नेपाली कप्तान किरण लिम्बू ने I-League को साउथ एशियन खिलाड़ियों के लिए सबसे बड़ा मौका बताया

राउंडग्लास पंजाब के गोलकीपर को उम्मीद ही कि उनके प्रदर्शन की बदौलत I-League में उन्हों के देश के अन्य खिलाड़ियों के लिए दरवाज़े खुल जाएंगे।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

नेपाल नेशनल फुटबॉल टीम के कप्तान किरण कुमार लिम्बू (Kiran Kumar Limbu) का मानना है कि भारत की आई-लीग प्रतियोगिता एशियन देश यानी नेपाल, भूटान, बांग्लादेश और अन्य देशों को आगे बढ़ने का एक अच्छा मौका दे सकता है।

किरण लिम्बू I-League 2021 का हिस्सा होंगे और वह राउंडग्लास पंजाब एफसी की ओर से खेलते हुए अज़र आएंगे। भारत में यह उनका दूसरा सीज़न होने जा रहा है और पिछली बार उन्होंने मिनर्वा पंजाब को उनकी 2017-18 I-League ट्रॉफी तक पहुंचाने में मदद की थी।

किरण लिम्बू ने I-League की ऑफिशियल वेबसाइट से बातचीत करते हुए कहा “साउथ एशिया में लीग फुटबॉल का स्तर अन्य देशों के मुकाबले भारत में बेहतर है। I-League के किसी क्लब से खेलने का अवसर मिलना मानों एक अलग स्तर पर खेलने जैसा है।”

अपने देश के लिए किरण ने 60 बार मैदान में शिरकत की है और साथ ही वह I-League का हिस्सा अभी 8 बार बनें हैं। इस साल माना जा रहा है कि उन्हें भारत में खेलने के ज़्यादा मौके मिलेंगे और वह राउंडग्लास पंजाब के लिए अच्छा करने की पूरी कोशिश करेंगे।

किरण लिम्बू का मानना है कि अगर उनका प्रदर्शन अच्छा रहता है तो उस वजह से उनके बाकी देशवासियों के लिए I-League में खेलने का मौका बढ़ जाएगा।

मालदीव के लिए लीग फुटबॉल खेल चुके किरण ने कहा “बाकी नेपाली खिलाड़ियों के लिए दरवाज़े खुल जाएंगे। मैं हर मुकाबले में अपना सर्वश्रेष्ठ दूंगा और हर साल यहां आकर अपने देश के खिलाड़ियों के लिए नए दरवाज़े खोलने की पूरी कोशिश करूँगा।”

“उन्हें यहां खेलने का जितना ज़्यादा मौका मिलेगा वह उतना ही उनके लिए बेहतर साबित होगा और साथ ही यह आने वाली पीढ़ी के लिए भी अच्छा रहेगा। मैं उम्मीद करता हूं कि कम से कम 6 से 7 खिलाड़ियों को भारत में खेलने का अवसर मिलेगा। यह हमारे और नेशनल टीम के लिए काफी अच्छा साबित होगा।”

साउथ एशियाई देशों में से किरण एकमात्र फुटबॉलर नहीं हैं जो I-League ले लिए खेलते हैं बल्कि उनके मित्र और भूटान के सुपरस्टार चेनचो गिएल्त्सेन (Chencho Gyltshen) भी इस लीग का हिस्सा हैं।

भूटान के रोनाल्डो कहे जाने वाले चेनचो गिएल्त्सेन 2020 तक I-League का एक बड़ा नाम बन चुके थे। मिनर्वा पंजाब एफसी के लिए I-League 2017-18 खेलते हुए इस खिलाड़ी को बेस्ट फॉरवर्ड के सम्मान से भी नवाज़ा गया था और उस साल उनकी टीम ने खिताब पर भी कब्ज़ा जमाया था।

इतना ही नहीं बल्कि चेनचो इंडियन सुपर लीग (Indian Super League – ISL) का हिस्सा भी रहे हैं और उन्होंने अपना कौशल बेंगलुरु एफसी के लिए दिखाया था।

इस सीज़न बांग्लादेश फुटबॉल टीम के कप्तान जमाल भुयान (Jamal Bhuyan) भी कोलकाता के क्लब मोहम्मडन एससी के लिए खेलते हुए नज़र आएंगे।

किरण लिम्बू ने आगे बातचीत को बढ़ाते हुए कहा “पड़ोसी मुल्कों से ऐसे खिलाड़ियों को एक साथ खेलते और स्पर्धा करते हुए देख कर अच्छा लगता है। मैं साउथ एशियन देशों से ज़्यादा से ज़्यादा खिलाड़ियों को आगे बढ़कर इस तरीके से इतने बड़े स्तर पर स्पर्धा करते हुए देखना चाहता हूं।”

“अभी तक हम तीन खिलाड़ी ही भारत में खेलते हैं और मैं उम्मीद करता हूं कि ऐसे और भी मौके दूसरों के लिए खुल जाएंगे।”

 मुख्य तस्वीर: AIFF