बेंगलुरु रैपटर्स ने रचा इतिहास लगातार दूसरी बार पीबीएल का ख़िताब किया अपने नाम

पीबीएल 2020 के फ़ाइनल में नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स को शिकस्त देकर बेंगलुरु रैपटर्स ख़िताब की रक्षा करने वाली बनी पहली टीम

लेखक सैयद हुसैन ·

रविवार को हैदराबाद के जी एम सी बालायोगी सैट्स इंडोर स्टेडियम में बेंगलुरु रैपटर्स ने इतिहास रच दिया, प्रीमियर बैडमिंटन लीग 2020 के फ़ाइनल में नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स को 4-2 से हराते हुए बेंगलुरु पीबीएल इतिहास की पहली टीम बन गई जिसने अपने ख़िताब की रक्षा की हो।

बेंगलुरु रैपटर्स के लिए बी साई प्रणीत, ताई ज़ू यिंग और मिश्रित जोड़ी पेंग सून चैन और इयोम हाई वॉन ने अपने अपने मैच जीते। जबकि बोदिन इसारा और ली यंग डे ने अरुण जॉर्ज और रियान अगंग सापुत्रो को हराया जो रविवार शाम उनकी एकमात्र जीत थी।

बी साई प्रणीत ने बेंगलुरु को दिलाया आदर्श आग़ाज़

ख़िताबी भिड़ंत के पहले मुक़ाबले में बेंगलुरु रैपटर्स की तरफ़ से कोर्ट पर उतरे थे वर्ल्ड नंबर 11 बी साई प्रणीत तो उनके सामने चुनौती थी दुनिया के 18वें नंबर के शटलर ली चेक ईयू की।

साई प्रणीत के लिए पहला गेम बेहद टक्कर वाला था, जहां उन्हें ली चेक ने 15-14 से शिकस्त दी। लेकिन दूसरे गेम में कमाल की वापसी करते हुए बी साई प्रणीत ने 15-9 से गेम अपने नाम करते हुए मुक़ाबले को तीसरे और निर्णायक गेम में ले गए।

दूसरा सेट जीतने के बाद साई प्रणीत का आत्मविश्वास सातवें आसमान पर पहुंच चुका था, नतीजा ये हुआ कि ब्रेक टाइम तक उन्हें 8-0 की बढ़त ले ली थी और फिर तीसरा गेम आसानी से 15-3 से जीतते हुए बेंगलुरु को 1-0 की बढ़त दिला दी।

बोदिन इसारा और ली यंग की जोड़ी ने नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स को जिताया ट्रंप मैच

अगला मुक़ाबला नॉर्थ ईस्टर्न के लिए ट्रंप मैच था जहां उन्होंने बोदिन इसारा और ली यंग डे की पुरुष युगल जोड़ी पर दांव खेला था। उनके सामने बेंगलुरु की ओर से अरुण जॉर्ज और रियान अगंग सापुत्रो थे।

इसारा और ली की जोड़ी ने शानदार शुरुआत करते हुए पहला गेम 15-11 से अपने नाम किया और फिर दूसरे गेम में अरुण-रियान की जोड़ी ने पलटवार करते हुए 15-13 से जीत हासिल की, अब नतीजा तीसरे और निर्णायक गेम पर टिका था।

जहां सांस रोक देने वाली टक्कर देखने को मिली लेकिन आख़िरकार नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स का ट्रंप दांव क़ामयाब रहा, क्योंकि इसारा-ली की जोड़ी ने तीसरा गेम 15-14 से जीतते हुए नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स को 2-1 की बढ़त दिला दी थी।

रविवार का तीसरा मुक़ाबला वर्ल्ड नंबर-2 ताई ज़ू यिंग और मिशेल ली के बीच था, बेंगलुरु रैपटर्स की ताई ज़ू ने अपने नाम के अनुरुप खेलते हुए नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स की मिशेल ली को 15-9, 15-12 से मात दे दी। जिसके बाद बेंगलुरु रैपटर्स और नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स अब 2-2 से बराबर हो गए थे।

पेंग सून चैन और इयोम हाई वॉन की मिश्रित जोड़ी ने बेंगलुरु के सिर पहनाया ताज

अगला मुक़ाबला बेंगलुरु रैपटर्स के लिए ट्रंप मैच था जिसमें उन्होंने मिश्रित जोड़ी पेंग सून चैन और इयोम हाई वॉन पर दांव खेला था। जबकि नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स की ओर से कृष्णा प्रसाद गरागा और किम हा ना की जोड़ी कोर्ट पर थी, ट्रंप मैच का मतलब था कि इस मुक़ाबले का विजेता ही पीबीएल का चैंपियन हो जाएगा।

ये अब तक पीबीएल इतिहास के बेहतरीन मैचों में से एक हो गया क्योंकि पहला गेम तो पेंग सून चैन और इयोम हाई वॉन ने 15-14 से जीत लिया था, लेकिन दूसरे गेम में चैंपियनशिप प्वाइंट अपने पास रखने के बावजूद इस जोड़ी को कृष्णा प्रसाद और किम हा ना ने 14-15 से हार मिली।

अब तीसरा और निर्णायक गेम मैच का ही नतीजा नहीं लाने वाला था बल्कि प्रीमियर बैडमिंटन लीग 2020 के चैंपियन की घोषणा भी करने वाला था। जहां शुरुआत को पेंग सून चैन और इयोम हाई वॉन ने धमाकेदार अंदाज़ में की और ब्रेक टाइम तक 8-2 से आगे रहते हुए इस गेम को एकतरफ़ा बना दिया था।

लेकिन नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स के कृष्णा और किम हा ना की जोड़ी ने ग़ज़ब का पलटवार किया और एक समय स्कोर 10-12 हो गया था। लेकिन अनुभवी पेंग सून और इयोम हाई ने संयम के साथ खेला और आख़िरी लम्हों में दबाव को अच्छी तरह झेलते हुए 14-12 से तीसरे गेम के साथ साथ बेंगलुरु रैपटर्स को लगातार दूसरी बार पीबीएल चैंपियन बना दिया।

इसी के साथ बेंगलुरु रैपटर्स पीबीएल इतिहास में ख़िताब की रक्षा करने वाली पहली टीम भी बनी और साथ ही साथ दो पीबीएल चैंपियनशिप जीतने वाली भी बन गई पहली और एकमात्र टीम।