किरेन रिजिजू को टोक्यो ओलंपिक में भारतीय निशानेबाजों से हैं ’बड़ी उम्मीदें’ 

युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने निशानेबाजों को दी जाने वाली सुविधाओं पर विशेष ध्यान देने पर दिया जोर  

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

भारतीय खेल मंत्री ने उल्लेख किया कि शूटिंग सरकार के लिए प्राथमिकता वाला गेम है। उन्होंने कहा कि मेरे पास अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए कोई शब्द नहीं है और भारत आगामी टोक्यो ओलंपिक में निशानेबाजों से शानदार प्रदर्शन की उम्मीद कर रहा है।

केंद्रीय खेल मंत्री ने डॉ कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में एक आवासीय छात्रावास का उद्घाटन किया। इसमें राष्ट्रीय शिविरों और अन्य प्रतियोगी कार्यक्रमों के दौरान एथलीटों की ठहरने की सुविधा मिलेगी।

रिजिजू ने उद्घाटन समारोह में कहा, "फिलहाल शूटिंग हमारे प्रमुख खेलों में से एक है। हमें निशानेबाजों से बहुत उम्मीदें हैं। भारत में जमीनी स्तर पर प्रतिभा का बहुत बड़ा भंडार है। हमारे पास टोक्यो ओलंपिक में जाने वाले निशानेबाजों काफी संख्या है।"

162-बेड वाले वातानुकूलित छात्रावास के निर्माण पर 12.26 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। डाइनिंग स्पेस भी वातानुकूलित होगा ताकि एथलीट नियमित आहार सही तरह से ले सकें।

सभी छात्रावास भोजन, आवास और स्वच्छता के मामले में कम से कम 3-स्टार मानक के होंगे। सुविधा का प्रबंधन करने के लिए एक विशेषज्ञ एजेंसी को भी नियुक्त किया गया है। भविष्य में लड़के और लड़कियों के लिए अलग-अलग छात्रावास बनाने की भी योजना है।

भारत को शूटिंग से अब तक ओलंपिक में 15 पदक की उम्मीद है। हालांकि आने वाले महीनों में विश्व रैंकिंग के आधार पर यह संख्या बढ़ भी सकती है। इसलिए रिजिजू ने कहा कि शूटिंग अब सरकार के लिए प्राथमिकता का खेल है रिजिजू ने कहा, "हमारे एथलीट ओलंपिक, एशियाई खेलों, राष्ट्रमंडल खेलों में देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। उनके जीवन का स्तर अच्छा होना चाहिए, जहां पर उन्हें अच्छी सुविधाएं मुहैया कराई जाये। निशानेबाजी प्राथमिकता में होने के कारण निशानेबाजों के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने होंगे।"

पहले एथलीटों को परिसर के बाहर रहना पड़ता था, क्योंकि आवास की कोई सुविधा नहीं थी। अब नए छात्रावास के बनने से उनके लिए राइफल, पिस्तौल और शॉटगन रेंजों की दूरी काफी कम हो जाएगी।।

2018 राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता अनीश भानवाला ने नए छात्रावास के उद्घाटन की प्रशंसा करते हुए कहा, "हमारे पास हमेशा एक बहुत अच्छी शूटिंग रेंज रही है, लेकिन हॉस्टल की कमी थी। इस कारण हमें परिसर के बाहर रहना पड़ता था। अब हॉस्टल खुलने से हम सुबह और दोपहर के सत्र में ट्रेनिंग कर सकते हैं।"

राष्ट्रीय चयन ट्रॉयल 5 जनवरी से शुरू हो रहे हैं। प्रतिभागियों में पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल में शीर्ष स्थान पर रहने वाले दिव्यांशु सिंह पंवार और 10 मीटर एयर पिस्टल में दुनिया के नंबर 4 पर सौरभ चौधरी शामिल हैं।

हालांकि, टोक्यो ओलंपिक के लिए भारतीय निशानेबाजों का मुख्य समूह नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (NRAI) द्वारा जनवरी के अंत में आयोजित एक राष्ट्रीय शिविर में फिर से एक साथ अभ्यास करेगा।

भारतीय शूटिंग के शासी निकाय NRAI ने घोषणा की, कि कोर ग्रुप के लिए एक राष्ट्रीय शिविर 26 जनवरी से 7 फरवरी तक एक ही शूटिंग रेंज में आयोजित किया जाएगा।