एशियन कुश्ती चैंपियनशिप में जितेंद्र कुमार ने हासिल किया रजत पदक

भारतीय पहलवान को फाइनल में गत विजेता कैसनोव दानियार से मिली हार, लेकिन एशियन ओलंपिक क्वालिफायर्स के लिए भारतीय टीम में अपनी जगह सुनिश्चित करने में रहे कामयाब। 

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

भारतीय पहलवान जितेंद्र कुमार (Jitender Kumar) ने रविवार को नई दिल्ली में संपन्न हुई एशियन कुश्ती चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर चयनकर्ताओं के भरोसे को सही साबित किया।

27 वर्षीय इस भारतीय पहलवान को स्वर्ण पदक के मुकाबले तक पहुंचने में कोई परेशानी नहीं हुई, और सभी मुकाबलों में उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया।

लेकिन फाइनल में वो कज़ाख़िस्तान पहलवान और गत चैंपियन कैसानोव दानियार (Kaisanov Daniyar) के खिलाफ उस लय को बरकरार नहीं रख सके और 74 किलोग्राम फ्रीस्टाइल वर्ग में 1-3 से हार गए, जिसके बाद उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

एशियन कुश्ती चैंपियनशिप में रजत पदक हासिल वाले जितेंद्र कुमार को अगले महीने एशियन ओलंपिक क्वालिफायर के लिए भारतीय टीम में अपनी योग्यता साबित करने का मौका मिलेगा।

इसके साथ ही वो एशियन ओलंपिक क्वालिफायर के लिए भारतीय टीम में जगह बनाने की होड़ में हमवतन सुशील कुमार (Sushil Kumar) से आगे निकल गए हैं, एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप जितेंद्र कुमार के लिए ‘करो या मरो’ जैसा प्रतियोगिता था। अगर वो दो बार के ओलंपिक पदक विजेता के खिलाफ ट्रायल मैच से बचना चाहते हैं, तो उन्हें हर हाल में एशियन ओलंपिक क्वालिफायर में पदक जीतना होगा।

हालांकि नई दिल्ली में संपन्न हुए एशियन कुश्ती चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचकर जीतेंद्र कुमार ने महाद्वीपीय ओलंपिक क्वालिफायर में अपनी भागीदारी को सुनिश्चित कर दिया। लेकिन दानियार के खिलाफ अगर वो जीत जाते तो उन्हें अपनी साख को और मजबूत करने में काफी मदद मिलती।.

अगले महीने होने वाले एशियन ओलंपिक क्वालिफायर्स में जितेंदर कुमार 74 किलोग्राम फ्रीस्टाइल वर्ग में भारतीय टीम के हिस्सा होंगे। फोटो: यूडब्ल्यूडबल्यू

2019 विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता दानियार के लिए फाइनल में जीत हासिल करना आसान नहीं था, भारतीय पहलवान को हराने के लिए उन्होंने अपने अनुभव के साथ सारे दाव-पेंच लगा दिए।

इस फाइनल भिड़ंत में दोनों पहलवान शुरूआत में पहल करने से कतराते रहे, जिसके बाद रेफरी को हस्तक्षेप करना पड़ा और उन्होंने दानियार को पहल करने के लिए कहा।

पैसिविटी टाइम में कज़ाख़िस्तान पहलवान ने जितेन्द्र कुमार के खिलाफ पहला अंक हासिल किया। हालांकि बाद में जितेंद्र कुमार ने दानियार को बाहर धकेल कर एक अंक हासिल किया और बढ़त को कम करने की कोशिश की, लेकिन भारतीय पहलवान इससे अधिक अंक हासिल करने में विफल रहे और इस सीज़न कज़ाख़िस्तान पहलवान से अपना दूसरा-सीधा मुकाबला हार गए। दानीयार ने इससे पहले जितेंद्र कुमार को रोम में मैट्टो पेलिकोन मेमोरियल मीट में हराया था।.

दीपक पुनिया, राहुल अवारे को मिला कांस्य पदक

रविवार को केडी जाधव इंडोर स्टेडियम में भारत के दो प्रतिभावान पहलवान दीपक पुनिया (Deepak Punia) और राहुल अवारे (Rahul Aware) ने अपने-अपने भार वर्ग में कांस्य पदक हासिल किए।

अंतिम दिन सुबह सेमीफाइनल में हारने के बाद, 2019 विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता दीपक पुनिया ने पोडियम फिनिश सुनिश्चित करने के लिए इराक के अल ओबैदी इस्सा अब्दुलसलाम अब्दुलवहाब (Al Obaidi Issa Abdulsalam Abdulwahhab) को 10-0 से रौंद दिया।

इस बीच राहुल अवारे ने अपने कांस्य पदक के लिए ईरान के माजिद अल्मास दास्तान (Majid Almas Dastan) को 5-2 से हराया। एशियन कुश्ती चैंपियनशिप में भारत ने पांच स्वर्ण, छह रजत और नौ कांस्य पदक जीते।