ऑस्ट्रेलियन ओपन में प्रजनेश गुणेश्वरण को तत्सुमा इटो के हाथों मिली शिकस्त

भारतीय टेनिस खिलाड़ी को टूर्नामेंट के पहले राउंड में लगातार तीन सीधे सेटों में मिली करारी हार।

लेखक अरसलान अहमर ·

ऑस्ट्रेलियन ओपन में भारतीय पुरुष एकल की उम्मीदों को उस समय करारा झटका लगा जब मंगलवार को भारतीय टेनिस खिलाड़ी प्रजनेश गुणेश्वरण को हार का सामना करना पड़ा। विश्व के 122वें नंबर के भारतीय खिलाड़ी को जापान के तत्सुमा इटो ने 4-6, 2-6, 5-7 से तीन सीधे सेटों में मात देते हुए टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता दिखाया। इस हार के साथ ही ऑस्ट्रेलियन ओपन में भारतीय पुरुष एकल की उम्मीदें भी समाप्त हो गईं।

मुकाबले से पहले इस बात की उम्मीद लगाई जा रही थी कि अपने प्रतिद्वंदी जो कि विश्व रैंकिंग में उनसे 23 पायदान नीचे काबिज़ हैं, उनको हराकर गुणेश्वरण ग्रैंड स्लैम के अगले राउंड में अपनी जगह बनाने में कामयाब होंगे। लेकिन उम्मीद से विपरीत यह भारतीय टेनिस खिलाड़ी कोर्ट पर अपनी क़ाबलियत के मुताबिक़ प्रदर्शन करने में नाकामयाब रहा। जापानी खिलाड़ी ने पहले दो सेटों में अपना दबदबा कायम करते हुए गुणेश्वरण को मुकाबले से बाहर कर दिया। पहले दो सेटों की हार का दबाव उनके खेल पर साफ़ दिखा और वह तीसरे सेट में अपने हुनर के मुताबिक़ खेल नहीं दिखा पाए।

इटो ने की शानदार शुरुआत

पहले सेट में ही बाएं हाथ के भारतीय खिलाड़ी ने कुछ अहम प्वाइंट्स गवाने शुरू किए जिसके बाद सेट में उनकी पकड़ ढीली पड़ती चली गई। पहले सेट के तीसरे गेम तक इटो ने गुणेश्वरण को मुकाबले में पीछे धकेल दिया और देखते ही देखते उन्होंने 3-1 की बढ़त बना ली। आगे के गेम में भी अपनी लय बरक़रार रखते हुए जापानी खिलाड़ी ने पहले सेट को 6-4 से अपने नाम किया।

अब बारी थी दूसरे सेट की और सभी भारतीय प्रशंसक इस बात की आस लगाए बैठे थे कि गुणेश्वरण दूसरे सेट में अपने खेल को ऊपर उठाते हुए मुकाबले में वापसी करेंगे। लेकिन उनके खेल को देखकर ऐसा लगा कि कोर्ट पर उनका दिन नहीं था। नतीजतन, दूसरे सेट में भी चेन्नई के इस टेनिस खिलाड़ी को निराशा हाथ लगी और उन्हें 2-6 से हार का सामना करना पड़ा।

साल 2019 में प्रजनेश गुणेश्वरण सभी ग्रैंड स्लैम इवेंट के सिंगल्स के मेन ड्रॉ तक पहुंचने में कामयाब रहे थे।

वापसी की कोशिश

पूरे मुकाबले में तीसरा सेट ही ऐसा रहा जब गुणेश्वरण लय पकड़ते हुए दिखे और मैच में वापसी की उम्मीद जगाई। इस सेट में शुरुआत में उन्होंने 2-1 की बढ़त हासिल की और इटो को अपने खेल से थोड़ा परेशान करना शुरू किया।

हालांकि तब तक काफी देर हो चुकी थी और जापानी खिलाड़ी ने गुणेश्वरण को तीसरे सेट के 5वें और 11वें गेम में झटका देते हुए इस सेट को 7-5 से जीतकर 2 घंटे और 1 मिनट तक चले इस मुकाबले को 6-4, 6-2, 7-5 से अपने नाम कर लिया।

आपको बता दें तत्सुमा इटो का अब अगला मुकाबला विश्व के दूसरे नंबर के खिलाड़ी नोवाक जोकोविच से होगभारत की बची हुई चुनौतियां

प्रजनेश गुणेश्वरण की हार के साथ ही इस टूर्नामेंट में भारतीय पुरुष एकल की उम्मीदें अब समाप्त हो गईं है। ऐसे में अब सभी की नज़रें होंगी बाकी भारतीय खिलाड़ियों पर जो ऑस्ट्रेलियन ओपन में देश को गौरवांवित कर सकते हैं। सानिया मिर् और रोहन बोपन्ना यह दो ऐसे खिलाड़ी हैं जिनपर अब सभी की निगाहें रहने वाली हैं।

सानिया मिर्ज़ा इस टूर्नामेंट में अपनी युक्रेन की जोड़ीदनाडिया किचेनोक के साथ खेलती हुई दिखाई देंगी जिसके साथ उन्होंने पिछले सप्ताह ही होबार्ट इंटरनेशनल ख़िताब जीता है। इस जोड़ी का बुधवार के दिन पहले राउंड में सामना चीन की जोड़ी झू लिन और हान शिन्युन से होगा।

वहीं भारतीय खिलाड़ी रोहन बोपन्ना जापान यासुताका उचियाम के साथ बतौर जोड़ीदार टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगे जहां बुधवार के दिन पहले राउंड में यह जोड़ी ब्रयान भाईयों से भिड़ेगी।के ार ज़ाा।