किदांबी और लक्ष्य की जीत के साथ भारत ने कज़ाख़स्तान को 4-1 से दी शिकस्त 

बैडमिंटन एशिया चैंपियशिप में मंगलवार को भारत की एकमात्र हार पुरुष युगल में आई जहां एच एस प्रणॉय और चिराग शेट्टी जोड़ीदार थे

भारतीय शटलर किदांबी श्रीकांत और लक्ष्य सेन ने मंगलवार को फ़िलिपींस के मनिला में शुरु हुए बैडमिटंन एशिया चैंपियनशिप के पहले दिन भारत को कज़ाख़स्तान के ख़िलाफ़ 4-1 से जीत दिलाई।

मुक़ाबले की शुरुआत पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 किदांबी श्रीकांत ने की थी जब उनके सामने कज़ाख़स्तान के दिमित्री पनारीन थीं, पुरुष एकल के इस मुक़ाबले में श्रीकंता ने दिमित्री को सीधे गेम्स में 21-10, 21-7 से शिकस्त दी।

दिमित्री पनारीन इस वक्त दुनिया के 264 वें नंबर के शटलर हैं, और वह किदांबी को ज़रा भी टक्कर नहीं दे पाए। भारतीय शटलर ने मुक़ाबला सिर्फ़ 23 मिनट में अपने नाम कर लिया।

लक्ष्य सेन और शुभांकर डे ने दिलाई अजेय बढ़त

एक बेहतरीन शुरुआत के बाद भारत के युवा सितारे लक्ष्य सेन और शुभांकर डे ने अपने अपने मुक़ाबले जीतते हुए पहले ही दिन भारत को जीत के साथ आग़ाज़ दिलाया।

लक्ष्य सेन प्रीमियर बैडमिंटन लीग में अपने शानदार प्रदर्शन को मनिला में भी दोहराते हुए नज़र आए और इस 18 वर्षीय शटलर का आत्मविश्वास कोर्ट पर साफ़ झलक रहा था।

लक्ष्य सेन ने पीबीएल 5 में भी दमदार प्रदर्शन किया था
लक्ष्य सेन ने पीबीएल 5 में भी दमदार प्रदर्शन किया थालक्ष्य सेन ने पीबीएल 5 में भी दमदार प्रदर्शन किया था

विश्व के 32वें नंबर के शटलर ने सिर्फ़ 21 मिनट में ही मुक़ाबला 21-13, 21-8 से अपने नाम कर लिया, उन्होंने कज़ाख़स्तान के अर्तर नियाज़ोव को मात दी। इस जीत के साथ ही भारत ने कज़ाख़स्तान पर 2-0 की बढ़त बना ली थी।

भारत के लिए दिन का तीसरा मुक़ाबला था वर्ल्ड नंबर शुभांकर डे और वर्ल्ड नंबर 552 खैतमूरत कुलमतोव के बीच, जहां भारतीय शटलर ने 26 मिनट में ही 21-11, 21-5 से बेहतरीन जीत के साथ भारत को 3-0 की अजेय बढ़त दिला दी थी।

पुरुष युगल में एच एस प्रणॉय, चिराग शेट्टी को मिली हार

सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी की ग़ैरमौजूदगी में चिराग शेट्टी के साथ जोड़ीदार थे एच एस प्रणॉय, लेकिन क़ामयाबी भारत के हाथ नहीं आई।

दिमित्री पनारीन और अर्तर नियाज़ोव की कज़ाख़स्तानी जोड़ी के सामने भारतीय जोड़ी को 21-18, 16-21, 19-21 से हार मिली। ये भारत की मंगलवार के दिन की पहली हार थी।

पांचवें और आख़िरी मुक़ाबले में पुरुष युगल में भारतीय जोड़ी एम आर अर्जुन और ध्रुव कापिला ने एक बार फिर भारत को जीत की पटरी पर ले आए थे। उन्होंने कज़ाख़स्तान की जोड़ी निकिता ब्रागिन और खैतमूरत कुलमतोव को 21-14, 21-8 से शिकस्त दी, ये मुक़ाबला 20 मिनट ही चला। इसी जीत के साथ भारत ने कज़ाख़स्तान को 4-1 से मात देते हुए ग्रुप बी में टॉप पर क़ाबिज़ हो गई।

भारत के सामने अगली चुनौती ?

ग्रुप बी में फ़िलहाल नंबर-1 पर क़ाबिज़ भारतीय बैडमिंटन टीम का अगला मुक़ाबला 13 फ़रवरी को मज़बूत मलेशिया के ख़िलाफ़ होगा। ग्रुप में नंबर-1 और नंबर-2 की टीमों को क्वार्टर फ़ाइनल का टिकेट मिलेगा।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!