SAI ने खेलो इंडिया एथलीटों को दी 5,785 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद

स्पोर्ट्स ऑथिरिटी ऑफ़ इंडिया की इस सहायता से कुल 2, 783 खेलो इंडिया एथलीटों को मदद मिली।

लेखक सैयद हुसैन ·

गुरुवार को स्पोर्ट्स ऑथिरिटी ऑफ़ इंडिया (SAI) ने खेलो इंडिया एथलीटों के विकास के लिए 5, 785 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद की।

ये रक़म खेलो इंडिया टैलेंट डेवलपमेंट (KITD) स्कीम के तहत दी गई है, जिससे 2,783 खेलो इंडिया एथलीटों तक मदद पहुंचेगी। ये एथलीट 24 अलग अलग खेलों से हैं, जो भारत के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से आते हैं।

इसके अंतर्गत आउट ऑफ़ पॉकेट अलाउंस (OPA) के तहत सभी खेलो इंडिया खिलाड़ियों के बैंक खाते में 1.20 लाख रुपये सालाना पहुंच गए। इसके अलावा उनकी ट्रेनिंग, खाने, रहने और खेलो इंडिया अकादमी में पढ़ाई के लिए भी अलग से आर्थिक मदद की गई है।

साथ ही साथ जिन खिलाड़ियों को अपने घर से दूर जाकर या दूसरे शहरों में जाकर ट्रेनिंग करनी होती है, उन्हें भी SAI की ओर से आर्थिक सहायता प्रदान की गई है।

इसके अलावा अलग से 45.40 लाख रुपये अक्टूबर और नवंबर महीने में खेलो इंडिया एथलीटों द्वारा किए गए ख़र्च के तौर पर 227 ग्रामीण एथलीटों को दिया गया है। ताकि खेलो इंडिया के तहत ऐसे खिलाड़ियों को बढ़ावा मिल सके।

खेलो इंडिया प्रोग्राम भारत सरकार की ओर से चलाया जाता है, जिसकी शुरुआत 2018 में हुई थी। इसका मक़सद है देशभर में खेल और खिलाड़ियों के स्तर को ज़मीनी तौर पर बेहतर और विकसित बनाया जाए।

इस पहल से खिलाड़ी और खेल का राष्ट्पव्यापी विकास हो रहा है और सरकार का लक्ष्य है देश को एक स्पोर्टिंग नेशन बनाना। इस स्कीम के ज़रिए राष्ट्र, आर्थिक, सामाजिक और व्यक्तिगत तौर पर सभी का विकास होना भी एक उद्देश्य है।