पीवी सिंधु अपने पोषण और वापसी पर काम करने के उद्देश्य से पहुंची इंग्लैंड

रियो 2016 की रजत पदक विजेता गेटोरेड स्पोर्ट्स साइंस इंस्टीट्यूट के साथ काम कर रही हैं और वह अगले साल बीडब्ल्यूएफ इवेंट्स के एशियाई चरणों के लिए खुद को तैयार रखना चाहती हैं।

लेखक रितेश जायसवाल ·

ओलंपिक वर्ष को ध्यान में रखते हुए भारतीय शटलर क्वीन पीवी सिंधु (PV Sindhu) इंग्लैंड में गेटोरेड स्पोर्ट्स साइंस इंस्टीट्यूट (GSSI) के विशेषज्ञों की एक टीम के मार्गदर्शन में अपने सुधार और पोषण पर काम कर रही हैं।

सोशल मीडिया पर इस ख़बर को साझा करते हुए 2016 रियो ओलंपिक की रजत पदक विजेता ने कहा कि वह एक शानदार खेल विज्ञान विशेषज्ञ रेबेका रैंडेल के सानिध्य में काम करेंगी।

पीवी सिंधु ने अपने ट्विटर और इंस्टाग्राम पेजों पर इसका उल्लेख करते हुए लिखा, “एशिया दौरे के लिए तीन महीने बाकी हैं और सभी चीजों पर काम करने और सुधार लाने के लिए यह सबसे अच्छा मौका है!!"

25 वर्षीय पीवी सिंधु ने अगस्त में लॉकडाउन के बाद अपने प्रशिक्षण को फिर से शुरू कर दिया था, लेकिन रविवार को समाप्त होने वाले डेनमार्क ओपन सुपर 750 इवेंट में उन्होंने हिस्सा न लेने का फैसला किया।

सिंधु स्थगित किए गए थॉमस एंड उब कप में हिस्सा लेने की उत्सुक नहीं थीं, लेकिन बाद में बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया (BAI) के अनुरोध के बाद प्रतिस्पर्धा में हिस्सा लेने के लिए सहमत हो गईं।

अब पीवी सिंधु जनवरी में होने वाले बीडब्ल्यूएफ टूर के एशियाई दौरों के इवेंट पर नज़रें गड़ाए हुए हैं और उनका मानना है कि नए साल में प्रतियोगिताओं में भाग लेने पर वह कमाल कर सकती हैं।

पीवी सिंधु ने रायटर्स से कहा, “मैं बैडमिंटन खेलने से चूक गई। लेकिन मैं हर दिन घर पर ट्रेनिंग करती थी इसलिए मैं अच्छी स्थिति में थी... जब मैंने फिर से खेलना शुरू किया तो मुझे वापसी करने में एक या दो सप्ताह लग गए, लेकिन मैं ठीक हूं और फिट हूं। मैं टूर्नामेंट शुरू होने का इंतजार कर रही हूं।”

“सात महीने हो गए (प्रतिस्पर्धात्मक खेल के बिना)… यह एक अलग खेल और चुनौतीपूर्ण होगा, क्योंकि सभी में सुधार हुआ होगा।”

"यह कहना आसान नहीं है कि सिर्फ एक या दो खिलाड़ी हैं, क्योंकि हर कोई ओलंपिक में चुनौतीपूर्ण होगा। हर कोई अपनी बेहतर फॉर्म में होने की कोशिश में लगा है। दुनिया के शीर्ष 10 खिलाड़ी एक ही स्तर के हैं, इसलिए हर एक खिलाड़ी चुनौतीपूर्ण होगा।”

BWF ईवेंट के एशियन इवेंट में 12 से 17 जनवरी को एशिया ओपन-I के साथ दो सुपर 1000 इवेंट शामिल होंगे, जबकि अगले सप्ताह एशिया ओपन-II आयोजित किया जाएगा। इसके बाद 2020 BWF वर्ल्ड टूर फाइनल होगा। सभी इवेंट बैंकाक में आयोजित किए जाएंगे।