करणदीप कोचर ने जीव मिल्खा सिंह इनविटेशनल इवेंट में अनिर्बान लाहिड़ी को दी मात

PGTI इतिहास में पहली बार तीसरे अतिरिक्त प्लेऑफ़ के ज़रिए विजेता का फ़ैसला हुआ। करणदीप कोचर की ये लगातार दूसरी जीत है।

लेखक सैयद हुसैन ·

चंडीगढ़ के गोल्फ़र करणदीप कोचर (Karandeep Kochhar) ने सोमवार को जीव मिल्खा सिंह इनविटेशनल इवेंट में ओलंपियन अनिर्बान लाहिड़ी (Anirban Lahiri) को हराकर एक बड़े उलटफेर को अंजाम दिया।

चंडीगढ़ गोल्फ़ क्लब में खेले गए इस इस PGTI इवेंट के बेहद रोमांचक मुक़ाबले में कोचर ने प्लेऑफ़ के ज़रिए लाहिड़ी को मात देकर इस इवेंट के तीसरे संस्करण को अपने नाम किया।

करणदीप कोचर ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट और शूटर अभिनव बिंद्रा (Abhnav Bindra) के भांजे हैं, और उन्होंने आख़िरी बार भी इस PGTI इवेंट पर कब्ज़ा जमाया था।

21 वर्षीय कोचर की शुरुआत धीमी रही थी और पहले राउंड में उन्होंने 4-ओवर 76 का स्कोर किया था। इसके बाद अगले तीन राउंड में उन्होंने 66, 67 और 68 का स्कोर किया। रेगुलेशन राउंड के बाद वह कुल 11-अंडर 277 के साथ संयुक्त तौर पर नंबर-1 रहे।

हालांकि कोचर के पास मौक़ा था कि वह इवेंट को 12 अंडर के साथ ही जीत जाते लेकिन रेगुलेशन राउंड के ख़त्म होने के ठीक पहले उनसे एक ग़लती हुई थी और एक स्ट्रोक की पेनल्टी लगी थी।

दूसरी ओर दो बार के यूरोपियन टूर और सात बार के एशियन टूर विजेता रहे अनिर्बान लाहिड़ी का स्कोर (70-68-70-69) बिल्कुल कोच ही की तरह रहा और मुक़ाबला प्लेऑफ़ में पहुंचा।

दिग्गज लाहिड़ी इससे पहले 12 बार PGTI इवेंट अपने नाम कर चुके हैं, लेकिन 2014 के बाद ये इनका पहला इवेंट था।

शुरू से ही इन दोनों खिलाड़ियों में कांटे की टक्कर चल रही थी और फिर रविवार को ख़राब रोशनी की वजह से खेल को स्थगित करना पड़ा। सोमवार को दोबारा खेल शुरू होने के बाद कोचर ने अनुभवी लाहिड़ी को पीछे छोड़ दिया और ख़िताब पर कब्ज़ा जमाया।

ये PGTI इतिहास में पहला मौक़ा था जब प्लेऑफ़ में अतिरिक्त तीसरे होल के ज़रिए विजेता का फ़ैसला हुआ।

इस जीत के बाद कोचर ने कहा, “पिछली शाम मुझे जीव मिल्खा सिंह सर से अहम सलाह मिली थी, उन्होंने ख़ुद पर भरोसा करने को कहा था फिर चाहे जो भी परिस्थिति हो।“

गुरुग्राम के मणु गंदास (Manu Gandas) और पटना के अमन राज (Aman Raj) दोनों ही ने 10-अंडर 278 के स्कोर के साथ तीसरा स्थाना साझा किया।

जबकि इससे पहले टूर्नामेंट की मेज़बानी करने वाले जीव मिल्खा सिंह (Jeev Milkha Singh) शुक्रवार को कट हासिल करने से चूक गए थे।