निकहत ज़रीन के खिलाफ मुकाबले से मैरी कॉम ने अपना नाम वापस लिया

पीठ की चोट की वजह से मैरी कॉम ने लिया फैसला, पिछले दो मुकाबलों में भी भाग नहीं लिया था।

लेखक अरसलान अहमर ·

बिग बाउट बॉक्सिंग लीग में मैरी कॉम और निकहत ज़रीन के बीच मंगलवार होने वाले मुकाबले से पहले एक बड़ी ख़बर सामने आई है। दरअसल, 6 बार की वर्ल्ड चैंपियन मैरी कॉम ने चोट का हवाला देते हुए इस मुकाबले से अपना नाम वापस ले लिया है। हालांकि, उन्होंने सिर्फ ज़रीन के खिलाफ मुकाबले से अपना नाम वापस लिया है और टूर्नामेंट के आगे के मुक़ाबलों के लिए फिलहाल उन्होंने कोई फैसला नहीं लिया है। 

पीठ की चोट से पीड़ित मैरी कॉम

अपनी टीम को मैरी कॉम ने अपनी चोट के बारे में जानकारी देते हुए मुकाबले से ठीक पहले अपना नाम ले लिया। टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी ख़बर के मुताबिक़ टीम पंजाब रॉयल्स के मालिक दिनेश पांडेय ने इस बाबत जानकारी देते हुए कहा "मैरी कॉम को पीठ में सूजन है जिसकी वजह से वह इस मुकाबले में भाग नहीं ले पाएंगी। वह पिछले कुछ समय से पीठ की चोट की समस्या से परेशान चल रही हैं जिसको देखते हुए डॉक्टर ने उन्हें आराम की सलाह दी है। हमारी टीम की वह एक दिग्गज और अहम खिलाड़ी है इसलिए हम उनको लेकर कोई जोखिम नहीं उठाना चाहते। यदि टीम सेमीफाइनल और फाइनल में अपनी जगह बनाने में कामयाब रहती है तो हम चाहेंगे कि वह टीम का हिस्सा बनें।"

उन्होंने आगे कहा "मैरी पीठ की दिक़्क़त की वजह से अपने आख़िरी के दो मुक़ाबलों के लिए रिंग में नहीं उतरी थी। सभी निकहत के खिलाफ उनकी भिड़ंत का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे लेकिन मैरी की सेहत की सलामती हमारी प्राथमिकता है।"

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी ख़बर के अनुसार यह भी कहा गया कि मैरी कॉम के निजी कोच छोटे लाल यादव ने उन्हें निकहत के खिलाफ मैच में रिंग में न उतरने की सलाह दी क्योंकि इस मुकाबले से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ने वाला। यादव के मुताबिक़ दोनों के बीच इस महीने के अंत में होने वाले ट्रायल से पहले इस मुकाबले को लेकर मीडिया में काफी कुछ लिखा जा रहा है जिसकी वजह से इन दोनों मुक्केबाज़ों पर अनचाहा दबाव बन सकता है।

पीठ की चोट की वजह से रिंग में नहीं उतरेगीं मैरी कॉम

शानदार फॉर्म में है दोनों मुक्केबाज़

बिग बाउट बॉक्सिंग लीग में अभी तक दोनों ही मुक्केबाज़ों ने शानदार खेल का मुज़ाहिरा पेश किया है। एक तरफ जहां मैरी कॉम ने तीन मुक़ाबले जीते हैं वहीं दूसरी तरफ उनकी प्रतिद्वंदी निकहत ज़रीन ने चार मैच में फहत हासिल करके अपनी शानदार फॉर्म का प्रमाण पेश किया है। इन दोनों ही मुक्केबाज़ों की सबसे बड़ी जीत कोलम्बिया की स्टार बॉक्सर इंग्रिड वालेंसिया के खिलाफ आई है।

ट्रायल पर होगीं नज़रें

आपको बता दें इस महीने के अंत में दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में भारतीय महिला मुक्केबाज़ों का ट्रायल होना है। इस ट्रायल में विजेता मुक्केबाज़ को चीन के वूहान में फरवरी में होने वाले ओलंपिक क्वालिफायर में रिंग में उतरने का मौक़ा मिलेगा।