बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर में पीवी सिन्धु का प्रवेश

वर्ल्ड चैंपियन पी वी सिन्धु एचएसबीसी बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल 2019 में भारत की अगुवाई करती नज़र आएंगी। 

भारत में खेल को अव्वल दर्जा दिया जाता है और खिलाड़ियों को कभी प्रेरणा, कभी प्रतिमा तो कभी नायक के तौर पर देखा जाता है। अगर बात करें बैडमिंटन और भारत के रिश्ते की तो पिछले कुछ सालों में यह बड़ा हुआ है। बैडमिंटन खिलाड़ियों को सम्मान और प्रशंसकों द्वारा प्यार समय-समय पर मिला है। ऐसी ही एक भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं जिन्हें भारत में ही नहीं बल्कि विश्व भर ने सरहाया है। वह नाम है वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधु का, सिंधु ने एचएसबीसी बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल 2019 में प्रवेश कर अपने करियर में एक और सुनहरा अवसर प्राप्त किया। हम आपको बता दें कि चग्वांगझोउ में 11 दिसंबर से खेली जाने वाली प्रतियोगिता में सिंधु भारत की ओर से एकमात्र खिलाड़ी हैं।

एचएसबीसी बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल में श्रेष्ठ 8 खिलाड़ी हिस्सा लेंगे और सबकी नज़र इसे जीतने पर होगी। बैडमिंटन वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने वाली पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बन कर सिंधु ने अपना जौहर दिखाया जिस वजह से उन्हें एचएसबीसी बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल में शामिल किया गया। उस मुकाबले में सिंधु ने महज़ 38 मिनटों नोज़ोमी ओकुहारा को हराकर यह सम्मान हासिल किया।

इस जीत के बाद सिंधु के प्रदर्शन में भारी गिरावट देखी गई। चाइना ओपन के शुरूआती दौर में ही सिंधु को बाहर का रास्ता देखना पड़ा। इतना ही नहीं सिंधु का फ्रेंच ओपन में भी प्रदर्शन निराशा जनक रहा।

खेल विशेषज्ञों का मानना था कि वर्ल्ड चैंपियनशिप के बाद सिंधु का शिड्यूल बेहद व्यस्त था जिस वजह से उनके प्रदर्शन पर भी असर पड़ा। हालांकि संकेत यह भी थे कि उनकी कोच किम जी ह्युन के चले जाने के बाद उनके खेल में गिरावट आई।

अब सिंधु का ध्यान पूरी तरह से एचएसबीसी बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल में अच्छा प्रदर्शन कर अपनी लय को पकड़ना होगा और यदि ऐसा होता है तो वे खुद को 2020 ओलंपिक गेम्स के लिए भी बेहतर तरीके से तैयार कर पाएंगी। पिछले साल इसी प्रतियोगिता में सिंधु का प्रदर्शान शानदार रहा था और उन्होंने पोडियम पर खुद को सबसे ऊपर रखा था। सिंधु ने अपने प्रतिद्वंदियों के सामने बेहतरीन खेल दिखाया और जीत के सफ़र को बरक़रार रखा। जापान क अकाने यामागुची, यूएसए की बेईवान झांग को ग्रुप स्टेज में हराने के बाद उन्होंने सेमीफाइनल में रैचानॉक इंथानॉन  को मात देकर फाइनल में प्रवेश किया।

इस बार सिंधु से और अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है और इतिहास भी यही गवाही देता है कि रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाली इस खिलाड़ी ने तब-तब उम्दा प्रदर्शन किया है जब-जब उनसे उम्मीद लगाई है। 

बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर में खिलाड़ियों को भारी मात्रा में पैसे दिए जाते हैं और यह भी इसके लोकप्रिय होने की एक अहम वजह है। इस बार हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट मेली जुनहुई/लियु युचेन (मेंस डबल्स), वांग यी/हुआंग डोंगपिंग (मिक्स्ड डबल्स) जैसे नाम भी शामिल हैं। इनके साथ साथ विश्व नंबर एक केंटो मोमोटा  भी हिस्सा लेते नज़र आएंगे। 

पीवी सिंधु के प्रतिद्वंदियों की लिस्ट

बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल में हिस्सा लेने वाले सभी खिलाड़ियों के नाम:

1.   चेन यूफेई (चीन)

2.   रैचानॉक इंथानॉन (थाईलैंड)

3.   अकाने यामागुची (जापान)

4.   नोज़ोमीओकुहारा (जापान)

5.   ताई जू यिंग (चीनी ताइपे)

6.   ही बिंगजियाओ (चीन)

7.   बुसानान ओन्गब्रामंगफान (थाईलैंड)

8.   पीवी सिंधु (भारत)

प्रतियोगिता के ड्रॉ सोमवार, दिसंबर 9 को होंगे और प्रतियोगिता का आरंभ दिसंबर 11 से होगा।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!