सीनियर राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप में साक्षी और विनेश बांधेंगी समां

भारत के और भी कई दिग्गज पहलवान इस प्रतियोगिता में मैट पर आ सकते हैं नज़र। 

लेखक सैयद हुसैन ·

2016 रियो ओलंपिक में कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक और एशियन गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने वाली विनेश फ़ोगाट शुक्रवार 29 नवंबर से पंजाब के जालंधर में शुरू हो रही सीनियर राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप में खेलती हुई नज़र आएंगीं। इस प्रतियोगिता में देशभर से 500 से ज़्यादा पहलवान ग्रेको रोमन और फ़्री स्टाइल कैटेगिरी में हिस्सा ले रहे हैं।

फ़ोगाट (55 किग्रा) और मलिक (62 किग्रा) के अलावा इस प्रतियोगिता में भारत की और भी कई दिग्गज महिला पहलवान हिस्सा ले रही हैं। जिनमें दिव्या काकरण (68 किग्रा), सीमा बिसला (50 किग्रा), नवजोत कौर (65 किग्रा) और सरिता मोरे (57 किग्रा) शामिल हैं। पुरुष पहलवानों में गौरव बलियान (74 किग्रा), सुमित मलिक (125 किग्रा), सत्यव्रत कादियान (97 किग्रा) और राहुल मान (70 किग्रा) पर सभी की निगाहें होंगी।

साक्षी के पास होगा शानदार मौक़ा

एक तरफ़ जहां विनेश फ़ोगाट के लिए पिछले कुछ साल बेहतरीन रहे हैं, जिसमें उन्होंने 2018 एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक हासिल किया, तो वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में भी उन्होंने कांस्य पदक जीता। लेकिन इसके ठीक उलट साक्षी के प्रदर्शन में लगातार गिरावट देखने को मिली है।

2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में कांस्य पदक जीतने के अलावा साक्षी के नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बेहद सीमित सफलता हाथ लगी है। इसी साल नूर-सुल्तान में हुए वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में तो साक्षी मलिक पहले ही दौर में हारकर बाहर हो गईं थीं। लिहाज़ा सीनियर राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप में बेहतर प्रदर्शन के साथ साथ फ़ॉर्म में वापसी की उम्मीद के साथ वह मैट पर उतरेंगी।

वहीं विनेश फोगाट की अगर बात करें तो साल 2016 में रियो ओलंपिक में क्वार्टरफाइनल मुकाबले में घुटने की चोट के बाद उन्होंने मैट पर शानदार वापसी की है। साल 2018 में कॉमनवेल्थ व एशियन गेम्स में गोल्ड और हाल ही में वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज़ मेडल जीतकर उन्होंने यह साबित कर दिया है कि मेडल जीतने की उनकी भूख कम नहीं होने वाली।

2016 रियो ओलंपिक की ब्रॉन्ज़ मेडल विजेता हैं साक्षी मलिक।

अमित दहिया की वापसी

साल 2015 के बाद पहली बार 24 वर्षीय अमित दहिया इस चैंपियनशिप से मैट पर वापसी करने वाले हैं। दहिया को 2015 में घुटने में भीषण चोट आ गई थी, जिसकी वजह से वह कई साल मैट से दूर रहे। 2012 लंदन ओलंपिक में हिस्सा लेने और 2014 में कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले अमित दहिया से काफ़ी उम्मीदें जग गईं थीं और उन्हें आने वाले समय का सितारा माना जाने लगा था।

‘’मैं एक बार फिर मैट पर उतरने के लिए बेक़रार हूं। एक बार फिर मैं जीतना चाहता हूं और इसकी शुरुआत जालंधर में सीनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप से करूंगा। अगर सबकुछ सही रहा तो फिर फ़रवरी में होने वाली एशियन चैंपियनशिप में भी मैं शिरकत करूंगा।‘’ दहिया ने ये बातें wrestlingtv.in के साथ बातचीत में कही।

कहां देख सकते हैं मुक़ाबले ?

टाटा मोटर्स सीनियर राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप 29 नवंबर से 1 दिसंबर के बीच पंजाब के जालंधर में आयोजित होगी। पहली बार सीनियर राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप का सीधा प्रसारण आप www.wrestlingtv.in पर ऑनलाइन देख सकते हैं।

सीनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप के ड्रॉ की घोषणा होना अभी बाक़ी है।