टेनिस

लक्की लूज़र बन प्रजनेश गुणेश्वरन ऑस्ट्रेलियन ओपन के मुख्य दौर में पहुंचे

भारतीय टेनिस स्टार खेल सकते हैं विश्व नंबर 1 नोवाक जोकोविच के खिलाफ। 

लेखक जतिन ऋषि राज ·

20 जनवरी से शुरू होने वाले ऑस्ट्रेलियन ओपन में भारतीय टेनिस स्टार प्रजनेश गुणेश्वरन खेलते दिखाई देंगे। गुणेश्वरन का मुकाबला जापान के तत्सुमा इटो से होगा। गौरतलब है कि भारतीय स्टार वर्ल्ड रैंकिंग में जापानी खिलाड़ी से आगे हैं और इसी वजह से भारतीय खेमा जीत की आस लगाए बैठा है।

इतना ही नहीं गुणेश्वरन को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ नोवाक जोकोविच के खिलाफ भी खेलने का मौका मिल सकता है। अगर ऐसा हुआ तो यकीनी तौर पर यह मुकाबला भारतीय स्टार के लिए बेहद अहम होने वाला है।

ऑस्ट्रेलियन ओपन में “लक्की लूज़र” के रूप में निखरे गुणेश्वरन की नज़र अब अपने मेन राउंड के मुकाबले पर होगी। हालांकि यह भारतीय क्वालिफायर राउंड में अर्नेस्ट्स गल्बि के सामने सीधे सेटों में हार चुका है, और ज़ाहिर तौर पर उन्हें अब उस हार को भूल अपने भविष्य पर ध्यान देना चाहिए।

एलेक्स डी मिनौर और पोलैंड के कामिल मजक्रज़क के चोटिल होने की वजह से भारतीय स्टार को फ़ायदा मिला और साथ ही निकोलस जैरी के डोपिंग टेस्ट को पास न कर पाना भी गुणेश्वरन के हक में गया। 

लगातार 3 बार 

प्रजनेश गुणेश्वरन की वर्ल्ड रैंकिंग 122 है और वह पिछले साल यानी 2019 के ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेल चुके हैं, जो उनका पहला ग्रैंड स्लैम था । हालांकि उन्होंने फ्रेंच ओपन तो नहीं खेला लेकिन अप्रेल के महीने में 75वीं रैंक हासिल कर विंबलडन का हिस्सा बन गए। आपको बता दें कि गुणेश्वरन विंबलडन में कुछ कर तो न सके लेकिन उन्होंने भारतीय टेनिस के सुरक्षित भविष्य का प्रमाण ज़रूर दिया।

इसके बाद उन्होंने यूएस ओपन में भी शिरकत की और भारतीय टेनिस को ऊंचाई पर लेकर जाने की उम्मीद भी जगाई। हालांकि उस समय रूस के नंबर 4 डेनिल मेदवेदेव के हाथों उन्हें मात मिली और वे इस बार भी ज़्यादा कुछ कर न सके।

अगर खेल और किस्मत ने साथ दिया तो गुणेश्वरन वर्ल्ड नंबर 1 के खिलाफ भी खेलते दिखाई देंगे। आपको बता दें कि भारत की ओर से सुमित नागल भी पूर्व नंबर-1 खिलाड़ी रोजर फ़ेडरर के ख़िलाफ़ खेल चुके हैं और उनके लिए वे एक सपना था जो सच हुआ। इसी तरहप्रजनेश गुणेश्वरन भी अभी के विश्व नंबर 1 के खिलाफ भारत का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं।