मिल्खा सिंह की बेटी न्यूयॉर्क के अस्पताल में लड़ रही हैं कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ जंग

मोना सिंह एक पेशेवर डॉक्टर हैं और वह संपूर्ण समर्पण के साथ अपना फ़र्ज़ अदा कर रही हैं और इस महामारी के खिलाफ लड़ रही हैं।

पूर्व भारतीय स्टार धावक मिल्खा सिंह (Milkha Singh) की बेटी फिलहाल कोरोना वायरस (COVID-19) से लड़ रही हैं। मोना सिंह न्यूयॉर्क के हॉस्पिटल में डॉक्टर हैं और उन्होंने बाकी डॉक्टरों की तरह ही इस खतरनाक बीमारी के खिलाफ लड़ने का फैसला किया है। प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (PTI) से बात करते हुए मोना के भाई और जाने माने गोल्फर जीवा मिल्खा सिंह (Jeeva Milkha Singh) ने कहा “वह न्यूयॉर्क के मेट्रोपोलिटन सेंटर अस्पताल के इमरजेंसी रूम में हैं।”

चार बार के यूरोपियन टूर चैंपियन ने आगे कहा कि, “जब भी कोई COVID-19 का मरीज़ आता है तो उन्हें उसे देखना होता है। फिर उन्हें चेक करती हैं और इंट्यूबेशन देती हैं और फिर मरीज़ को क्वारंटाइन के ख़ास वार्ड में भेज दिया जाता है।''

गौरतलब है कि मोना को दो दशक हो गए है इस पेशे में और वह अपना काम बखूबी समझती हैं। पटियाला मेडिकल कॉलेज से तालीम लेकर वे 1990 में यूएस चली गईं थीं और आज भी वे वह इस महामारी का सामना डट कर रही हैं।

भाई जीवा मिल्खा सिंह ने आगे कहा “मुझे उन पर गर्व है। वह रोज़ाना एक मैराथन दौड़ रही हैं। वह इस समय हफ्ते में 5 दिन काम करती हैं। कभी सुबह की शिफ्ट तो कभी रात की तो कभी 12 घंटे की शिफ्ट। वे अपने काम में अपना सर्वश्रेष्ठ दे रही हैं।”

आपको बता दें कि अमेरिका इस समय उन मुल्कों में हैं जहां इस बीमारी ने अपने जाल अच्छी तरह से बुना हुआ है और ऐसे में मोना को वहां काम करते देखना उनके परिवार के लिए आसान नहीं है। उन्होंने आगे बताया “मुझे चिंता होती है। जब आप लोगों का इलाज करते हैं तो कुछ भी हो सकता है। इस वजह से हम उनसे रोज़ बात करते हैं। मेरी माँ और पिता दोनों उनसे बात करते हैं और संतुष्टि लेते हैं।खेल के परिवार में जन्मी एक डॉक्टरखेल के परिवार से ताल्लुक रखने के बावजूद भी मोना मिल्खा सिंह ने डॉक्टरी को अपना पेशा चुना। जहां उनके पिता मिल्खा सिंह भारत के पहले व्यक्तिगत स्पोर्ट्स स्टार बने, अपने नाम कई रिकॉर्ड किए, बड़ी बड़ी बुलंदियों को देखा तो दूसरी तरफ उनकी माँ निर्मल कौर (Nirmal Kaur) भारतीय महिला वॉलीबॉल टीम की अगुवाई कर चुकी हैं।

मोना के भाई जीव मिल्खा सिंह ने भी खेल की दुनिया में खूब नाम कमाया है। गोल्फ की दुनिया में उन्होंने बड़े से बड़ा मुकाम हासिल किया है। इतना ही नहीं वे यूरोपियन टूर में प्रवेश करने वाले पहले भारतीय भी बनें। टूर में उन्होंने 4 इवेंट जीत कर अपने करियर में चार चांद लगा दिए। इतना ही नहीं जीव मिल्खा सिंह वर्ल्ड गोल्फ रैंकिंग के टॉप 100 में आने वाले पहले भारतीय रह चुके हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!