मलेशिया की इली के साथ शादी के बंधन में बंधे भारतीय हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह

मनप्रीत सिंह 2012 में सुल्तान ऑफ जोहोर कप में भारतीय जूनियर हॉकी टीम की कप्तानी करते हुए इली सिद्दीकी से मिले थे।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह (Manpreet Singh) बुधवार को जालंधर के जीटीबी नगर गुरुद्वारा में अपनी नौ साल पुरानी मंगेतर इली सिद्दीकी (Illi Saddique) के साथ शादी के बंधन में बंध गए।

मनप्रीत सिंह पहली बार पाकिस्तानी मूल के मलेशियाई नागरिक इली सिद्दीकी से मिले तो वह 2012 में जोहोर कप के सुल्तान में जूनियर भारतीय हॉकी टीम (Indian hockey team) की कप्तानी कर रहे थे। सिद्दीकी मलेशिया में एक निजी विश्वविद्यालय में काम करती हैं। वहीं उनकी मां मसिता मलेशियाई सेना के लिए हॉकी खेलती थीं।

इस जोड़ी ने फरवरी 2014 में दोनों ने सगाई कर ली और इस साल अप्रैल में शादी करने वाले थे लेकिन कोविड-19 की वजह से उन्हें अपनी योजना टालनी पड़ी।

इली सिद्दीकी को शादी के लिए उड़ान भरने के लिए मलेशियाई अधिकारियों और भारत के गृह मामलों के मंत्रालय से विशेष अनुमति लेनी पड़ी थी। शादी के कार्यक्रम में परिवार, दोस्तों और मनप्रीत के इंडिया टीम के साथी मनदीप सिंह (Mandeep Singh) और वरुण कुमार (Varun Kumar) ने हिस्सा लिया, ये फंक्शन पंजाब के जालंधर के मीठापुर गाँव में आयोजित हुआ और यहां कोरोना के नियमों की पूरी पालना हुई।

1992 के बार्सिलोना और 1996 के अटलांटा ओलंपिक में राष्ट्रीय टीम की कप्तानी करने वाले पूर्व भारतीय हॉकी खिलाड़ी परगट सिंह (Pargat Singh) ने भी नव दंपतियों को अपना आशीर्वाद देने पहुंचे।

मनप्रीत सिंह अगस्त में भारत के हॉकी नेशनल कैंप के दौरान कोरोना पॉजीटिव हुए थे, हालांकि अब वह उससे पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। मनप्रीत को जापान में टोक्यो ओलंपिक के दौरान भारतीय हॉकी टीम की कप्तानी मिलने की उम्मीद है, जो जुलाई 2021 से शुरू होंगे।

सिद्दीकी ने एक पहले इंटरव्यू में कहा था कि “शादी के बाद भी मनप्रीत का ध्यान हॉकी पर रहेगा और वह टोक्यो में भारत को गौरवान्वित करने के लिए अपने पति को प्रोत्साहित करेंगी।“

सिद्दीकी ने कहा कि “अब फर्क सिर्फ इतना होगा कि जब भी वह राष्ट्रीय शिविरों या टूर्नामेंट से ब्रेक पर होंगे तो मैं उनके साथ घर पर समय बिताउंगी”।

इसके अलावा उन्होंने कहा “अगले साल एक ओलंपिक हॉकी पदक हमारे विवाहित जीवन के लिए सही शुरुआत होगी। मुझे विश्वास है कि मनप्रीत और उनकी टीम टोक्यो में भारत को गौरवान्वित करने के लिए तैयार है। मनप्रीत को अपना सपना पूरा करते देखना एक सम्मान की बात होगी।”