सानिया मिर्ज़ा मार्च में WTA के दौरान कर सकती हैं वापसी

भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्ज़ा की नज़र दोहा और दुबई WTA टूर्नामेंट के ज़रिए प्रतिस्पर्धा में वापसी करने पर।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

टोक्यो ओलंपिक गेम्स को जहन में रखते हुए भारतीय टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्ज़ा (Sania Mirza) मार्च के महीने से कोर्ट पर वापसी करने की फिराक में हैं।

इस महीने की शुरुआत में सानिया मिर्ज़ा को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था और वह दुबई में ट्रेनिंग कर खुद को बेहतर करने की कोशिश कर रही हैं।

सच्ची बात वेबसाइट से बात करते हुए सानिया ने कहा “मैं अभी भी कोविड के बाद रिकवरी कर रही हूं, और उम्मीद कर रही हूं कि मार्च के पहले हफ्ते में मैं मुकाबले खेल पाउंगी।”

सानिया मिर्ज़ा के प्लान में अगले महीने भारत आकर हैदराबाद में अपनी अकादमी में ट्रेनिंग करना भी है। उन्होंने अपने पिता इमरान मिर्ज़ा (Imran Mirza) के साथ भी ट्रेनिंग करने का फैसला किया है।

पिछले महीने सभी मिर्ज़ा को 8 फरवरी से शुरू होने वाले ऑस्ट्रेलियन ओपन की दावेदार मान रहे थे लेकिन वह कोई निर्णय ले पातीं उससे वह कोरोना वायरस की चपेट में आ गईं थीं।

“अगर मुझे लगेगा कि मैं तैयार हूं, मैं दोहा और दुबई डब्लूटीए टूर्नामेंट में हिस्सा लुंगी।”

दोहा में होने वाला क़तर ओपन 1 से 6 मार्च के बीच खेला जाएगा और 7 से 13 के बीच दुबई टेनिस चैंपियनशिप का आयोजन किया जाएगा।

सानिया मिर्ज़ा को आखिरी बार फेड कप (जिसे अब बिली जीन कप कहते हैं) के दौरान स्पर्धा करते हुए देखा गया था जिसमें वह भारत को पहली बार प्ले ऑफ में पहुंचने में सफल भी हुई थी।

लंबे अरसे के बाद मिर्ज़ा ने साल 2020 की शुरुआत में भी कोर्ट पर पसीना बहाया था। पहले चोट और बाद में गर्भावस्ता के करना भारतीय टेनिस खिलाड़ी को खेल से दूर रहना पड़ा था लेकिन होबार्ट इंटरनेशनल में वापसी करते हुए मिर्ज़ा ने यूक्रेनियन जोड़ीदार नादिया किचेनोक (Nadiia Kichenok) के साथ डबल्स का खिताब भी जीता था।

इसके बाद सानिया मिर्ज़ा ने ऑस्ट्रेलियन ओपन की ओर रुख किया था लेकिन चोट के कारण उन्हें डबल्स के ओपनिंग मुकाबले के दौरान ही पुल आउट करना पड़ा था। कोरोना वायरस की महामारी से पहले उन्होंने फेड कप में भी हिस्सा लिया था।