माइकल फेल्प्स के पूर्व सलाहकार सोकोलोवस भारत में तैराकी शिविर के दौरे पर 

तैराकी संघ द्वारा 11 जनवरी से 21 फरवरी के बीच सीएसई, बेंगलुरु में आयोजित किया जा रहा है राष्ट्रीय शिविर में

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

भारत के ओलंपिक संभावित खिलाड़ी श्रीहरि नटराज, कुशाग्र रावत और मिहिर अम्ब्रे अलग तरह के पहले प्रशिक्षण शिविर में भाग लेने के लिए तैयार हैं, क्योंकि तैराकी संघ (SFI) ने सीएसई, बेंगलुरु के राष्ट्रीय शिविर में जाने माने फिजियोलॉजिस्ट और खेल विज्ञान विशेषज्ञ डॉ. जिनाडिजस सोकोलोवस की सेवाएं ली हैं।

11 जनवरी से 21 फरवरी के बीच आयोजित हो रहा सीनियर राष्ट्रीय शिविर, कोरोना वायरस महामारी प्रकोप के बाद पहला शिविर है। 

नटराज, रावत और अम्ब्रे ने टोक्यो ओलंपिक के लिए B क्वालीफिकेशन मार्क हासिल कर लिया है, लेकिन यह सीधे क्वालिफिकेशन हासिल करना सुनिश्चित नहीं करता। क्वालिफिकेशन अवधि की अंतिम तारीख 27 जून तक तैराकों का कुल कोटा पूरा नहीं हुआ, तो यह तिकड़ी टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर सकती है।

प्रसिद्ध खेल विज्ञान विशेषज्ञ सोकोलोवस पूर्व में सर्वश्रेष्ठ ओलंपियन माइकल फेल्प्स के सलाहकार के रूप में काम कर चुके हैं। 

स्विमिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के महासचिव मोनाल चोकशी का मानना है कि सोकोलोवस भारतीय तैराकों के बीच गुणात्मक परिवर्तन लायेंगे। 

चोकशी ने पीटीआई भाषा को बताया, "मैं भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) का आभारी हूं जिसने प्रख्यात खेल विज्ञान विशेषज्ञ डॉ. जिनाडिजस सोकोलोवस को भारत लाने के SFI के प्रस्ताव को मंजूरी दी।" 

"विश्व-स्तरीय खेल विज्ञान समर्थक को 2024 और 2028 (ओलंपिक) के लिए हमारे सर्वश्रेष्ठ तैराकों और संभावित प्रतिभाओं के करीब लाने से उनमें गुणात्मक परिवर्तन आयेगा।"

बीजिंग में रिकॉर्ड आठ गोल्ड मेडल जीतने वाले तैराक माइकल फ़ेल्प्स 

सोकोलोवस के दौरे पर होने वाला करीब 8.78 लाख रुपये का खर्च टार्गेट ओलंपिक पोडियम स्कीम (TOPS) से वहन किया जायेगा। 

इसके अलावा, राष्ट्रीय शिविर के बाद तैराकी महासंघ दक्षिण अफ्रीका का दौरा करने की योजना बना रहा है।  

चोकशी के हवाले से द न्यू इंडियन एक्सप्रेस में लिखा है, "हमारे पास दक्षिण अफ्रीका में एक एक्सपोज़र ट्रिप का विकल्प है, जिसमें प्रतियोगिता और प्रशिक्षण दोनों शामिल होंगे। यह दौरा मार्च-अप्रैल के आसपास हो सकता है।"

उन्होंने कहा, "इस दौरान दक्षिण अफ्रीका में तीन प्रतियोगिताएं और ओलंपिक क्वालीफिकेशन स्पर्धाएं भी होंगी। ये सब कुछ यात्रा प्रतिबंध और वहां के अन्य प्रोटोकॉल पर निर्भर करता है।”

पिछले साल, टोक्यो के संभावित खिलाड़ियों ने दुबई के एक्वा नेशन स्विमिंग अकादमी में कोच एसी जयराज की देखरेख में प्रशिक्षण लिया था।