भारत के लिए टेनिस में गुरुवार का दिन मिला जुला रहा

सानिया मिर्ज़ा का होबार्ट इंटरनेश्नल में जीत का सफ़र जारी, लेकिन रोहन बोपन्ना और दिविज शरण को अपने अपने मुक़ाबलों में मिली हार

लेखक सैयद हुसैन ·

कोर्ट पर वापसी के बाद भारतीय दिग्गज टेनिस स्टार सानिया मिर्ज़ा का जीत का सफ़र जारी है, उन्होंने गुरुवार को यूक्रेन की जोड़ीदार नादिया किचेनोक के साथ होबार्ट इंटरनेश्नल के महिला युगल के सेमीफ़ाइनल में जगह बना ली है।

इस महिला जोड़ी को जीत के लिए सुपर टाई-ब्रेकर तक जाना पड़ा, जहां उन्होंने क्वार्टर फ़ाइनल में अमेरिकी जोड़ी क्रिस्टिना मैक्हेल और वानिया किंग को 6-2, 4-6, 10-4 से शिकस्त दी। सानिया मिर्ज़ा और नादिया की टक्कर सेमीफ़ाइनल में अब शुक्रवार को स्लोवाकिया की तमारा ज़िदानसेक और क्ज़ेच रिपबल्कि की मैरी बुज़कोवा के ख़िलाफ़ होगा।

ये लगातार दूसरा मुक़ाबला था जहां भारत और यूक्रेन की इस जोड़ी को जीत के लिए टाई-ब्रेकर तक जाना पड़ा। राउंड ऑफ़ 16 के भी मैच में उन्हें जापान की मियू काटो और जॉर्जिया की ओक्साना कालशनिकोवा से इसी तरह कठिन चुनौती मिली थी।

ऑकलैंड ओपन में बोपन्ना और दिविज का थम गया सफ़र

एक तरफ़ जहां सानिया मिर्ज़ा की बेहतरीन वापसी जारी है तो ओलंपिक में उनके मिश्रित युगल जोड़ीदार और टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना ऑकलैंड ओपन में क्वार्टर फ़ाइनल से आगे नहीं जा सके।

रोहन बोपन्ना और उनके फ़िनलैंड के जोड़ीदार हेनरी कोन्टिनेन को ग्रेट ब्रिटेन के ल्यूक बैंब्रिज और जापान के बेन मैक्लेहन ने सीधे सेटों में 6-3, 6-4 से मात दी। इस 250 एटीपी इवेंट के लिए भारत-फ़िनलैंड की इस जोड़ी को तीसरी वरीयता हासिल थी, लेकिन क्वार्टर फ़ाइनल में ग़ैर वरीय जोड़ी के हाथों उन्हें एकतरफ़ा हार नसीब हुई।

बैंब्रिज और मैक्लेहन का सेमीफ़ाइनल में अब सामना बेल्जियन की जोड़ी सैंडर गिल और जोरान विलिएगन से होगा, जिन्होंने एक संभावित भारतीय लड़ाई को ख़त्म कर दिया, क्योंकि क्वार्टर फ़ाइनल में उन्होंने भारत के दिविज शरण और न्यूज़ीलैंड के आर्टेम सिटक की जोड़ी को 5-7, 7-6, 11-9 से कांटे के मुक़ाबले में मात दे दी।

जिस जोड़ी ने अपने पिछले मुक़ाबले में सर्वोच्च वरीयता हासिल जोड़ी ऑस्ट्रेलिया के जॉन पीयर्स और न्यूज़ीलैंड के माइकल वीनस के सफ़र पर विराम लगाया था, उस करिश्मे को वह दोहरा नहीं सके।

दिविज-सिटाक ने पहला सेट तो जीत लिया था, दूसरा सेट भी बेहद कऱीबी रहा जो उन्होंने गंवा दिया था। जिसके बाद मैच का नतीजा सुपर टाई-ब्रेकर के ज़रिए होना था, जो एक बार फिर बेहद कांटे का हुआ।R