नेशनल ग्रीको रोमन चैम्पियनशिप: डिफेंडिंग चैंपियन गुरप्रीत सिंह ने बरकरार रखा खिताब

सभी विजेताओं को अपनी-अपनी श्रेणियों में अगले महीने मैटेलो पेल्कोनिक रोम रैंकिंग सीरीज में हिस्सा लेने का मिला मौका

लेखक भारत शर्मा ·

जालंधर में आयोजित 65वें नेशनल ग्रीको रोमन नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप के अंतिम दिन रविवार को डिफेंडिंग चैंपियन गुरप्रीत सिंह 77 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीतकर सबकी उम्मीदों को उम्मीदों पर खरा उतरे।

पंजाब के पहलवान ने अंतिम मुकाबले में मोहम्मद रफीक होली को धूल चटाई। गुरप्रीत का यह प्रभावशाली प्रदर्शन 2020 में विश्व कप की व्यक्तिगत स्पर्धा से बाहर होने के बाद आया है। इतना ही नहीं चैम्पियनशिप से पहले वह कोरोना महामारी की चपेट में भी आए थे। संयोग से पंजाब के पहलवान ने फाइनल मुकाबले में कोई कमी नहीं छोड़ी।

यह जीत एशियाई ओलंपिक क्वालीफायर से पहले गुरप्रीत के आत्मविश्वास को बहुत ऊंचे स्तर पर ले जाएगी। उन्होंने पहले इटली के सासरी में विश्व रैंकिंग सीरीज में स्वर्ण पदक जीता था। ऐसे में वह विश्व रैंकिंग सीरीज में एक के बाद एक खिताब जीतने वाले पहले भारतीय बन गए हैं।

इसी के साथ दो दिवसीय कुश्ती इवेंट का समापन हो गया है। इसमें तीन स्पर्धाओं में मुकाबले आयोजित किए गए थे। जिसमें फ्रीस्टाइल और महिलाओं के इवेंट भी शामिल थे जो पिछले महीने विभिन्न स्थानों पर आयोजित किए गए थे।

एशियाई चैम्पियनशिप के स्वर्ण पदक विजेता सुनील कुमार के लिए भी यह एक बेहतरनी दिन था। उन्होंने अपने विजयी अभियान को बढ़ाया और शीर्ष पोडियम फिनिश को फिर से हासिल करते हुए 87 किग्रा इवेंट में अपनी जीत पर मुहर लगा दी।

सर्विस स्पोर्ट्स कंट्रोल बोर्ड (SSCB) की कुश्ती टीम ने इस स्पर्धा में कट्टर प्रतिद्वंद्वी रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड (RSPB) को बाहर करने के बाद सर्वश्रेष्ठ टीम का पुरस्कार जीता। सर्विसेज ने कुल 190 अंक हासिल किए और रेलवे केवल 170 अंक ही जुटा सका।

अपने-अपने वर्ग में सभी विजेता अगले महीने माटेओ पेल्कोनिक रोम रैंकिंग सीरीज में हिस्सा लेंगे।

जबकि, अगले सप्ताह सोनीपत के साई सेंटर में शुरू होने वाले राष्ट्रीय तैयारी शिविर के लिए प्रत्येक भार वर्ग के शीर्ष चार फिनिशरों को चुना जाएगा।

नेशनल ग्रीको रोमन चैम्पियनशिप के अंतिम परिणाम इस प्रकार है-

55 किग्रा - 1. अर्जुन हलकुर्की (SSBC), 2. विजय (SSBC)

60 किग्रा - 1. मनीष (RSPB), सनी जाधव (मध्य प्रदेश)

63 किग्रा - 1. नीरज (दिल्ली), 2. गोविंद (महाराष्ट्र)

67 किग्रा - 1. गौरव (उत्तर प्रदेश), 2. सूरजमल (SSBC)

72 किग्रा - 1. कुलदीप मलिक (RSPB), 2. समीर (महाराष्ट्र)

77 किग्रा - 1. गुरप्रीत सिंह (पंजाब), 2. मो रफीक होली (SSCB)

82 किग्रा - 1. हरप्रीत सिंह (पंजाब), 2. संजीत (SSBC)

87 किग्रा - 1. सुनील कुमार (RSPB), 2. प्रभुपाल सिंह (पंजाब)

97 किग्रा - 1. दीपांशु (SSCB), 2. रवि (RSPB)

130 किग्रा - 1. नवीन (SSCB), 2. रवि (दिल्ली)