रोहन बोपन्ना ऑस्ट्रेलियन ओपन के मिश्रित युगल के क्वार्टर फ़ाइनल में पहुंचे

शनिवार को जहां बोपन्ना और नादिया की जोड़ी ने छोड़ा था, वहीं से आगे बढ़ते हुए रविवार को इस जोड़ी ने दूसरे दौर में जीत के साथ अंतिम-8 में बनाई जगह

लेखक सैयद हुसैन ·

ऑस्ट्रेलियन ओपन में आख़िरी लम्हों में बनी रोहन बोपन्ना और यूक्रेन की नादिया किचेनोक की जोड़ी का शानदार सफ़र रविवार को भी जारी रहा। मिश्रित युगल के दूसरे दौर में इस जोड़ी ने ब्राज़िल के ब्रुनो सोर्स और अमेरिका की निकोल मेलिशर को 6-4, 7-6 (3) से जीत दर्ज करते हुए क्वार्टर फ़ाइनल में जगह बना ली है।

39 वर्षीय रोहन बोपन्ना को इससे पहले सानिया मिर्ज़ा के साथ कोर्ट में उतरना था, लेकिन चोट की वजह से सानिया ने अपना नाम वापस से लिया था और फिर उनकी जगह रोहन की जोड़ीदार नादिया किचेनोक बनीं हैं।

रविवार की जीत से पहले भारत-यूक्रेन की इस जोड़ी ने पहले दौर के मुक़ाबले में शनिवार को लुदमेला किचेनोक और ऑस्टिन क्रैजिकेक की जोड़ी को हराया था।

बोपन्ना ने दिलाया बेहतरीन आग़ाज़

पहले सेट का पहला 6 गेम बेहद रोमांचक था, जहां दोनों ही टीमों का प्रदर्शन क़रीब क़रीब एक जैसा था। लेकिन सातवें सेट से कहानी बदल गई।

स्कोर 3-3 से बराबर था, लेकिन अमेरिकी खिलाड़ी निकोल मेलिशर अपनी सर्विस गंवा बैठीं, और यहां से रोहन और नादिया की जोड़ी ने मैच में 4-3 की बढ़त बना ली थी।

आख़िरी लम्हों में ऑस्ट्रेलियन ओपन के मिश्रित युगल में रोहन बोपन्ना की जोड़ीदार बनीं नादिया किचेनोक वाली इस जोड़ी ने बनाई क्वार्टर फ़ाइनल में जगह

इस बढ़त को भारत-यूक्रेन की जोड़ी ने और बढ़ाते हुए 5-3 कर दिया था, जब इस जोड़ी ने अपनी सर्विस क़ामयाब बनाई। अगले दो गेम में दोनों ही टीमों ने अपनी अपनी सर्विस सफल रखी और इस तरह रोहन बोपन्ना और नादिया किचेनोक ने पहला सेट 6-4 से जीत लिया था।

उतार-चढ़ाव से भरहा रहा दूसरा सेट

पहले सेट की ही तरह दूसरा सेट भी जा रहा था और पहले 7 गेम्स तक दोनों ही टीमें किसी को मौक़ा नहीं दे रहीं थीं। लेकिन इसके बाद आठवें गेम में रोहन-नादिया की जोड़ी ने अपनी सर्विस गंवा दी थी।

8वें गेम में 3-4 से पीछे होने के बाद, और अगले गेम में अपनी सर्विस गंवाते हुए अब भारत-यूक्रेन की जोड़ी 3-5 से पीछे हो गई थी।

लेकिन अगले ही गेम में ब्राज़िल के ब्रुनो सोर्स की सर्विस तोड़ते हुए रोहन-नादिया ने वापसी की, और फिर अपनी सर्विस में गेम जीतते हुए स्कोर को 5-5 से बराबर कर दिया था।

दोनों ही टीमों ने अपनी अपनी सर्विस में गेम जीतते हुए स्कोर 6-6 कर दिया था।

निर्णायक रहा ड्रॉप शॉट

टाई-ब्रेकर की शुरुआत में ही ब्रुनो-निकोल की सर्विस में प्वाइंट जीतते हुए भारत-यूक्रेन की जोड़ी हावी होने की कोशिश में थी। लेकिन तुरंत ही ब्राज़िल-अमेरिकी जोड़ी ने वापसी करते हुए स्कोर 3-3 कर दिया था।

इसके बाद दोनों ही टीमों ने कोर्ट में इधर से उधर आए, और स्कोर अब 4-4 था। लेकिन तभी नादिया के एक बेहतरीन ड्रॉप शॉट ने सबकुछ बदल दिया था, और अब ये जोड़ी 5-4 से आगे हो गई थी।

अगले दो प्वाइंट्स में रोहन बोपन्ना ने अपनी सर्विस नहीं गंवाई, और यहां से इस जोड़ी को मिला मैच प्वाइंट जीत में बदल गया। रोहन-नादिया की जोड़ी ने बेहतरीन अंदाज़ में क्वार्टर फ़ाइनल में जगह बना ली।

रोहन बोपन्ना के इस शानदार सफ़र के साथ साथ भारतीय उम्मीदों को अब दिग्गज लिएंडर पेस का भी सहाररा है, जो रविवार को ही 2017 फ़्रेंच ओपन विजेता जेलेना ओस्तापेन्को के साथ कोर्ट में उतरेंगे और उनके सामने स्थानीय वाइल्ट कार्ड एंट्री वाली मिश्रित जोड़ी स्टॉर्म सैंडर्स और मार्क पोलमैन्स की चुनौती होगी।