भारतीय रेसवॉकर केटी इरफ़ान को IOC ने दी बड़ी राहत

IOC अध्यक्ष थॉमस बाक ने ओलंपिक गेम्स में क्वालिफाई कर चुके खिलाड़ियों के स्थान को पुख्ता रखा। 

रेसवॉकर केटी इरफ़ान (KT Irfan) टोक्यो गेम्स के लिए उत्सुक हैं। गौरतलब है कि इरफ़ान ट्रैक एंड फिल्ड के पहले भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने टोक्यो गेम्स में क्वालिफाई किया है। हालांकि गेम्स को अगले साल के लिए स्थगित कर दिया गया है और ऐसे में (International Olympic Committee IOC) के अध्यक्ष थॉमस बाक ने सुनिश्चित किया कि इरफ़ान समेत वे सभी खिलाड़ियों की जगह पुख्ता रहेगी जिन्होंने क्वालिफाई कर लिया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए केटी इरफ़ान ने कहा, “मुझे यह चिंता थी कि गेम्स को 2021 के लिए स्थगित कर दिया गया है। ऐसे में क्वालिफिकेशन पर भी असर पड़ेगा या नहीं। मुझे डर था कि वर्ल्ड एथलेटिक्स कहीं दोबारा क्वालिफिकेशन के नियम न बदल दें।” केरल के इस रेसवॉकर ने टोक्यो गेम्स के लिए 20 किलोमीटर में क्वालिफाई किया था और यह कीर्तिमान उन्होंने एशियन गेम्स में किया था।

उनकी उम्दा 1 घंटे 20 मिनट और 57 सेकेंड की टाइमिंग ने उन्हें ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करवाया और अब वो अगले साल भारत के गौरव के लिए खेलते नज़र आएंगे। टोक्यो ओलंपिक गेम्स केटी इरफ़ान का ओलंपिक का दूसरा संस्करण होगा। आपको बता दें कि 2012 लंदन गेम्स में इरफ़ान ने 1 घंटे 20 मिनट और 21 सेकंड की टाइमिंग हासिल की और यही टाइमिंग इनकी सर्वश्रेष्ठ भी है और साथ ही नेशनल रिकॉर्ड भखिलाड़ियों को मिला ज़्यादाअब जब टोक्यो गेम्स को स्थगित कर दिया गया है तो इस बीच केटी इरफ़ान समेत बहुत से खिलाड़ियों को अपने कौशल को और बेहतर बनाने का समय मिल गया है। इंडियन एक्सप्रेस से इरफ़ान ने अपने भाव व्यक्त कर कहा “ऑफ सीज़न लगभग 1 से 2 महीनों का होता है लेकिन अब हम इसे 3 से 4 महीनों तक खींच सकते हैं। वॉकर्स के लिए लंबा भागना बेहद ज़रूरी है (40-50 किमी)।”

उन्होंने आगे कहा “अगर हम लगातार अभ्यास करते रहेंगे तो 20 किमी हमारे लिए आसान हो जाएगा। इस समय हम मुख्य ताकत (कोर स्ट्रेंग्थ) पर काम कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर जैसे आयरन मैन वर्कआउट मांसपेशियों की ताकत बढ़ाने के लिए आवशयक है। अगर हम इसमें ज़्यादा समय लगाएंगे तो आने वाले समय के लिए ये अच्छा साबित होगा।”

केटी इरफ़ान के अलावा भारत की एक और रेसवॉकर जिन्होंने गेम्स के लिए क्वालिफाई किया है और वह भावना जाट (Bhawna Jat)। 7वें नेशनल ओपन रेसवॉकिंग चैंपियनशिप में 1 घंटे 29 मिनट और 54 सेकंड की बेहतरीन टाइमिंग की वजह से नेशनल रिकॉर्ड स्थापित किया। ऐसे में ये कहना सही होगा की भारतीय रेसवॉकिंग का खेमा मज़बूती और तेज़ी के साथ बढ़ रहा है।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!