युवाओं के नाम रहा नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप का पहला दिन

नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप के पहले दिन जालंधर में दिखा भारतीय कुश्ती का सुनहरा भविष्य

लेखक सैयद हुसैन ·

बजरंग पूनिया, रवि दहिया, दीपक पूनिया और राहुल अवारे जैसे पहलवानों के नेशनल नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप से नाम वापस लेने के बाद भारतीय युवा पहलवानों के पास खुद को इस मंच पर साबित करने का सुनहरा मौक़ा है। जिसमें काफ़ी हद तक कुछ युवा पहलवान क़ामयाब भी रहे। 

भारत को गौरव बलियान के तौर पर 74 किग्रा वर्ग में नया चैंपियन मिला तो 61 किग्रा वर्ग में रविंदर ने स्वर्ण पदक पर कब्ज़ा जमाया। सुमित मलिक ने एक बार फिर 125 किग्रा वर्ग में अपना वर्चस्व क़ायम रखा, तो वापसी कर रहे अमित दहिया ने भी यादगार प्रदर्शन करते हुए 65 किग्रा वर्ग में चैंपियन बने।

पंजाब के जालंधर में शुक्रवार से शुरू हुई नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप के पहले दिन पुरुष फ़्रीस्टाइल के मुक़ाबले हुए। इस चैंपियनशिप के सभी स्वर्ण पदक विजेताओं को दक्षिण एशियाई खेलों में सीधे प्रवेश मिल जाएगा। कुश्ती के दिवानों की नज़र तीन दिनों तक चलने वाली इस चैंपियनशिप पर बनी रहेगी।

गौरव, रविंदर ने किया प्रभावित

74 किग्रा वर्ग में हाथ आज़मा रहे गौरव बलियान पर सभी की नज़रें थीं, ये वही कैटेगिरी है जिसमें दिग्गज पहलवान सुशील कुमार भी खेलते हैं। सभी की उम्मीदों पर खरे उतरते हुए इस 19 वर्षीय पहलवान ने फ़ाइनल मुकाबले में परवीन राणा को 5-3 से शिकस्त देते हुए नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप में नंबर-1 पर रहे।

उधर अंडर-23 वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाले रविंदर 61 किग्रा वर्ग में इस चैंपियनशिप में भी सबसे बड़े दावेदार थे। फ़ाइनल मुकाबले में सर्विसेज़ की ओर से खेलने वाले इस पहलवान के सामने फ़ॉर्म में चल रहे पहलवान सोनाबा तानाजी की कठिन चुनौती थी। लेकिन रविंदर ने कमाल का प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल का ये मुक़ाबला 12-2 के बड़े अंतर के साथ जीतते हुए उम्मीदों पर पूरी तरह खरे उतरे।

कमाल की वापसी

2014 कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीतकर सुर्ख़ियों में आए अमित दहिया को भारत के आने वाले समय का बड़ा सितारा माना जाने लगा था, लेकिन 2015 में उन्हें घुटने में भीषण चोट आई जिसके बाद वह 4 सालों तक मैट से बाहर रहे। 

अब जब नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप में अमित वापसी कर रहे थे तो सभी की नज़रें इस पर टिकीं थीं कि यह 25 वर्षीय पहलवान कैसा प्रदर्शन करता है। 65 किग्रा वर्ग में अमित ने चोट को कहीं पीछे छोड़ते हुए धमाकेदार प्रदर्शन किया और स्वर्ण पदक जीतकर अपनी वापसी का एलान कर दिया।

एक और शानदार प्रदर्शन रहा 125 किग्रा वर्ग में सुमित मलिक का जिन्होंने फ़ाइनल मुकाबले में अभिजीत को 5-0 से हराते हुए चैंपियन बने। 97 किग्रा में सत्यव्रत कादियान भी पोडियम में सबसे ऊपर रहे, उन्होंने कपिल चौधरी को फ़ाइनल में आसानी से 9-0 से मात दी। इस जीत के साथ अब ये दोनों ही पहलवानों को अगले महीने होने वाले दक्षिण एशियाई खेलों का टिकट हासिल हो गया है।

दूसरे दिन क्या रहेगा ख़ास ?

नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप का दूसरा दिन बेहद ख़ास होने वाला है, क्योंकि इस दिन भारतीय महिला दिग्गज पहलवानों को मैट पर देखा जा सकता है। जिनमें विनेश फ़ोगाट(55 किग्रा), साक्षी मलिक (62 किग्रा) और दिव्या काकरण (68 किग्रा) जैसे बड़े नाम शामिल हैं। इस चैंपियनशिप के सभी मुक़ाबलों का सीधा प्रसारण आप ऑनलाइन www.wrestlingtv.in ऑनलाइन देख सकते हैं, इसके अलावा सारी अपडेट के लिए आप हमारे साथ जुड़े रहें।