मनिका बत्रा ने रोमांचक अंदाज़ में जीता अपने करियर का दूसरा नेशनल टाइटल

भारतीय दिग्गज पैडलर मनिका बत्रा ने दो गेम में पिछड़ने के बाद वापसी की और 82वें सीनियर नेशनल टेबल टेनिस चैंपियनशिप पर कब्ज़ा जमाते हुए अपना दूसरा राष्ट्रीय ख़िताब जीता।

लेखक सैयद हुसैन ·

गुरुवार को पंचकुला के ताऊ देवी लाल इनडोर स्टेडियम में आयोजित 82वें सीनियर नेशनल टेबल टेनिस चैंपियनशिप (Senior National Table Tennis Championships) के महिला सिंगल्स स्पर्धा में मनिका बत्रा (Manika Batra) ने रोमांचक अंदाज़ में कब्ज़ा जमाया।

फ़ाइनल में मनिका ने पेट्रोलियम स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड (PSPB) की रीठ रिश्या (Reeth Rishya) को 4-2 से शिकस्त दी। मनिका को पहले दोनों गेम में हार मिली थी और फिर उन्होंने कमाल की वापसी करते हुए मुक़ाबला और ख़िताब 8-11, 10-12, 11-1, 11-9, 11-5, 11-6 से अपने नाम किया।

मनिका बत्रा के करियर की ये दूसरी नेशनल टाइटल है, इससे पहले उन्होंने 2015 में हैदराबाद में हुई चैंपियनशिप में जीत हासिल की थी। जबकि 2017 में खेले गए फ़ाइनल में उन्हें सुतीर्थ मुखर्जी (Sutirtha Mukherjee) के हाथों हार मिली थी।

रीठ रिश्या ने फ़ाइनल मुक़ाबले की शुरुआत धमाकेदार अंदाज़ में की थी और देखते ही देखते दो गेम के बाद 2-0 की बढ़त बनाते हुए मनिका पर दबाव ला दिया था।

तीसरे गेम में 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स की विजेता मनिका बत्रा ने लाजवाब अंदाज़ में वापसी की और रीठ को कोई मौक़ा नहीं दिया। 25 वर्षीय रीठ के पास मनिका का कोई जवाब नहीं था और 11-1 से तीसरा गेम बत्रा ने अपने नाम कर लिया।

यहां से रीठ ने कोशिश तो काफ़ी की लेकिन मनिका बत्रा के अनुभव और उनके शॉट्स का कोई जवाब उनके पास नहीं था। मनिका बत्रा ने लगातार 8 प्वाइंट्स जीतते हुए रीठ को पूरी तरह से मैच से बाहर कर दिया।

ख़िताबी मुक़ाबले में ये रीठ रिश्या की मनिका बत्रा के ख़िलाफ़ दूसरी हार है। इससे पहले मनिका बत्रा ने उन्हें 2019 इन्सटिट्यूशनल चैंपियनशिप में भी शिकस्त देकर ख़िताब जीता था।

संयोग देखिए, उस मुक़ाबले में भी रीठ रिश्या को मनिका बत्रा पर शुरुआत में 3-1 की बढ़त हासिल थी, लेकिन फिर मनिका ने वापसी करते हुए ताज अपने सिर पर सजाया।

सीनियर नेशनल टेबल टेनिस चैंपियनशिप में मेंस स्पर्धा की शुरुआत 20 फ़रवरी से क्वालिफ़ाइंग राउंड के साथ होगी जबकि फ़ाइनल मुक़ाबला 23 फ़रवरी को होगा।