भारतीय पहलवान नरसिंह यादव और गुरप्रीत सिंह हुए कोरोना पॉजिटिव

दो भारतीय पहलवानों के साथ साथ फिजियोथेरेपिस्ट पर भी किया कोरोना ने वार। तीनों हैं अस्पताल में दाखिल।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

भारतीय पहलवान नरसिंह यादव (Narsingh Yadav) जो कि 74 किग्रा भारवर्ग में लड़ते हैं वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इतना ही नहीं बल्कि इनके साथ के ग्रीको रोमन पहलवान गुरप्रीत सिंह (Gurpreet Singh) और भारतीय पहलवानी के फिजियोथेरेपिस्ट विशाल राय (Vishal Rai) भी इस वायरस से संक्रमित हैं।

इस विषय पर बात करते हुए स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (Sports Authority of India – SAI) ने बताया “वे तीनों स्पर्शोन्मुख हैं और उन्हें सोनीपत के भगवान महावीर दास अस्पताल में रखा गया है।

इन तीनों ने दिवाली की छुट्टी के बाद सोनीपत में लगे टोक्यो ओलंपिक की तैयारी कर रहे SAI कैंप में दोबारा दाखिला लिया था और उसके बाद वह पॉजिटिव पाए गए थे।

SAI के मानक संचालन प्रक्रियाएं (स्टैण्डर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर) के तहत छठे दिन (26 नवंबर, शुक्रवार) उनका टेस्ट किया गया और इसके बाद आवश्यक निर्णय लिए गए।

ग़ौरतलब है कि नरसिंह यादव को 4 सालों के लिए डोपिंग के चलते बैन किया गया था और अब वह इतने बड़े अंतराल के बाद पहली बार अंतरराष्ट्रीय स्पर्धा के लिए तैयार थे। ऐसे में कोरोना वायरस (COVID-19) से संक्रमित हो जाना उनके लिए आसान नहीं है और उनकी मुश्किलें बढती चली जा रही हैं।

बेलग्रेड में 12 दिसंबर से व्यक्तिगत विश्व कप होने जा रहा है और नरसिंह उनमें भारत की ओर से हिस्सा लेने जा रहे थे। इसी प्रतियोगिता में भारतीय पहलवान जितेंदर कुमार (Jitender Kumar) भी भारत की ओर से हिस्सा लेने वाले थे लेकिन चोट के चलते उन्होंने अपना नाम वापस ले लिया है।

नरसिंह का बैन 2016 रियो ओलंपिक गेम्स के बाद शुरू हो गया था और वह इस साल अगस्त से दोबारा कुश्ती करने के लिए वरणीय हैं।

अब जब कोरोना वायरस के कहर की वजह कोई प्रतियोगिता या तो रद्द हो रही या स्थगित, तो ऐसे में भारतीय रेसलर नरसिंह यादव के लिए लय में लौटने के लिए यह एक सुनहरा मौका था। वहीं दूसरी ओर गुरप्रीत सिंह ने जनवरी में हुई रोम रैंकिंग सीरीज़ टूर्नामेंट में गोल्ड मेडल अपने नाम किया था।

 सितंबर के महीने में 3 भारतीय पहलवान इस सक्रमण की चपेट में आए थे और वह थे दीपक पुनिया (Deepak Punia) (86kg), नवीन (Navin) (65kg) और कृषण (Krishan) (125kg)।

ग़ौरतलब है कि महिला नेशनल कैंप को भी स्थगित कर दिया गया है और इसका मुख्य कारण यह है कि ज़्यादातर पहलवानों में अपने घर पर ही रह कर अपनी ट्रेनिंग को अंजाम देने का फैसला किया है।