टोक्यो ओलंपिक के लिए महाराष्ट्र सरकार ने राही सरनोबत और तेजस्विनी सावंत सहित पांच एथलीटों को दी मदद  

 स्टीपलचेज धावक अविनाश साबले और तीरंदाज प्रवीण जाधव को भी अनुदान के लिए चुना गया 

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने टोक्यो ओलंपिक की बेहतरीन तैयारी के लिए राज्य के पांच एथलीटों को 50 लाख रुपये का अनुदान देने की घोषणा की है। कोरोना वायरस महामारी के कारण इस ओलंपिक को 2020 से 2021 तक के लिए टाल दिया गया था।

अनुदान के लिए शानदार शूटर राही सरनोबत और तेजस्विनी सावंत, स्टीपलचेज़र अविनाश, तीरंदाज प्रवीण जाधव और पैरा-एथलीट स्वरूप उनाल्कर को चुना गया था।

30 वर्षीय सरनोबत ने 2018 एशियाई खेलों की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता और 2019 के म्यूनिख में ISSF विश्व कप में स्वर्ण पदक जीतकर टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया।

अनुभवी निशानेबाज तेजस्विनी सावंत ने 2019 की दोहा में 14वीं एशियाई चैंपियनशिप में महिलाओं की 3 पोजिशन एयर राइफल श्रेणी में बेहतर प्रदर्शन कर टोक्यो 2020 में अपना स्थान पक्का किया।

2018 एशियन गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने वाली राही सरनोबत

साबले ने अक्टूबर 2019 में दोहा की एथलेटिक्स विश्व चैम्पियनशिप के फाइनल में 8:21.37 समय में दौड़ पूरी कर 13वां स्थान हासिल किया। ओलंपिक में पहुंचने के लिए कट-ऑफ 8:22.00 था, ऐसे में उन्होंने आसानी से ओलंपिक की रेस में अपना स्थान सुनिश्चित कर लिया।  

वहीं जाधव ने 2019 विश्व तीरंदाजी चैंपियनशिप में टोक्यो के लिए टिकट हासिल किया। जाधव, अतनु दास और तरुणदीप राय वाले भारतीय दल ने छठी वरियता प्राप्त कनाडा को हराकर नॉकआउट चरण के लिए क्वालीफाई किया और ओलंपिक में जगह पक्की की। टूर्नामेंट के फाइनल में उन्हें चीन के हाथों हार मिली।  

सीएम ने कहा, "अनुदान के लिए चुने गए खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक जीते हैं। उन्हें अपने खेल में सुधार करते हुए ओलंपिक में ऐसा प्रदर्शन करना चाहिए जिससे राज्य गौरवान्वित हो।"

पैरालिम्पिक्स की तैयारी कर रहे अंतर्राष्ट्रीय पैरा-शूटर स्वरूप उनलकर को भी समारोह में आर्थिक सहायता दी गई। उन्होंने सिडनी, ऑस्ट्रेलिया में 2019 विश्व शूटिंग पैरा स्पोर्ट चैंपियनशिप में से पैरालिंपिक के लिए क्वालिफाई किया था।