NSNIS 46 प्रतिष्ठित एथलीटों को कोचिंग डिप्लोमा कोर्स के लिए देगा सीधे प्रवेश  

पटियाला का नेताजी सुभाष नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पोर्ट्स एशिया के प्रमुख खेल संस्थानों में से एक है और खेल कोचिंग पाठ्यक्रमों के लिए प्रसिद्ध है।

पटियाला के नेताजी सुभाष नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पोर्ट्स (NSNIS) ने अपने प्रमुख डिप्लोमा कोर्स के प्रवेश नियमों में ढील दी है ताकि अधिक प्रतिष्ठित भारतीय खिलाड़ी कोच बन सकें।

इस संस्थान को राष्ट्रीय खेल संस्थान के रूप में जाना जाता है, NSNIS एशिया का सबसे बड़ा खेल संस्थान है और इसने वर्षों में कई उच्च कैलिबर कोचों को बनाया है।

पिछले मई में भारत के खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने घोषणा की थी कि संस्थान ने 2020-21 बैच से शुरू होने वाले 23 खेलों में 46 प्रतिष्ठित एथलीटों (प्रत्येक खेल में 1 पुरुष और 1 महिला) को सीधे प्रवेश के लिए प्रावधान किया है।

प्रतिष्ठित एथलीट श्रेणी के तहत चुने गए उम्मीदवारों को नियमित उम्मीदवारों की तरह प्रवेश परीक्षा और इंटरव्यू देने की आवश्यकता नहीं है और वे सीधे चिकित्सा और शारीरिक परीक्षणों के लिए जा सकते हैं।

एक बयान में कहा गया है, 'मौजूदा नीति में कई बदलावों को शामिल किया गया है ताकि ये सुनिश्चित किया जा सके कि नए कोच भारत की बढ़ती स्पोर्ट्स इको सिस्टम की बढ़ती ज़रूरतों को पूरा करने और देश में सर्वश्रेष्ठ प्रतिभा को आकर्षित करने में सक्षम हों।'

हालांकि, शॉर्टलिस्ट होने के लिए, एथलीटों को कुछ मानदंडों को पूरा करने की आवश्यकता होती थी, जिसमें अब थोड़ी ढील दी गई है।

योग्यता मानदंड में हुआ बदलाव

पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए न्यूनतम शिक्षा योग्यता 10 + 2 पास है, जो पहले कि तरह ही समान है। लेकिन खेल उपलब्धियों में कट-ऑफ के साथ कुछ बदलाव किए गए हैं। जबकि सीनियर विश्व चैंपियनशिप में पदक जीतना पहले अनिवार्य था, अब सीधे प्रवेश के लिए एक भागीदारी पर्याप्त है।

इसी तरह एशियाई खेलों या राष्ट्रमंडल खेलों में से कोई भी पदक विजेता - स्वर्ण, रजत या कांस्य, अब कट-ऑफ के लिए योग्य होंगे, क्योंकि पिछले योग्यता मानदंडों की तुलना में इनमें से किसी भी इवेंट में स्वर्ण पदक की आवश्यकता थी।

ओलंपियन के लिए नियमों में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। कोई भी एथलीट जिसने खेलों में भाग लिया है, पाठ्यक्रम के लिए आवेदन कर सकता है।

यदि योग्यता मानदंडों को पूरा करने वाले दो या अधिक प्रतिष्ठित पुरुष या महिला एथलीट एक ही कोर्स के लिए आवेदन करते हैं, तो प्वाइंट सिस्टम के द्वारा अंतिम उम्मीदवार का चयन किया जाएगा।

इसके अलावा महामारी की स्थिति को देखते हुए नामांकन के लिए ऑनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि भी 31 जुलाई तक बढ़ा दी गई है।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!