बैडमिंटन

BWF वर्ल्ड टूर में पीवी सिंधु को विश्व नंबर 1 की ताई त्ज़ु-यिंग ने मात दी

BWF वर्ल्ड टूर में पीवी सिंधु ने ताई त्ज़ु-यिंग के खिलाफ पहली गेम जीत ली लेकिन मुकाबला हार गईं।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

बीडब्लूएफ टूर फाइनल में मंगलवार को भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु (PV Sindhu) को विश्व नंबर 1 की ताई त्ज़ु-यिंग (Tai Tzu Ying) ने 21-19, 12-21, 17-21 से मात दी। यह मुकाबला वुमेंस सिंगल्स ग्रुप B का था, जहां भारतीय स्टार को हार मिली।

इस मुकाबले में भिड़ रहे दोनों खिलाड़ियों में ताई त्ज़ु-यिंग ऐसी खिलाड़ी थीं जिनकी फॉर्म सिंधु से बेहतर चल रही थी योनेक्स और टोयोटा थाईलैंड ओपन में यिंग ने बेहतरीन प्रदर्शन दिखाया और दोनों ही प्रतियोगिताओं में फाइनल तक का सफ़र तय किया था।

वहीं पीवी सिंधु योनेक्स थाईलैंड ओपन के पहले राउंड में ही बाहर हो गई थी वहीं टोयोटा थाईलैंड ओपन में उन्होंने क्वार्टरफाइनल तक कदम रखे थे।

सिंधु ने मुकाबले के बारे में कहा “यह अच्छा मुकाबला था, अंक बटोरना आसान नहीं था। तीसरी गेम में मैंने वापसी की और अब बस फर्क 1 अंक का रह गया था। रैली के दौरान दो बार मैंने अपने रैकेट की स्ट्रिंग तोड़ दी थी और वहीं अंतर बढ़ गया। यह एक अच्छा मुकाबला था। यह ग्रुप चुनौती भरा है। मुझे 100 प्रतिशत देना होगा। 

पहली गेम की शुरुआत में सिंधु ने कुछ उम्दा शॉट्स मार कर अपने होने का प्रमाण पेश किया और साथ ही कुछ क्रॉस-कोर्ट स्मैश से भी उन्होंने कुछ अंक बटोरे। हालांकि यिंग ज़्यादा कंसिस्टेंट थीं और आधे समय तक वह 11-8 की बढ़त ले चुंकि थी और सिंधु से कई कड़े सवाल पूछ रही थी।

गेम के दोबारा शुरू होने पर पीवी सिंधु ने वापसी की स्कोर को बराबर कर दिया। एक समय पर पहली गेम का स्कोर 19-19 से बराबर हो गया। भारतीय शटलर पीवी सिंधु को गेम पॉइंट हासिल हुआ और उन्होंने पूरा फायदा उठाते हुए 21-19 से जीत हासिल कर ली।

दूसरी गेम में ताई त्ज़ु-यिंग ने आक्रामक तेवर दिखाते हुए 6-0 से लीड अपने पाले में कर ली और इसी बढ़त पर सवार हो कर इस चीनी ताइपे ने इस गेम को 21-12 से जीता और मुकाबले को फाइनल राउंड तक ले गई।

लय को अपने पास रखते हुए ताई त्ज़ु-यिंग ने तीसरी गेम में मनचाही रणनीति अपनाई और पीवी सिंधु को ड्रॉप शॉट्स और नेट के पास के शॉट मार कर परेशान किया और शुरुआत दौर में कुछ अहम अंक भी हासिल किए। आधे समय तक ताई त्ज़ु-यिंग के पाद 2 अंकों की बढ़त बनी हुई थी।

वहीं भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने ज़बरदस्त शॉट्स दिखाए लेकिन ताई त्ज़ु-यिंग भी हार नहीं मान रही थी। तीसरी गेम में विश्व नंबर 1 की खिलाड़ी ने 21-17 से जीती और मुकाबले पर भी अपना नाम जड़ दिया।

ग्रुप बी में अब पीवी सिंधु का मुकाबला थाईलैंड के रत्चानोक इंतानोन (Ratchanok Intanon) के साथ है।

किदांबी श्रीकांत को एंडर्स एंटोनसेन से मिली मात

मेंस सिंगल्स ग्रुप में किदांबी श्रीकांत (Kidambi Srikanth) का परिणाम भी उनकी हमवतन पीवी सिंधु जैसा ही रहा।

डैनिश प्रतिद्वंदी एंडर्स एंटोनसेन (Anders Antonsen) के खिलाफ भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत ने पहला गेम तो जीत लिया लेकिन 21-15, 16-21, 18-21 से मुकाबले को गंवा बैठे।

टोयोटा थाईलैंड ओपन में एंकल में लगी चोट के कारण भारतीय शटलर को अपना नाम वापस लेना पड़ा था और इसी चोट का असर इस मुकाबले पर भी दिखा। हालांकि चोट के बाद भी किदांबी श्रीकांत ने विश्व नंबर 3 के खिलाड़ी को पहली गेम में मात दी और प्रशंसकों की उम्मीदें भी बढ़ा दी।

एंडर्स एंटोनसेन ने पलटवार किया और दूसरा गेम जीत कर मुकाबले को फाइनल गेम तक ले गए। आखिरी गेम में किदांबी श्रीकांत से उम्मीदें बढ़ चुंकि थी और इन उम्मीदों को सही साबित करते हुए भारतय शटलर ने 11-9 से बढ़त भी अपने हाथ में रखी। इसके बाद प्रतिद्वंदी एंडर्स एंटोनसेन ने कभी 4 तो कभी 5 अंक बटोरे और मुकाबले को अपने नाम कर लिया।ी