भारतीय महिला टेबल टेनिस टीम का टोक्यो 2020 का सपना जीवित  

मनिका बत्रा, अर्चना कामत ने स्वीडन को 3-2 से ITTF ओलंपिक क्वालिफायर में मात दी और राउंड ऑफ़ 16 में प्रवेश किया। 

पुर्तगाल में चल रहे ITTF वर्ल्ड टीम क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट में भारतीय मेंस टेबल टेनिस को लक्ज़मबर्ग के खिलाफ मिली जीत के बाद भारतीय वूमेंस टीम ने भी शानदार खेल दिखाया। महिलाओं ने बुधवार को स्वीडन को मात दे अपने कारवां को आगे बढ़ाया। 

भारतीय महिला टेबल टेनिस टीम मनिका बत्रा, आयुका मुखर्जी और अर्चना कामत जैसी खिलाड़ियों के साथ उतरी और अपना कौशल दिखाया। 3-2 से अपने नाम मुकाबला कर अब यह टीम राउंड ऑफ़ 16 में पहुंच चुकी है। 

मनिका बत्रा ने दिखाया दम 

वर्ल्ड रैंकिंग में अपने से बड़ी टीम से भिड़ना भी एक कला है और इस कला को मनिका बत्रा ने खूब दिखायाआयुका मुखर्जी और अर्चना कामत को मेटिल्डा एखोल्म और क्रिस्टीना कल्बर्ग ने सीधे सेटों में मात दे अपने हुनर का प्रमाण दिया। हालांकि डबल्स में भारतीय महिलाओं को शुरुआत में ही मात मिली और उनके मनोबल को झटका लगा।

राउंड ऑफ़ 32 में इस जोड़ी को 7-11, 10-12 और 15-17 से हार का सामना करना पड़ा। इसका फ़र्क बत्रा पर नहीं पड़ा और उन्होंने लिंडा बर्गस्ट्रॉम को 11-4, 6-11, 11-7 और 11-7 से पटकनी देकर जीत का परचम लहराया। 

यह जश्न ज़्यादा देर तक टिक न सका औरआयुका मुखर्जी को मेटिल्डा एखोल्म, ने 11-5, 11-13, 11-6, 11-7 से मात दी। मुखर्जी के पास अपनी प्रतिद्वंदी के हमलों का कोई जवाब न था और उन्हें खराब प्रदर्शन की वजह से मुकाबले में निराशा हाथ लगी।

भारत का पलटवार 

ITTF वर्ल्ड टीम क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट में अब भारतीय महिलाओं को बचे दोनों मुकाबलों को जीतना होगा। ऐसे में बत्रा और अर्चना कामत पर सबकी नज़रें टिकीं होंगी और पूरा देश इनसे जीत की उम्मीद लगाए बैठा होगा। 

साल 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स की गोल्ड मेडल विजेता ने सबसे पहले टीम की कमान संभाली और क्रिस्टीना कल्बर्ग को 10-12, 11-7 . 9-11 , 11-4, 11-7 से पछाड़ अपनी टीम को नई उम्मीद दी। इनकी फॉर्म देख कर लग रहा है कि भारतीय खेमे में अभी और खुशियां आनी बाकी हैं। 

बत्रा की देखा-देखी अर्चना कामत ने भी कौशल दिखाया और टेबल पर अपने हुनर की साख छोड़ी। लिंडा बर्गस्ट्रॉम के खिलाफ खेलते हुए कामत ने अपनी नव्जों को काबू में रखा और हर मौके को सुनहरे पलों में बुना। अंतत: स्कोर भारतीय खिलाड़ी के हक में 11-8, 8-11, 9-11, 11-7 और 13-11 से आया और इस जीत के मायनें तब बढ़ गए जब इसने टोक्यो 2020 की आशाओं को जगाए रखा। भारतीय महिला टीम की 2020 ओलंपिक गेम्स में शिरकत करने की उम्मीदें अभी भी जीवित हैं और पूरा देश इनसे जीत की उम्मीदें लगाए बैठा है।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!