 31वें और 38वें स्थान पर काबिज़ हैं। ऐसे में ये पैडलर आसानी से ओलंपिक बर्थ हासिल कर सकते हैं।

जी साथियान ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए साक्षात्कार में बताया, “मेरी रैंकिंग को देखते हुए क्वालिफिकेशन एक औपचारिकता होनी चाहिए। अगर ओलंपिक खेल समय पर हुए तो वर्ल्ड रैंकिंग के मुताबिक शरत (अचंता कमल) और मैं आसानी से टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफाई कर जाएंगे।”

भारत की स्टार महिला पैडलर मनिका बत्रा फिलहाल एकल रैंकिंग में 62वें स्थान पर काबिज़ हैं और उन्हें टोक्यो ओलंपिक में जगह बनाने के लिए महिला एकल एशियाई क्वालिफिकेशन इवेंट के अलावा अन्य टूर्नामेंट में अच्छे अंक हासिल करने की उम्मीद होगी।