टोक्यो ओलंपिक की तैयारियों पर डालें एक नज़र

जापान ने 2020 में होने वाले टोक्यो ओलंपिक खेलों के लिए 400 अरब जापानी येन खर्च किए हैं। ऐसी ही सभी रोचक जानकारियों पर एक नज़र डालें। 

लेखक रितेश जायसवाल ·

कभी चुनावी बुखार तो कभी क्रिकेट के खुमार में डूबा हमारा देश कई बड़ी चीज़ों से अनजान रह जाता है। अब 2020 में जापान की राजधानी टोक्यो में होने वाले ओलंपिक के खेलों को ही ले लीजिए। अब जब ओलंपिक का बिगुल बजने में महज़ एक साल से भी कम का समय शेष रह गया है तो ऐसे में यह जानना बेहद ही ज़रूरी हो जाता है कि ओलंपिक 2020 को लेकर जापान कितना तैयार है। आपको बता दें जापान ओलंपिक की मेज़बानी करने के लिए पूरी तरह तैयार नज़र आ रहा है। उसकी तैयारियां पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने का काम कर रही हैं। 

मसलन कि इस बार टोक्यो ओलंपिक 2020 में जापान ई-कचरे की रिसाइकलिंग कर विजेताओं को देने वाले पदक का निर्माण करेगा। ये सभी छोटी-छोटी बातें बेहद रोमांचक हैं, जिनपर ध्यान देना जरूरी हो जाता है। टोक्यो में 24 जुलाई से 9 अगस्त 2020 तक ओलंपिक खेलों का आयोजन होगा। इनमें 206 देश भाग लेंगे, जिसमें 33 खेलों में 324 स्पर्धाएं होंगी। टोक्यो ओलंपिक का नारा 'कल की खोज' है।

खर्च होंगे 400 अरब जापानी येन

दुनिया के शीर्ष देशों में शामिल जापान तकनीकि मामले में विश्व में नंबर एक पर है यह बात तो आप सभी जानते हैं। अब जानने वाली बात यह है कि जापान 2020 में आयोजित होने वाले टोक्यो ओलंपिक में कितना पैसा खर्च करने वाला है। तो हम आपको बता देते हैं कि इस बार जापान ओलंपिक आयोजन में 400 अरब जापानी येन (लगभग 3 बिलियन अमेरिकी डॉलर) खर्च करेगा।

पुराने स्टेडियम को बम से उड़ाया

एक स्टेडियम को तैयार करने के लिए करोड़ों रुपए और कई साल लग जाते हैं। वहीं जापान ने टोक्यो में होने वाले ओलंपिक लिए शानदार स्टेडियम तैयार करने की चाहत में अपने नेशनल स्टेडियम को मिनटों में बम से उड़ा दिया। अब नए स्टेडियम का डिजाइन जापान के मशहूर आर्किटेक्ट केंगो कुमा ने तैयार किया है। स्टेडियम का नया डिजाइन 21वीं सदी को ध्यान में रखते हुए आधुनिक तरीके से तैयार किया गया है। इन सभी बातों से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि जापान तकनीक के क्षेत्र में कितना अव्वल है। यही वजह है कि वह 2020 में टोक्यो ओलंपिक का सफल आयोजन करने के लिए पूरी तरह से तैयार दिखाई दे रहा है।

पहले दिन दांव पर होंगे कुल 11 पदक

टोक्यो ओलंपिक का आगाज़ 24 जुलाई 2020 को रोविंग और तीरंदाजी से होगा। इसके साथ ही महिला निशानेबाज़ी 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा का आयोजन पहले ही दिन होगा। इसी दिन पदक राउंड भी खेला जाएगा। पहले दिन कुल 11 पदक के लिए प्रतिस्पर्धाएं होंगी। इनमें निशानेबाजी के अलावा तीरंदाजी, फेंसिंग जूडो, साइकलिंग, ताइक्वांडो और भारत्तोलक में पदकों की रेस होगी। दूसरे दिन से बास्केटबॉल (3x3) की शुरुआत होगी।

आठ अगस्त 2020 को कुल 30 स्पर्धाओं के फाइनल में खिलाड़ी संघर्ष करेंगे। इस दिन रिदम जिमनास्टिक, महिला गोल्फ, पुरुष बास्केटबॉल, पुरुष फुटबॉल, पुरुष वॉलीबाल, आर्टिस्टिक तैराकी के फाइनल खेले जाएंगे। इन खेलों के अलावा कई अन्य खेलों के फाइनल भी इसी दिन आयोजित किए जाएंगे। इसके बाद 9 अगस्त 2020 को खेलों का समापन होगा। इस दिन पुरुष मैराथन आयोजित किया जाएगा। ओलंपिक में कुल 33 खेलों में 339 स्पर्धाओं के आयोजन किए जाएंगे।

शामिल हुए 5 नए खेल

टोक्यो में होने वाले ओलंपिक खेलों में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने 5 नए खेलों को शामिल करने की मंज़ूरी दे दी है। रियो में जारी आईओसी के 129वें अधिवेशन में बुधवार को यह फैसला लिया गया। अब टोक्यो ओलंपिक के खेलों में बेसबॉल, स्पोर्ट क्लाइम्बिंग, कराटे, स्केटबोर्ड और सर्फिंग में भी प्रतिस्पर्धा होगी। इन खेलों को सिर्फ एक बार के लिए शामिल किया गया है। आईओसी ने यह नीति ओलंपिक डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत नयापन, लचीलापन और युवाओं को जोड़ने के मद्देनजर से की है।