अपने पिता वीस पेस के सम्मान में लिएंडर पेस ने स्टार क्रिकेटर इरफान पठान के साथ खेला क्रिकेट

हॉकी ओलंपियन वीस की उपलब्धियों को याद करते हुए गणतंत्र दिवस पर एक सेलिब्रेटरी क्रिकेट मैच खेला गया। अब हर साल इस क्रिकेट मैच का आयोजन होगा।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

आखिरकार लिएंडर पेस (Leander Paes) ने इस साल फिर से खेलना शुरू कर ही दिया। हालांकि इस बार वो टेनिस कोर्ट पर नहीं बल्कि क्रिकेट पिच पर खेलते नज़र आए।

उन्होंने गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर मंगलवार को कोलकाता में एक सेलिब्रेटरी क्रिकेट मैच के लिए पूर्व भारतीय क्रिकेटर इरफान पठान (Irfan Pathan) के साथ टीम क्रिकेट खेला।

लिएंडर के पिता वीस पेस 1972 ओलंपिक हॉकी के कांस्य पदक विजेता टीम के सदस्य है। वीस पेस (Vece Paes) के सम्मान में शुरू किए गए इस क्रिकेट टूर्नामेंट में टेनिस दिग्गज ने डॉक्टर्स XI के लिए खेलते हुए CC & FC XI से मुक़ाबला किया।

75 वर्षीय वीस पेस स्पोर्ट्स मेडिसिन में डॉक्टर हैं। उन्होंने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और एशियन क्रिकेट काउंसिल के साथ दशकों तक चिकित्सा सलाहकार के रूप में काम किया है।

भारतीय डेविस कप टीम के साथ भी वीस पेस काम कर चुके हैं। इंडियन सुपर लीग (Indian Super League) में भी वीस ने काम किया है।

क्रिकेट मैच का आयोजन कोलकाता के डॉक्टरों द्वारा ऐतिहासिक कलकत्ता क्रिकेट एंड फुटबॉल क्लब (CC & FC) में किया गया था। इस टूर्नामेंट का नाम डॉ. वीस पेस क्रिकेट कप रखा गया, ये हर गणतंत्र दिवस पर खेला जाने वाला एक वार्षिक कार्यक्रम होगा।

लिएंडर पेस ने कहा, "मेरी सीसी और एफसी से बहुत कुछ यादें जुड़ी है।" “मैंने यहां खेलना शुरू किया और इसी मैदान पर मैंने नेतृत्व करना, खेलना-कूदना और बहुत कुछ सीखा।

लिएंडर ने कहा, "आपका बेटा होना किसी बड़े सम्मान से कम नहीं है। मैंने खेल को खेलने की कोशिश की है और जितना हो सके जीवन में उतना मैं खेलूंगा। मुझे उम्मीद है कि मैंने आपको गर्वांवित किया है।”

हालांकि डॉक्टर्स इलेवन सीसी एंड एफसी से तीन विकेट से हार गई।

इरफान पठान ने ट्विटर पर लिएंडर पेस के साथ खुद की एक तस्वीर साझा करते हुए लिखा “ये एक छोटी लेकिन यादगार साझेदारी थी भाई।”

मैच के बाद वीस पेस को सम्मानित किया गया, जहां पिता और पुत्र दोनों का सम्मान हुआ। पूर्व हॉकी टीम के साथी गुरबक्ष सिंह (Gurbux Singh) भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे।

वीस पेस ने अपने बेटे से कहा, जिन्होंने 7 बार ओलंपिक में एक टेनिस खिलाड़ी की रूप में भाग लेकर रिकॉर्ड बनाया है, “जब गुरु को उनका शिष्य मात देता है तो उससे संतोषजनक बात कुछ नहीं हो सकती। आपने निश्चित रूप से ऐसा ही किया है।”

लिएंडर पेस ने 1996 के अटलांटा खेलों में अपने पिता के नक्शे कदम पर चलते हुए कांस्य पदक जीता था।

अब 47 साल के हो चुके लिएंडर पेस फुटबॉल के बड़े दिवाने थे। उन्होंने हॉकी और बास्केटबॉल भी खेला - उनकी माँ जेनिफर क्रिकेट के साथ-साथ एक राष्ट्रीय बास्केटबॉल खिलाड़ी भी थीं।

हालांकि उन्होंने टेनिस में अपना करियर चुना, लेकिन फुटबॉल से वो कभी दूर नहीं रह सके। 2019 में, लिएंडर को मुंबई में एक चैरिटी मैच में क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ी एमएस धोनी (MS Dhoni) के साथ खेलते हुए देखा गया।

लिएंडर फुटबॉल क्लब मोहन बागान के भी फैन हैं, जो टीम अब एटीके के साथ मिलकर एटीके मोहन बागान हो गई है और आईएसएल में खेल रही है।