खेलो इंडिया यूथ गेम्स में महाराष्ट्र ने लगाया पदकों का दोहरा शतक

पश्चिमी भारत के राज्य महाराष्ट्र ने खेलो इंडिया यूथ गेम्स का 11वां दिन 204 पदकों के साथ ख़त्म किया

लेखक ओलंपिक चैनल ·

गुवाहाटी में खेला जा रहा खेलो इंडिया यूथ गेम्स अब अपने अंतिम पड़ाव की ओर जा रहा है, और अब क़रीब क़रीब ये तय हो गया है कि एक बार फिर पदक तालिका में महाराष्ट्र सबसे ऊपर रहेगा। सोमवार को महाराष्ट्र ने पदकों का दोहरा शतक भी लगा डाला।

महाराष्ट्र को सोमवार को सिर्फ़ तैराकी में ही स्वर्ण पदक हासिल हुआ, जहां वेदांत बापना ने अंडर-17 200 मीटर बैकस्ट्रोक में स्वर्ण पदक हासिल किया, जबकि केनिशा गुप्ता ने गर्ल्स अंडर-17 200 मीटर मेडली में गोल्ड मेडल जीता। केनिशा ने अपने राज्य को 4X100 मीटर मेडली रिले में भी स्वर्ण पदक दिलाया जिसकी बदौलत महाराष्ट्र के नाम अब 63 स्वर्ण पदक हो गए हैं।

इसी के साथ केनिशा गुप्ता ने अपना नाम उन एथलिटों में शुमार कर लिया जिन्हें इस प्रतियोगिता के इस सत्र में 4 गोल्ड मिले हैं। ये सभी एथलीट हैं: असमी बदाले, पूजा दानोले, शिवांगी सरमा, प्रियंका दासगुप्ता, जतिन कनौजिया और सोब्रिती मोंडल।

महाराष्ट्र गर्ल्स अंडर-21 के बास्केटबॉल फ़ाइनल में केरल से 63-88 से हार गया और उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

महाराष्ट्र के सबसे क़रीबी प्रतिद्वंदी हरियाणा के लिए भी ये दिन कुछ ख़ास नहीं रहा और उन्हें सिर्फ़ एक स्वर्ण पदक हासिल हुए, जो गर्ल्स अंडर-17 हॉकी इवेंट में उन्हें मिला। कनिका सिवच और सोनम ने फ़ाइनल मुक़ाबले में ड्रॉ के बाद शूटआउट में स्कोर करते हुए हरियाणा को जीत दिलाई।

पश्चिम बंगाल के लिए मोंडल ने बिखेरी चमक

सोब्रिती मोंडल ने गर्ल्स अंडर-21 200 मीटर व्यक्तिगत मेडली में 2:32.52 की टाइमिंग और 200 मीटर बैकस्ट्रोक में 2:26.05 की टाइमिंग के साथ स्वर्ण पदक पर कब्ज़ा जमाया। गुजरात की माना पटेल जिन्हें दो दिन पहले 100 मीटर रेस के दौरान एड़ी में चोट आई थी, उनके न रहने का फ़ायदा मोंडल ने उठाया। इसके बाद पश्चिम बंगाल के तैराकों ने अपने राज्य को 4x100 मीटर मेडली रिले में असम को हराकर स्वर्ण पदक की हैट्रिक लगाई।

सोब्रिती मोंडल अंडर-21 200 मीटर व्यक्तिगत मेडली में स्वर्ण पदक के साथ जश्न मनाते हुए। तस्वीर साभार: खेलो इंडिया मीडिया

मेज़बान राज्य ने वेटलीफ़्टिंग में जीता डबल गोल्ड

वेटलीफ़्टिंग स्पर्धा में मेज़बान असम ने पदक तालिका में नंबर-1 पर काबिज़ महाराष्ट्र को हराकर स्वर्ण पदक जीता और सभी को हैरान कर दिया। सुदित्य बोरुआह ने रितेश मैशाले और सानिध्य मोरे को बॉयज़ अंडर-17 के 89 किग्री वर्ग में शिकस्त दी। बॉयज़ अंडर-21 के 81 किग्रा वर्ग में भी असम के गुलप गोगोई को गोल्ड मेडल प्राप्त हुआ।

एक और उत्तर-पूर्वी राज्य सिक्किम ने सोमवार को अपना पहला पदक जीता जब प्रेमा तेशरींग शेरपा ने बॉयज़ अंडर-21 के 81 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक पर कब्ज़ा जमाया।