राष्ट्रीय खेल दिवस पर भारतीय प्रतिभाओं को राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

ये राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर देश के शीर्ष खेल सितारों के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर था। COVID महामारी के कारण इसे पहली बार 'वर्चुअल' समारोह के रूप में आयोजित किया गया।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

भारत के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के लिए ये उत्सव का दिन था, जहां उन्हें शनिवार को राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर देश के सर्वोच्च खेल सम्मान से सम्मानित किया गया।

एक अनोखे और पहले वर्चुअल समारोह में 60 एथलीट और कोच, 11 स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) और नेशनल इंफॉर्मेटिक्स सेंटर (NIC) से शामिल हुए, जिन्होंने भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से अपने पुरस्कार प्राप्त किए।

रेसलर विनेश फोगाट, बैडमिंटन स्टार सात्विकसाईराज रैंकीरेड्डी (Satwiksairaj Rankireddy) और दो अन्य एथलीट COVID के परीक्षण में पॉजिटिव आने के बाद इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाए, जबकि क्रिकेटर रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और ईशांत शर्मा (Ishant Sharma) ने भी इस मौके को गंवा दिया, क्योंकि वो इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) खेलने के लिए UAE में हैं।

प्रसिद्ध एथलेटिक्स कोच पुरुषोत्तम राय (Purushottam Rai) भी इसमें अनुपस्थिति रहे, क्योंकि उनकी शुक्रवार की शाम कार्डियक अरेस्ट के कारण मृत्यु हो गई। उन्हें द्रोणाचार्य (लाइफ टाइम) पुरस्कार दिया गया था।

कोरोना वायरस के खिलाफ अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, एथलीट पीपीई किट में अपने संबंधित साई और एनआईसी सेंटर पर गए।

भारतीय हॉकी कप्तान और खेल रत्न रानी रामपाल की राष्ट्रीय खेल पुरस्कार समारोह में भाग लेने के लिए SAI बेंगलुरु जाने से पहले की फोटो

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने भारतीय खेल को आगे ले जाने में अच्छे काम के लिए 74 पुरस्कार विजेताओं को धन्यवाद दिया। जिन्हें नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन से सम्मानित किया गया।

उन्होंने राजीव गांधी खेल रत्न विजेताओं, देश के सर्वोच्च खेल सम्मान के लिए विशेष प्रशंसा की, और गर्व महसूस किया कि उनमें से तीन - मनिका बत्रा (Manika Batra), रानी रामपाल (Rani Rampal) और विनेश फोगाट - महिलाएं थीं।

रानी रामपाल ने फ़र्स्टपोस्ट को बताया, "मैं दो बेहतरीन महिला एथलीटों के साथ इस पुरस्कार को पाने के लिए सम्मानित महसूस कर रही हूं। रियो ओलंपिक में भी सभी पदक महिला एथलीटों ने जीते थे, इसलिए ऐसा माहौल देखकर अच्छा लगा।"

उच्च पुरस्कार राशि प्राप्त करने वाले विजेता

केंद्रीय मंत्री और खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने घोषणा की है कि सात से पांच श्रेणियों में पुरस्कार प्राप्त करने वाले एथलीटों को नकद प्रोत्साहन भी मिलेगा। 

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए प्रोत्साहन राशि 7.5 लाख से बढ़ाकर 25 लाख कर दिया गया है जबकि अर्जुन पुरस्कार विजेताओं की प्रोत्साहन राशि 5 लाख से बढ़ाकर 15 लाख कर दिया गया।

द्रोणाचार्य (लाइफ टाइम) पुरस्कार प्राप्त करने वाले को पहले, 5 लाख दिए जाते थे, अब उन्हें नकद पुरस्कार के रूप में 15 लाख रूपए दिए जाएंगे, जबकि द्रोणाचार्य (नियमित) के पुरस्कार विजेताओं को 5 लाख के बदले 10 लाख दिए जाएंगे। 

ध्यान चंद पुरस्कार विजेताओं को 5 लाख के बजाय 10 लाख दिए जाएंगे। 

रिजिजू ने कहा, "खेल पुरस्कारों के लिए पुरस्कार राशि की आखिरी बार 2008 में समीक्षा की गई थी। जब हमारे खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करते हैं, तो उन्हें पुरस्कृत किया जाता है।"

"मैं उन सभी पुरस्कार विजेताओं को बधाई और शुभकामनाएं देना चाहता हूं, जिन्होंने देश का मान बढ़ाया है।"

विज्ञान भवन से वर्चुअल राष्ट्रीय खेल पुरस्कार समारोह में भाग लेने वाले रिजिजू ने ध्यान चंद को पुष्पांजलि अर्पित की, जिनकी 115 वीं जयंती दिल्ली के नेशनल स्टेडियम में मनाई गई, जिसका नाम हॉकी लीजेंड के नाम पर रखा गया है।

किरेन रिजिजू ने राष्ट्रीय खेल दिवस पर ध्यानचंद की प्रतिमा पर श्रद्धांजलि अर्पित की

राष्ट्रीय खेल पुरस्कार 2020 के विजेताओं की पूरी सूची

राजीव गांधी खेल रत्न: रोहित शर्मा (क्रिकेट), श्री मरियप्पन टी (पैरा एथलेटिक्स), मनिका बत्रा (टेबल टेनिस), विनेश फोगाट (कुश्ती), रानी रामपाल (हॉकी)

द्रोणाचार्य पुरस्कार: जूड फेलिक्स (हॉकी), योगेश मालवीय (मल्लखंब), जसपाल राणा (निशानेबाजी), केके हांडू (वुशु), गौरव खन्ना (पैरा बैडमिंटन)

द्रोणाचार्य पुरस्कार (लाइफटाइम): धर्मेंद्र तिवारी (तीरंदाजी), पुरुषोत्तम राय (एथलेटिक्स), शिव सिंह (मुक्केबाजी), रोमेश पठानिया (हॉकी), केके हुड्डा (कबड्डी), वीबी मुनीश्वर (पैरा पावरलिफ्टिंग), नरेश कुमार (टेनिस), ओपी दहिया (कुश्ती)।

अर्जुन पुरस्कार: अतानु दास (तीरंदाजी), दुती चंद (एथलेटिक्स), सात्विकसाईराज रैंकिरेड्डी (बैडमिंटन), चिराग शेट्टी (बैडमिंटन), विशेश भृगुवंशी (बास्केटबॉल), मनीष कौशिक (मुक्केबाजी), लवलीना बोर्गोहेन (मुक्केबाजी) , दीप्ति शर्मा (क्रिकेट), अजय सावंत (एक्वेस्ट्रियन), संदेश झिंगन (फुटबॉल), अदिति अशोक (गोल्फ), आकाशदीप सिंह (हॉकी), दीपिका ठाकुर (हॉकी), दीपा हुड्डा (कबड्डी), सुधाकर काले (खो-खो) , दत्तू भोकानल (रोइंग), मनु भाकर (निशानेबाजी), सौरभ चौधरी (निशानेबाजी), मधुरिका पाटकर (टेबल टेनिस), दिविज शरण (टेनिस), शिवा केशवन (विंटर स्पोर्ट्स), दिव्या काकरान (कुश्ती), राहुल अवारे (कुश्ती) , सुयश जाधव (पैरा स्विमिंग), संदीप चौधरी (पैरा एथलेटिक्स), मनीष नरवाल (पैरा शूटिंग)।

ध्यानचंद पुरस्कार: कुलदीप सिंह भुल्लर (एथलेटिक्स), जिंसी फिलिप्स (एथलेटिक्स), प्रदीप गंधे (बैडमिंटन), तृप्ति मुर्गुंडे (बैडमिंटन), एन उषा (मुक्केबाजी), लाखा सिंह (मुक्केबाजी), सुखविंदर सिंह संधू (फुटबॉल), अजीत सिंह (हॉकी), मनप्रीत सिंह (कबड्डी), जे रंजीथ कुमार (पैरा एथलेटिक्स), सत्यप्रकाश तिवारी (पैरा बैडमिंटन), मंजीत सिंह (रोइंग), सचिन नाग (तैराकी), नंदन बाल (टेनिस), नेत्रपाल हुड्डा (कुश्ती)।

तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार: सरफराज सिंह, टाक तमुत, स्वर्गीय मगन बिस्सा (इनकी पत्नी सुषमा बिस्सा ने पुरस्कार लिया), अनिता देवी, केवल हिरेन कक्का, सतेंद्र सिंह।