नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप: सौरभ चौधरी ने गोल्ड जीतकर किया 2020 का आगाज़

एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता ने फाइनल में 246.4 का स्कोर हासिल कर सरबजोत सिंह को पीछे छोड़ा। 

लेखक ओलंपिक चैनल ·

पूर्व यूथ ओलंपिक चैंपियन और वर्तमान विश्व नंबर एक निशानेबाज़ सौरभ चौधरी ने शनिवार को भोपाल में चल रही 63वीं नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन किया। 583 के स्कोर के साथ पहले स्थान पर क्वालिफिकेशन राउंड खत्म करने के बाद इस 17 वर्षीय शूटर ने फाइनल राउंड में भी अपना दबदबा बनाए रखा।

वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने से चूके सौरभ

प्रतियोगिता की शुरुआत 728 निशानेबाज़ों के साथ शुरू हुई। चौधरी के लिए यह काफी मुश्किल नज़र आ रहा था, लेकिन बीते साल विश्व कप में दो बार के व्यक्तिगत स्वर्ण पदक विजेता ने इस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया।

फाइनल में 246.4 के स्कोर की शूटिंग करते हुए चौधरी ने हमवतन और मिश्रित टीम के साथी सरबजोत सिंह को व्यक्तिगत स्पर्धा में 2.5 अंकों से शिकस्त देने में सफलता हासिल की। इस प्रक्रिया में चौधरी बहुत ही मामूली अंतर (सिर्फ 0.1 अंक पीछे) से किम सॉन्ग गुक के 10 मीटर एयर पिस्टल श्रेणी के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी करने से चूक गए। गुक ने पिछले नवंबर में कतर के दोहा में हुई एशियाई चैंपियनशिप में यह रिकॉर्ड बनाया था।

सरबजोत सिंह 580 अंकों के साथ क्वालिफिकेशन राउंड को पूरा करने के बाद फाइनल में 243.9 के स्कोर के साथ दूसरे स्थान पर रहे, जबकि अभिषेक वर्मा क्वालिफिकेशन राउंड में 581 स्कोर के साथ सरबजोत से ऊपर रहने के बावजूद फाइनल में 221.1 के स्कोर के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

टीम इवेंट्स में हरियाणा रहा सबसे ऊपर

हरियाणा ने शानदार अंदाज़ में सभी टीम को जीत दिलाई। 10 मीटर एयर पिस्टल टीम स्पर्धा में यह राज्य 1734 के स्कोर के साथ मार्कस्मैनशिप यूनिट (1733) और उत्तर प्रदेश (1730) से ऊपर रहा। जबकि जूनियर टीम इवेंट में यह राज्य 1727 के स्कोर के साथ उत्तर प्रदेश (1716) और आर्मी मार्कस्मैन यूनिट (1727) से आगे रहा।

अन्य सभी परिणाम

10 मीटर एयर पिस्टल में दूसरा स्थान हासिल करने के बाद, सरबजोत ने गोल्ड की कमी को जूनियर में पूरा किया। उन्होंनें क्वालिफिकेशन में 580 और फाइनल में 243.3 का स्कोर बनाते हुए स्वर्ण पदक पर कब्ज़ा किया। वह बॉबी कौशिक के फाइनल स्कोर 242.2 से 1.1 अंक आगे रहे, जबकि क्वालिफिकेशन राउंड में बॉबी ने सरबजोत से दो अंक अधिक हासिल किए थे। क्वालिफिकेशन टॉपर शिव नरवाल (583) फाइनल में 222.3 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

निशानेबाज़ 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट के लिए तैयार

प्रतियोगिता का एक बड़ा आकर्षण युवा वर्ग में मौजूद था। शरवण कुमार ने क्वालिफिकेशन में 575 और फाइनल में 242.7 के स्कोर से स्वर्ण पदक जीता। वह शिव नरवाल की तुलना में महज़ आधा अंक अधिक स्कोर कर सके, जो कि एक उपलब्धि के तौर पर देखा जा सकता है।

हालांकि, 13 वर्षीय शिव नरवाल ने 583 के स्कोर के साथ उप-युवा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता। वह लकी (575) और मुकेश नेलवल्ली (571) से आगे रहे।