पीवी सिंधु और विनेश फ़ोगाट ओलंपिक दिवस ऑनलाइन सेलेब्रेशन में करेंगी भारत का प्रतिनिधित्व

ओलंपिक दिवस की शुरुआत 1948 में हुई थी, जो पुरानी यादों को संजोय रखता है

भारतीय बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु (PV Sindhu) और रेसलर विनेश फ़ोगाट (Vinesh Phogat) ओलंपिक दिवस 2020 में ऑनलाइन शिरकत करेंगी। जिसका आयोजन अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) 23 जून को करने जा रहा है।

ओलंपिक दिवस की स्थापना 1948 में हुई थी, जो 23 जून 1894 से शुरू हुए आधुनिक ओलंपिक गेम्स की याद दिलाता है।

यह अवसर विश्व स्तर पर ओलंपिक मूल्यों और खेल में भागीदारी को बढ़ावा देने का एक उत्सव है, फिर चाहे एथलीट की उम्र, लिंग और खेल कोई भी क्यों न हो।

रियो 2016 की रजत पदक विजेता पीवी सिंधु पूरी दुनिया से अलग अलग 20 एथलीटों के साथ जुड़ेंगी और लाइव वर्कआउट सत्र में हिस्सा लेंगी, जिसे भारतीय समयानुसार 11 बजे से देखा जा सकता है।

सिंधु हैदराबाद के अपने घर से लॉगिन करेंगी, सिंधु की ही तरह सभी के सभी एथलीट सुबह 11 बजे से जुड़ जाएंगे।

साथ ही साथ एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स की स्वर्ण पदक विजेता विनेश फ़ोगाट भी ओलंपिक डे वर्कआउट का हिस्सा होंगी, हालांकि फ़ोगाट ने अपना वीडियो पहले ही रिकॉर्ड कर लिया है, जिसे दुनिया के अलग अलग 23 एथलीटों के वर्कआउट वीडियो के साथ प्रस्तुत किया जाएगा।

सारे एथलीट अपने पसंदीदा वर्कआउट का वीडियो साझा करेंगे, ओलंपिक चैनल की वेबसाइट पर भी इन वीडियो को देखा जा सकता है।

इसे दुनिया का सबसे बड़ा डिजिटल ओलंपिक वर्कआउट इवेंट माना जा रहा है जो 24 घंटे चलेगा।

एक स्पेशल सेलेब्रेशन

ओलंपिक दिवस 2020 सेलेब्रेशन आईओसी के कैंपेन #StayStrong, #StayActive, #StayHealthy का ही एक भाग है जिसे कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी के दौरान शुरू किया गया था। ये तब हुआ था जब कई देशों में लगे लॉकडाउन के बाद ओलंपिक को एक साल के लिए स्थगित कर दिया गया था।

इसमें 50 से अधिक देशों के लगभग 5,000 ओलंपियनों ने 243 मिलियन लोगों के साथ अपने दैनिक कामकाज को साझा करके और इस समय में मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के टिप्स बताकर लोगों का हौसला बढ़ाया है।

IOC के अध्यक्ष थॉमस बाक ने एक वीडियो संदेश के ज़रिए कहा है, ‘’ओलम्पिक दिवस मनाना पिछले सभी वर्षों से बहुत अलग है, लेकिन साथ ही साथ, इस ओलंपिक दिवस पर, खेल की शक्ति का हमारा संदेश सभी के लिए आशा और आशावाद लाने के लिए और भी मज़बूत होता है।‘’

"चलिए एक साथ जुड़ते हैं और खेल की ताक़त दिखाते हैं कि टोक्यो 2020 को स्थगित होने के बाद भी हम मानसिक तौर पर मज़बूत हैं।"

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!