25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल टी-1 शूटिंग ट्रायल में शीर्ष तीन स्थानों पर आर्मी वालों का कब्जा 

आर्मी मैन गुरप्रीत सिंह ने पहला, नीरज कुमार ने दूसरा और वायुसेना के शिवम शुक्ला ने तीसरा स्थान हासिल किया 

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

आर्मी मैन गुरप्रीत सिंह (Gurpreet Singh) ने रविवार को डॉ कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल टी 1 नेशनल शूटिंग ट्रायल में शीर्ष स्थान हासिल किया है।

इसमें शीर्ष तीन स्थानों पर सर्विसेज का कब्जा रहा है। गुरप्रीत के साथी आर्मी मैन नीरज कुमार (Neeraj Kumar) और वायुसेना के शिवम शुक्ला (Shivam Shukla) क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे हैं।

क्वालीफायर में 580 स्कोर करने के बाद गुरप्रीत ने फाइनल में 21 का स्कोर बनाकर पहला स्थान हासिल किया। जबकि कुमार और शुक्ला ने क्रमशः 20 और 17 अंक हासिल किये।

दुनिया में 73वें नंबर के निशानेबाज गुरप्रीत ने 2016 में रियो ओलंपिक में हिस्सा लिया था। 2018 में उन्होंने चांगवोन की विश्व चैंपियनशिप में 579 के स्कोर के साथ रजत पदक हासिल किया, जबकि 2013 में तेहरान की एशियाई चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीता।

उन्होंने दोहा 2019 की एशियन चैम्पियनशिप में 25 मीटर सेंटर फायर पिस्टल सेगमेंट में एक और रजत पदक अपने नाम किया।

इसके अलावा, 33-वर्षीय गुरप्रीत ने पिछले दिनों में प्रमुख आयोजनों में भारत के लिए जीत हासिल की। उन्होंने 2010 राष्ट्रमंडल खेलों में 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल (जोड़े) और 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा (जोड़े) में स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने 7 अक्टूबर, 2010 को विजय कुमार के साथ शीर्ष स्थान हासिल किया।

उसी दिन उन्होंने और ओमकार सिंह ने पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल (जोड़े) में एक और स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने इस इवेंट में पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल में व्यक्तिगत कांस्य पदक भी जीता।

गुरमीत, म्यूनिख में ISSF विश्व कप राइफल / पिस्टल स्पर्धा में 10 मीटर एयर पिस्टल श्रेणी में 154.8 अंक के साथ चौथे स्थान पर कब्जा जमाते हुए रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले अंतिम भारतीय निशानेबाज थे।

महिला वर्ग में निवेदिता नायर ने 540 के स्कोर के साथ क्वालिफिकेशन राउंड में शीर्ष स्थान हासिल किया। अभिज्ञान पाटिल 539 अंक के साथ दूसरे स्थान पर रहे। जबकि, अन्नू राज सिंह ने 533 के स्कोर के साथ तीसरे स्थान पर कब्जा जमाया।