मैरी कॉम को मिलेगा पद्म विभूषण, पी वी सिंधु को पद्म भूषण

भारत के 71 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर, ओलंपिक कांस्य पदक विजेता मैरी कॉम को देश का दूसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। 

लेखक सैयद हुसैन ·

ओलंपिक कांस्य पदक विजेता एम सी मैरी कॉम को भारत के 71वें गणतंत्र दिवस के मौक़े पर भारत के दूसरे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण से सम्मानित किया जाएगा, जबकि भारतीय ओलंपिक रजत पदक विजेता पी वी सिंधु को भारत के तीसरे उच्चतम नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण से सम्मानित किया जाएगा।

पद्म श्री - भारत के चौथे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कारों में भारतीय हॉकी महिला कप्तान रानी रामपाल, पूर्व भारतीय क्रिकेटर ज़हीर खान, पूर्व भारतीय पुरुष हॉकी खिलाड़ी एमपी गणेश, निशानेबाज़ जीतू राय, पूर्व भारतीय फ़ुटबॉल कप्तान ओइनम बेमबेम देवी और तीरंदाज तरुणदीप राय शामिल हैं।

मैजिकल मैरी कॉम

भारतीय मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम छह बार की विश्व एमेच्योर बॉक्सिंग चैंपियन हैं और 2006 में पद्म श्री और 2013 में पद्म भूषण जीत चुकी हैं।

पद्म श्री और पद्म भूषण के बाद अब एम सी मैरी कॉम पद्म विभूषण से नवाज़ी जाएंगी

36 वर्षीय मुक्केबाज़ और दो बच्चों की मां ने 2012 लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक जीता और अब टोक्यो 2020 में शामिल होने की उम्मीद भी कर रही हैं, जिसके लिए उन्हें क्वालिफ़ायर मुक़ाबले खेलने हैं।

पी वी सिंधु: बैडमिंटन की वर्ल्ड चैंपियन

पीवी सिंधु ने रियो में 2016 ओलंपिक में रजत पदक जीता और आज तक बैडमिंटन में विश्व चैम्पियनशिप का स्वर्ण जीतने वाली एकमात्र भारतीय हैं। एक ऐसी उपलब्धि जो उन्होंने अगस्त 2019 में हासिल की थी।

मैरी कॉम के साथ साथ ये दिग्गज शटलर को भी उम्मीद है कि टोक्यो 2020 में भी एक और ओलंपिक पदक पर कब्ज़ा जमाया जाए।

जीतू राय: जीत के पर्यायवाची

2016 में खेल रत्न पुरस्कार जीतने के बाद, भारतीय शूटर जीतू राय दो बार के कॉमनवेल्थ गेम्स के स्वर्ण पदक विजेता हैं, जिन्होंने 2014 में ग्लासगो में 50 मीटर पिस्टल श्रेणी में और 2018 में गोल्ड कोस्ट में 10 मीटर एयर पिस्टल श्रेणी में गोल्ड मेडल जीता था।

जीतू राय आईएसएसएफ़ वर्ल्ड शूटिंग चैंपियनशिप में रजत पदक विजेता और दो बार आईएसएसएफ़ विश्व कप स्वर्ण पदक विजेता भी हैं।

देश के 71वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा इन सभी नामों पर औपचारिक तौर पर मंज़ूरी दे दी गई। ये पुरस्कार राष्ट्रपति भवन में एक समारोह के दौरान सभी विजेताओं को दिए जाएंगे।