रामनाथ और मुकुंद ने बैंकॉक चैंलेंजर के प्री-क्वार्टर में बनाई जगह 

दोनों खिलाड़ियों ने अपने-अपने दौर के अंतिम 32 में जीत दर्ज की।

लेखक सतीश त्रिपाठी ·

कोर्ट में रामकुमार रामनाथन और जेसी अरगोन के बीच मुकाबला चल रहा था कि इसी बीच अमेरिकी प्रतिद्वंदी जेसी अरगोन मैच के दौरान बीच में ही कोर्ट छोड़कर चले गए। क्योंकि उन्हें मुकाबले के दौरान चोट लग गई थी, जिसकी वजह से उन्हें बीच मुकाबले में ही बाहर जाना पड़ा। बता दें कि भारत को एटीपी बैंकॉक चैलेंजर II के अंतिम 16 के दौर में अपनी जगह बनाने के लिए केवल एक पूरा सेट खेलना था।  

पहला सेट 7(7)-6(5) जीतने के बाद रामकुमार रामनाथन 1-0 से दूसरे सेट का नेतृत्व कर रहे थे। वहीं, अरगोन को खेल के दौरान ही चोट लग गई जिसके बाद वो कोर्ट से बाहर चले गए और मुकाबले को पूरा नहीं कर सके।

भारत के रामकुमार रामनाथन सोमवार को कैनबेरा इंटरनेश्नल के पहले दौर में हारकर हुए बाहर

रामनाथन ने सेट को 7-5 से हासिल करने से पहले चार सेट अंक प्राप्त किए। लेकिन 50 मिनट तक चले लंबे सेट के चलते खिलाड़ी को थकान महसूस होने लगी, जिसकी वजह से वह दूसरे सेट में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके और कोर्ट से बाहर निकलने से पहले वह केवल 9 मिनट तक ही कोर्ट पर टिक सके।

बता दें कि भारत का अगला मुकाबला थाईलैंड में होने वाले प्री क्वार्टरफाइनल में जापान के गो सोएदा के साथ होगा। 

आपको बता दें कि बैंकॉक चैलेंजर में एकल स्पर्धा में खेलने वाले अन्य भारतीय खिलाड़ी ससी कुमार मुकुंद थे, जो एक उच्च श्रेणी के दर्जे वाले खिलाड़ी पाओलो लोरेंज़ी  के खिलाफ खेल रहे थे।

इटली के तीसरे वरीयता प्राप्त खिलाड़ी अंतिम 32 में सबके पसंदीदा खिलाड़ी के तौर पर खेल रहे थे, लेकिन रैंकिंग में उनसे 115 स्थान नीचे काबिज़ ससी कुमार मुकुंद ने 6-3, 6-2 से सेट जीतकर मुकाबले को अपने नाम किया। इस परिणाम के साथ ही यह मैच केवल 1 घंटे 23 मिनट में समाप्त हो गया।