रोहन बोपन्ना का ऑस्ट्रेलियन ओपन अभियान सीधे सेट की हार के साथ हुआ समाप्त

क्वार्टर फाइनल में हार से इंडो-यूक्रेनी जोड़ी ऑस्ट्रेलियन ओपन से बाहर हो गई।

लेखक रितेश जायसवाल ·

रोहन बोपन्ना और उनकी जोड़ीदार यूक्रेन की नादिया किचेनोक गुरुवार को ऑस्ट्रेलियन ओपन के मिक्स्ड डबल्स के क्वार्टरफाइनल में बाहर हो गईं। उन्हें चेक रिपब्लिक की बारबोरा क्रेजीकोवा और क्रोएशिया के निकोला मेक्टिक ने सीधे सेटों में 6-0, 6-2 से हराया। रोहन बोपन्ना और नादिया मैच में शुरुआत से ही कमज़ोर नज़र आए और अपने प्रतिद्वंदियों को अच्छी टक्कर नहीं दे सके। जिसके चलते दोनों 47 मिनट में ही हारकर बाहर हो गए।

वहीं दूसरी ओर, मेंस डबल्स में चौथी सीड क्रोएशिया के इवान डोडिग और स्लोवाकिया के फिलिप पोलासेक सेमीफाइनल में बाहर हो गए। इस जोड़ी को ऑस्ट्रेलिया के मैक्स पुरसेल और लुक सेविले ने 7-6, 6-3, 6-4 से शिकस्त दी। यह रोमांचक मुकाबला 2 घंटा 19 मिनट चला।

रोहन बोपन्ना और नादिया दिखे कमज़ोर

निकोला मेक्टिक ने इंडो-यूक्रेनी जोड़ी को फिर से तोड़ने के लिए पहले सेट में सफलतापूर्वक सर्विस करना शुरू किया। जिसे तोड़ने में नादिया किचेनोक असमर्थ नज़र आईं और देखते ही देखते हार का दायरा बढ़ने लगा।

बारबोरा क्रेजीकोवा ने भी अपने सर्विस गेम पर पकड़ बनाए रखी और नादिया के जैसे ही रोहन बोपन्ना भी संघर्ष करते हुए नज़र आए। जिसके चलते उनकी जोड़ी 0-5 से पीछे हो गई।

निकोला मेक्टिक के एक और आकर्षक सर्विस गेम के साथ ही पहले सेट को चेक रिपब्लिक और क्रोएशिया की जोड़ी ने 20 मिनट में ही खत्म कर दिया।

रोहन बोपन्ना और नादिया किचेनोक क्वार्टर फाइनल में सीधे सेटों से मिली हार के बाद 2020 के ऑस्ट्रेलियन ओपन से बाहर हो गए हैं।

रोहन बोपन्ना की वापसी की कोशिश नाकामयाब रही

दूसरे सेट में रोहन बोपन्ना ने अपना अच्छा प्रदर्शन किया और नादिया किचेनोक ने तीसरे गेम के बाद विरोधी जोड़ी को 1-2 से पीछे करने में सफलता हासिल की। हालांकि कुछ ही समय बाद विरोधी टीम पहले सेट की तरह ही उनपर फिर हावी नज़र आई। आठवें और अंतिम गेम तक इंडो-यूक्रेनी जोड़ी फिर 2-5 से पीछ हो गई।

बारबोरा क्रेजीकोवा के एक शानदार सर्विस गेम के साथ ही क्रोएशियाई-चेक जोड़ी ने सेमीफाइनल में जाने के लिए मैच को पूरी तरह से अपने कब्ज़े में कर लिया।

भारत के लिए आगे क्या है?

लिएंडर पेस और उनकी लातवियाई जोड़ीदार जेलेना ओस्टापेंको के ऑस्ट्रेलियाई ओपन मिक्स्ड डबल्स चुनौती के बाद मंगलवार को टूर्नामेंट के दूसरे दौर में अंत हो गया, रोहन बोपन्ना भारत के लिए खड़े होने वाले अंतिम व्यक्ति थे।

हालांकि, 2020 के साथ टाटा महाराष्ट्र ओपन - दक्षिण एशिया का एकमात्र एटीपी टूर टूर्नामेंट 2 फरवरी, रविवार को पुणे में होने जा रहा है। जल्द ही देश के प्रशंसकों को एक बार फिर से अपने देशवासियों को एक्शन देखने का मौका मिलेगा। जहां प्रजनेश गुन्नेश्वरन और रोहन बोपन्ना जैसे खिलाड़ी मुख्य आकर्षण का केंद्र होंगे। यह टूर्नामेंट भारत के शीर्ष टेनिस खिलाड़ियों को टोक्यो 2020 के लिए आगे बढ़ने के उद्देश्य से काफी खास होगा।